ईद के मुबारक मौके पर सीमा प्रहरियों और पाकिस्तान रेंजरों के बीच हुआ मिठाईयों का आदान-प्रदान

Suryaveer Singh Tanwar Published Date 2019/06/05 08:17

जैसलमेर: पुलवामा हमले के बाद भारत व पाकिस्तान के बीच रिश्तों पर जमी बर्फ आज ईद के मौके पर पिघलती नजर आई. दोनों देशों के बीच पुलवामा हमले के बाद सभी प्रकार के सवांद व बातचीत बंद थी. दोनों देशों के सीमा रक्षकों के बीच तलखीपूर्ण संबंध थे. लेकिन आज ईद के मौके पर भारत व पाकिस्तान के सीमा रक्षकों के बीच आपसी भाईचारा व सोहार्द बढ़ाने के लिए विभिन्न मौको पर मिठाईयों के आदान प्रदान की पुरानी परंपरा को पुनः शुरूआत करते हुए सीमा सुरक्षा बल ने पाकिस्तानी रेन्जर्स को ईद के अवसर पर मिठाईयां दी. पाकिस्तान रेन्जर्स ने बी.एस.एफ को अपने त्योहार के अवसर पर मिठाईयां भेंट की. पश्चिमी सीमा पर दर्जनों सीमा चौकियों पर मिठाईयां का आदान प्रदान हुआ. 

करीब 100 से ज्यादा सीमा चौकियों पर हुआ मिठाईयों का आदान प्रदान 
आखिर लंबे समय बाद ईद के अवसर पर भारत पाक सीमा पर मिठाईयों का आदान प्रदान हुआ. बाड़मेर सेक्टर के मुनाबाव सीमा के बी.एस.एफ के महानिदेशक की तरफ से पाकिस्तान के सिन्ध रेन्जर्स व पंजाब रेन्जर्स के डारयरेक्टर जनरल को मिठाईयां भेट की गई. इसी तरह राजस्थान सहित अन्य पश्चिमी सीमा से लगती पाकिस्तान की अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर करीब 100 से ज्यादा सीमा चौकियों पर बी.एस.एफ के डी.आई.जी, कमाण्डेंट व कंपनी कमांडर की तरफ से उस क्षेत्र की प्रसिद्ध मिठाईयां पाक रेंजर्स के डी.डी.जी, विंग कमांडर व कंपनी कमांडर को भेंट की गई. 

तनाव को कम करने की दिशा में आज ईद पर पहल 
BSF के उच्च आधिकारिक सूत्रों के अनुसार पुलवामा हमले के बाद सरहद के दोनों तरफ उपजे तनाव को कम करने की दिशा में आज ईद पर पहल करते हुए बीएसएफ एवं पाक रेंजर्स के मध्य मिठाई का आदान प्रदान किया गया. बाड़मेर से सटी सीमा पर  गडरा सहित समूची पश्चिमी सीमा व  एवं अन्य सीमा चौकियों पर पाक रेंजर्स की ओर से मिठाई देने के साथ ईद की मुबारकबाद दी गई. वहीं बीएसएफ के जवानों ने भी उनको मिठाई देते हुए उनको ईद की मुबारकबाद दी. इससे पहले पाक रेंजर्स एवं बीएसएफ की फ्लैग मिटिंग भी हुई. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in