जयपुर सरकारी गाइडलाइंस की उड़ी धज्जियां? परीक्षा केन्द्र पर बिना थर्मल स्क्रीनिंग के ही स्टूडेंट्स को दी गई एंट्री

सरकारी गाइडलाइंस की उड़ी धज्जियां? परीक्षा केन्द्र पर बिना थर्मल स्क्रीनिंग के ही स्टूडेंट्स को दी गई एंट्री

जयपुर: आज से शुरू हुई 12वीं बोर्ड की शेष रही परीक्षाओं में बच्चों की जान से खिलवाड़ किया गया. गुरुवार सुबह परीक्षा केंद्र के अंदर बिना थर्मल स्क्रिनिंग के बच्चों प्रवेश दिया गया.12 वीं बोर्ड की पीरक्षाएं आज से फिर से शुरू हुई.परीक्षा को लेकर विभाग और सरकार की ओर से ये गाइड लाइन जारी की गई थी कि परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने से पहले बच्चों की स्क्रिनिंग की जाऐ जिससे ये पता चले सके की अगर किसी बच्चें को बुखार है तो उसे वापिस भेजा जाए, लेकिन सरकार और विभाग की गाइडलाइन की आज जमकर धज्जियां उडाई गई यहीं नहीं बच्चों की जान के साथ खिलवाड किया गया.

सशर्त परीक्षाएं संपन्न कराने के आदेश हुए थे जारी:
12वीं बोर्ड की शेष रहीं परीक्षाओं को लेकर सरकार ने सशर्त परीक्षाएं संपन्न कराने के आदेश जारी किए गए थे.जिसमें सभी को अनिवार्य रूप से मास्क लगाकर परीक्षा केंद्र पर पहुंचना होगा.स्कूल मे सेनेटाइजर,साबुन की व्यवस्था करवाई जाएगी.जिसके लिए विभाग की ओर से बजट जारी किया गया था.सेनेटाइजर और साबुन के लिए विभाग की ओर से प्रत्येक स्कूल को 500 रूपए उपलब्ध करवाए गए है. लेकिन थर्मल स्क्रिनिंग के लिए स्कूल कि ओर से चिकित्सा विभाग को पत्र भेजना था जिस पर चिकित्सा विभाग की टीम स्कूल में पहुचकर बच्चों की थर्मल स्क्रिनिंग करती.लेकिन चिकित्सा विभाग की ओर से किसी प्रकार का उत्त्र स्कूल प्रशासन को नहीं दिया गया.

जगन्नाथ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, 23 जून को निकलनी थी ओडिशा के पुरी में रथ यात्रा

नहीं हुई थर्मल स्क्रिनिंग:
थर्मल स्क्रिनिंग नहीं होने से बच्चों में साफ तौर पर डर देखा गया.हालांकि बच्चें अपने चेहरों पर मास्क और परीक्षा केंद्र पर पहुंचने के बाद अपने आप को सेनेटाइज करते हुए नजर आए.स्कूल प्रसासन की ओर से सभी स्टूडे्टस को 6 फीट की दूरी पर बिठाया गया.हालांकि आज के दिन बच्चों की संख्या कुछ ज्यादा नहीं थे जिससे की किसी भी प्रकार की समस्या नहीं आई.लेकिन आने वाली 22 और 29 तारीख को स्टूडेट्स की संख्या अधिक रहने से स्कूल प्रशासन  की चिंताए बढ सकती है.एक और जहां सरकार कोरोना को लेकर जागरूकता अभियान चला रही है, वहीं विभिन्न जगहों पर लोगों की थर्मल स्क्रिनिंग कर प्रवेश दिया जा रहा है, लेकिन बोर्ड की परीक्षाओं में बिना थर्मल स्क्रिनिंग के प्रवेश देने से कहीं ऐसा ना हो कि कोई विकट ​परिस्थिति का  सामना करना पड जाए. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए भारत दीक्षित की रिपोर्ट

लग्जरी गाड़ी से एक क्विंटल 72 किलो गांजा पकड़ा, राजस्थान-यूपी बॉर्डर पर नाकाबंदी के दौरान की कार्रवाई 

और पढ़ें