सरकारी स्कूल का हाल बेहाल, आधा सत्र बीत जाने के बाद भी बच्चों के पास किताबें नहीं

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/21 10:52

सादुलशहर(श्रीगंगानगर)। एक तरफ तो सरकार सरकारी स्कूलों में नामांकन बढ़ाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है । शिक्षक घर-घर पहुंचकर अभिभावकों को प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों के नामांकन हेतु प्रेरित करते हैं और जनप्रतिनिधियों एवं अभिभावकों से सहयोग की अपील कर अभियान को सफल बनाने का प्रयास किया जाता है दूसरी तरफ अभिभावक जहां अपने बच्चों को गुणवत्तापरक शिक्षा पर जोर दे रहे हैं , वहीं प्राथमिक शिक्षा व्यवस्था में शिक्षकों की कमी और बुनियादी सुविधाओं का भट्ठा बैठा हुआ है ऐसी दशा में नामांकन अभियान को झटका लगना तय है। 

हम बात कर रहे हैं सादुलशहर के वार्ड नंबर बीस के एक प्राथमिक स्कूल की जहाँ एक से पांच तक की कक्षाएं संचालित की जाती है और इस स्कूल में 54 बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं, लेकिन सुविधाओं के नाम पर इस स्कूल में हाल बेहाल है । पांच कक्षाओं को दो अध्यापक पढ़ा रहे हैं....परीक्षाएं सर पर हैं और मजे की बात है की कक्षा चार और पांच के बच्चों के पास किताबे ही नहीं हैं । कारण ये कि स्कूल के पहले वाले प्रभारी ने किताबों की डिमांड ही नहीं की । अब नयी आयी हेडमास्टर ने डिमांड की है लेकिन अब किताबे कब आएगी ये कहना मुश्किल है । 

स्कूल में पोषाहार बनाने के लिए रसोईघर का हाल भी बेहाल है । फर्श जगह जगह से टूटा हुआ है । छत भी लीकेज है जिससे बारिश के दिनों में पानी टपकता है और फर्श में से बड़े बड़े कीड़े निकलते हैं ऐसे में स्कूल की हेडमास्टर ने स्कूल के ही एक कमरे में पोषाहार बनने की वैकल्पिक व्यवस्था की है । स्कूल की हेडमास्टर के अनुसार रसोईघर को ठीक करवाने के लिए प्रस्ताव भेजा हुआ है लेकिन ठीक होगा कब ये कहना जरा मुश्किल है । शिक्षा विभाग के आरपी प्रमोद ढाका ने कहा की जेईएन को रिपोर्ट बनाने के लिए कहा दिया था और प्रस्ताव पारित होने पर इस और कार्य किया जायेगा ।

अगर स्कूल की सफाई व्यवस्था की बात करें तो यह और भी बुरी हालत में है जगह जगह कचरा फैला हुआ है और शौचालय को बच्चे कम और बाहर के लोग जयादा इस्तेमाल करते हैं और बाहर के लोगो के इस्तेमाल के बाद बच्चो का शौचालय जाना मुमकिन नहीं होता । बकौल हेडमास्टर उन्होंने कई बार ताले भी लगाए लेकिन बाहर के लोग ताले तोड़ देते हैं और झगड़ा करने पर उतर जाते हैं  । 
दिनेश अग्रवाल
सादुलशहर (श्रीगंगानगर)

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in