Live News »

सेहत के साथ अब नहीं होगा खिलवाड़ ! FSSAI की नई गाइडलाइंस का होगा असर

जयपुर: राजधानी जयपुर समेत देशभर में मिठाई के व्यापारी अब सेहत के साथ खिलवाड़ा नहीं कर पाएंगे. मिठाई के सभी दुकानदारों को अब शो-केस में रखी मिठाई की ट्रे पर मैन्युफेक्चरिंग और "बेस्ट बिफोर" लिखना होगा. यानी मिठाई कब बनाई गई और कब तक इसे खाया जा सकता है, यह डिस्प्ले पर लिखना होगा. जी हां, ये सबकुछ संभव होगा फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी की ओर से जारी एक आदेश से....आइए आपको बताते है क्या है आदेश और आमजन की सेहत पर इसका क्या आएगा असर.

दुकानों के शो केस पर होगी "मिठाई" की पूरी कहानी
दरअसल, अभी तक किसी भी खाद्य सामग्री पर मैन्युफेक्चरिंग और "बेस्ट बिफोर" लिखना तभी अनिवार्य होता था,जब वो पैकिंग करके बेची जाए. हालांकि, पैकेज कमोडिटी एक्ट के इस प्रावधान की भी अधिकांश जगहों पर धज्जिया उड़ती देखी जा सकती है. लेकिन खुले में बिकने वाला मावा, मिठाइयों और अन्य खाद्य पदार्थों पर तो किसी भी तरह के नियम लागू ही नहीं थे. नतीजन, जांच के अभाव में दुकानदार दो-दो माह पुरानी मिठाईयां ग्राहकों को ताजा बताकर बेच देते है. इस तरह की कई शिकायतों के बाद अब फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया(FSSAI) ने नई गाइडलाइन जारी की है. इसके तहत मिठाई कारोबारियों को अब शो-केस में मिठाई का नाम, दाम, कब बनाई गई और इसे कब तक इस्तेमाल किया जा सकता है. ये सारी जानकारी शो-केस में रखी मिठाई की ट्रे पर डिस्प्ले करना होगा.

दिल्ली हिंसा: जज मुरलीधर का तबादला, पंजाब और हरियाणा HC भेजे गए

-1 जून 2020 से बदली-बदली दिखेगी मिठाई की दुकान
-FSSAI के ताजा फरमान का असर
-दुकानों के शो केस पर होगी "मिठाई" की पूरी कहानी
-मिठाई का नाम, दाम, कब बनाई गई और इसे कब तक इस्तेमाल किया जा सकता है
-ये सारी जानकारी शो-केस में रखी मिठाई की ट्रे पर डिस्प्ले करना होगा अनिवार्य
-FSSAI ने नई व्यवस्था के लिए व्यापारियों को दिया तीन माह का समय
-एक जून के बाद देशभर में लागू होगी यह व्यवस्था

समय-समय पर दुकानों का होगा औचक निरीक्षण: 
FSSAI के ताजा फरमान के बाद राजस्थान के चिकित्सा महकमे ने भी तैयारियां शुरू कर दी है. खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की माने तो पहले व्यापरियों को गाइडलाइन की जानकारी दी जाएगी. साथ ही उनकी काउंसलिंग होगी.इसके बाद समय-समय पर दुकानों का औचक निरीक्षण किया जाएगा और मिठाइयों का सैम्पल लेकर जांच की जाएगी. यदि मिठाइयों में मिलावट निकली और गाइडलाइन के अनुसार मिठाई की जानकारी नहीं लिखी गई, तो दुकानों को सीज भी किया जा सकता है. उम्मीद ये है कि इस भावना के साथ यह नई व्यवस्था की गई है, उसी हिसाब से फील्ड में इसका क्रियान्वयन भी होगा.ताकि लोगों को शुद्ध मिठाईयां उपलब्घ हो सके.

