VIDEO: भरतपुर शराब दुखान्तिका के बाद एक्शन में आबकारी विभाग, प्रदेशभर में की जा चुकी हैं 1846 कार्रवाई

जयपुर: भरतपुर में हुई शराब दुखान्तिका के बाद आबकारी विभाग ने प्रदेश भर में अवैध और हथकड़ शराब के खिलाफ विशेष अभियान चलाया है.भरतपुर में हुई घटना के बाद इस अभियान को लेकर आबकारी विभाग बेहद सख्त दिख रहा है और इसी का असर है कि महज 2 दिनों में ही पूरे प्रदेश में अवैध शराब के खिलाफ ताबड़तोड़ रिकॉर्ड कार्रवाई हुई है. भरतपुर के रूपबास में जहरीली शराब से हुई 8 लोगों की मौत के बाद आबकारी विभाग पर कई सवाल खड़े हुए थे. शिकायतों के बाद भी अवैध और हथकड़ शराब पर कार्यवाही नहीं होने को इस घटना का मुख्य कारण बताया गया था, लेकिन भरतपुर शराब दुखान्तिका के बाद आबकारी विभाग ने अब ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए पूरी तैयारी कर ली है. घटना के तुरंत बाद मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने पूरे प्रदेश में आबकारी विभाग को अवैध शराब के खिलाफ विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए थे. पिछले 2 दिनों में ही विभाग ने पूरे प्रदेश में अवैध शराब के ख़िलाफ़ बड़े स्तर पर कार्रवाई की हैं.

एक्शन में आबकारी विभाग: 

-प्रदेशभर में सख्ती से चल रहा है अवैध शराब के खिलाफ अभियान

-वित्त सचिव राजस्व टी रविकांत कर रहे हैं अभियान की निगरानी

-आबकारी आयुक्त जोगाराम हर शाम जिलेवार कर रहे हैं अभियान की समीक्षा

-पुलिस के सहयोग से रोज हो रही हैं बड़ी कार्रवाई

-जिला आबकारी अधिकारी कर रहे हैं कार्रवाई करने वाले दलों का नेतृत्व

बीते 2 दिनों में प्रदेशभर में की जा चुकी हैं 1846 कार्रवाई: 

अवैध शराब के खिलाफ अभियान को लेकर मुख्य सचिव ने निर्देश दिए थे कि ईस बार के अभियान में जिला प्रशासन,पुलिस और आबकारी विभाग संयुक्त रूप से कार्रवाई करेंगे. इसका ही असर है कि सभी जिलों में कलक्टर के निर्देशों के बाद पुलिस और आबकारी की टीमें सँयुक्त रूप से कार्रवाई कर रही हैं.सिर्फ 16 और 17 जनवरी तक ही प्रदेश भर में 1846 कार्रवाई की जा चुकी हैं.अवैध शराब के ख़िलाफ़ चल रहे विशेष अभियान की इस बार वित्त सचिव टी रविकांत भी निगरानी कर रहे हैं.वहीं आबकारी आयुक्त जोगाराम भी हर रोज शाम को प्रदेशभर में होने वाली कार्रवाइयों की मॉनिटरिंग कर रह रहे हैं. विभाग की कोशिश है कि आने वाले दिनों में इस अभियान के जरिये अवैध शराब के ख़िलाफ़ जीरो टॉलरेंस की पॉलिसी से कार्रवाई की जाए.

मुखबिरों के जरिये भी अवैध शराब के ठिकानों पर की जाए कार्रवाई:

आबकारी विभाग की ओर से चल रहे अभियान में इस बार जिला आबकारी अधिकारियों को भी कार्रवाई दल का नेतृत्व करने के निर्देश दिए गए हैं.अधिकतर जगहों पर जिला आबकारी अधिकारी ही कार्रवाई करने वाले दलों का नेतृत्व कर रहे हैं.इसके साथ ही जन जगहों की शिकायतें अधिक रहती हैं वहां भी प्राथमिकता से कार्रवाई की जा रही है. विभाग की कोशिश है कि मुखबिरों के जरिये भी अवैध शराब के ठिकानों पर अधिक से अधिक कार्रवाई की जाए.

बीते 2 दिनों में हुई कार्रवाई:

-अजमेर जोन में कुल 146 जगह कार्रवाई हुई हैं

-भरतपुर जोन में कुल 136 जगह कार्रवाई हुई हैं

-बीकानेर जोन में कुल 265 जगह कार्रवाई हुई हैं

-जयपुर जोन में कुल 516 जगह पर कार्रवाई हुई हैं

-जोधपुर जोन में कुल 282 जगह पर कार्रवाई हुई हैं

-कोटा जोन में कुल 113 कार्रवाई हुईं हैं

-उदयपुर जोन में कुल 388 कार्रवाई हुईं हैं

-सिर्फ 2 दिनों में ही आबकारी विभाग ने 718 मुकदमे दर्ज किए हैं

-इन 2 दिनों में ही विभाग ने 346 लोगों को गिरफ्तार किया है

भरतपुर शराब दुखान्तिका के बाद जिस तरह से विभाग ने अवैध शराब माफिया पर शिकंजा कसा है उससे उम्मीद है कि आने वाले दिनों में प्रदेश में अवैध शराब के कारोबार  की कमर टूटेगी. लेकिन अभी भी इस अभियान के तहत प्रदेश में कई और बड़ी कार्रवाई होने की गुंजाइश है.
 
...फर्स्ट इंडिया के लिए शिवेंद्र सिंह परमार की रिपोर्ट 

और पढ़ें