पेरिस विदेश मंत्री जयशंकर ने पेरिस में बांग्लादेश समेत कई देशों के समकक्षों से के समकक्षों से की मुलाकात

विदेश मंत्री जयशंकर ने पेरिस में बांग्लादेश समेत कई देशों के समकक्षों से के समकक्षों से की मुलाकात

विदेश मंत्री जयशंकर ने पेरिस में बांग्लादेश समेत कई देशों  के समकक्षों से के समकक्षों से की मुलाकात

पेरिस: विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने पेरिस में बांग्लादेश, दक्षिण कोरिया, चेक गणराज्य और यूरोपीय संघ के अपने समकक्षों से मुलाकात की तथा परस्पर हितों और द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ करने के तरीकों पर चर्चा की. जयशंकर जर्मनी से रविवार को तीन दिवसीय यात्रा पर फ्रांस पहुंचे हैं.

उन्होंने ‘ईयू हिंद प्रशांत मंच’ में भाग लेने आए हिंद-प्रशांत क्षेत्र के अन्य देशों के अपने समकक्षों के साथ सिलसिलेवार बैठकें की. जयशंकर ने बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ ए. के. अब्दुल मोमेन से मुलाकात करने के बाद ट्वीट किया कि बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ ए. के. अब्दुल मोमेन से मुलाकात अच्छी रही. अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस पर यह बैठक हुई. दोनों देशों के बीच संबंधों के लिए वर्ष 2021 अच्छा रहा, 2022 में इसे नई ऊंचाई पर ले जाने के लिए प्रतिबद्धता जताई.

दोनों देशों के बीच यात्रा सुगम करना हमारी साझा प्राथमिकता है:

सोमवार को जयशंकर ने दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री चुंग एई-योंग से मुलाकात की. इस बाबत उन्होंने ट्वीट किया कि कोरिया गणतंत्र के विदेश मंत्री चुंग एई-योंग से भेंट की. द्विपक्षीय सहयोग मजबूत करने पर सहमति जाहिर की. दोनों देशों के बीच यात्रा सुगम करना हमारी साझा प्राथमिकता है. साझा चिंताओं के क्षेत्रीय विषयों पर भी चर्चा की. भारत के विदेश मंत्री ने चेक गणराज्य के अपने समकक्ष से मुलाकात करने के बाद तस्वीर साझा की और लिखा कि चेक गणराज्य के विदेश मंत्री जेन लीपावस्की से अच्छी मुलाकात हुई. 

नई एवं उभरती सुरक्षा चुनौतियों पर सहयोग करने की अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि की:

उनके साथ ईयू से संबंधित मुद्दों पर चर्चा हुई. संबंधों को विस्तार देने के प्रति उनकी प्रतिबद्धता की सराहना करता हूं. जयशंकर ने अंतरराष्ट्रीय संबंधों पर यूरोपीय संघ (ईयू) के आयुक्त जुत्ता अर्पिलाइनेन और फ्रांस के रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली से भी मुलाकात की. इससे पहले, उन्होंने कल फ्रांस के रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली से मुलाकात की थी. दोनों नेताओं ने नई एवं उभरती सुरक्षा चुनौतियों पर सहयोग करने की अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि की. सोर्स-भाषा

और पढ़ें