और पढ़ें

Most Related Stories

भीलवाड़ा मॉडल पर जीत पाएंगे कोरोना की जंग, एसीएस मेडिकल रोहित कुमार सिंह बनाए हुए पैनी नजर

जयपुर: प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव के बढ़ते आंकडे ने एक तरफ जहां पूरी सरकार की चिंता बढ़ा दी है,वहीं दूसरी ओर इस महामारी की रोकथाम का मोर्चा संभालने वाले एसीएस मेडिकल रोहित कुमार सिंह ने दावा किया है कि भीलवाड़ा मॉडल की तर्ज पर पूरी स्थित को नियंत्रण में कर लिया जाएगा. हालांकि, राजस्थान में एकाएक बढ़ते मामलों को लेकर एसीएस सिंह ने चिंता भी जाहिर की. सिंह ने कहां कि फिलहाल रामगंज और तब्लीगी जमात के पॉजिटिव केस हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती है.

राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, राज्यपाल कलराज मिश्र ने प्रदेश में कोरोना हालात की जानकारी दी

सभी जिला कलक्टरों को किया पाबंध:
लेकिन इस हालात को सामान्य करने के लिए हमने जिस तरह से भीलवाड़ा में कंटेनमेंट जोन की सख्ती से पालना की, उसी तरह से रामगंज को भी संक्रमण मुक्त करने की दिशा में काम शुरू कर दिया है. तब्लीगी जमात के पॉजिटिव केस को लेकर सभी जिला कलक्टरों को पाबंध किया है. अब तक 700 से अधिक लोग को सरकार निगरानी में ले चुकी है. राजस्थान के कोरोना हालात को लेकर एसीएस मेडिकल रोहित कुमार सिंह ने खास बातचीत की हमारे संवाददाता विकास शर्मा ने...

CORONA: डिप्टी सीएम सचिन पायलट की VC, कांग्रेस के कंट्रोल प्रभारियों से लिया फीडबैक 

- रामगंज और तब्दीगी जमात के पॉजिटिव केस सबसे बड़ी चुनौती
- फर्स्ट इंडिया से खास बातचीत में बोले एसीएस रोहित कुमार सिंह
- जिस तरह से एकाएक केस बढ़े है, उसको देखते हुए फील्ड में सख्ती बढ़ाना जरूरी
- भीलवाड़ा मॉडल में जिस तरह हमने बनाए कंटेनमेंट जोन और फिर सख्ती से कराई उसकी पालना
- वैसे ही सभी जगहों पर सख्ती जरूरी, तभी कोरोना पर जीत संभव
- रामगंज के पूरे इलाके को भीलवाड़ा की तर्ज पर जोनवार बांटा जा चुकी है, टीमें युद्ध स्तर पर लगी हुई है
- उदयपुर के केस को लेकर एसीएस ने जताई चिंता, कहां, वहां स्वाइन फ्लू वार्ड में तैनात नर्स को हुआ कोरोना
- ऐतियातन नर्स के सम्पर्क में आने वाले लोगों की लाइन लिस्ट तैयार हो चुकी है, क्लोज कांटेक्ट के सैंम्पल लिए गए है
- एसीएस ने फर्स्ट इंडिया के माध्यम से लोगों से भी अपील की कि वे सरकार के आदेशों की पालना करें
- ऐसी नौबत नहीं आने दे कि प्रशासन को सख्ती करनी जरूरी हो जाए

राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, राज्यपाल कलराज मिश्र ने प्रदेश में कोरोना हालात की जानकारी दी

राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, राज्यपाल कलराज मिश्र ने प्रदेश में कोरोना हालात की जानकारी दी

जयपुर: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को दूसरी बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए विभिन्न राज्यों के राज्यपालों और उपराज्यपालों से कोरोना के हालातों को लेकर चर्चा की. राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने प्रदेश में कोरोनावायरस की स्थिति और राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे बचाव के उपायों को लेकर जानकारी दी. वीडियो कॉन्फ्रेंस में राज्यपाल ने बताया कि राज्य में ग्राम पंचायत स्तर पर कम्युनिटी किचन के माध्यम से जरूरतमंदों को भोजन की व्यवस्था की जा रही है.

CORONA: डिप्टी सीएम सचिन पायलट की VC, कांग्रेस के कंट्रोल प्रभारियों से लिया फीडबैक 

किसानों को फसल कटाई की अनुमति दी गई:
राज्य में रेड क्रॉस सोसाइटी द्वारा समन्वय करते हुए जरूरतमंदों को भोजन, मास्क, सैनिटाइजर का वितरण किया जा रहा है. राज्यपाल ने 40 लाख रुपए की राशि रेड क्रॉस सोसाइटी के फंड से जारी की है. वीसी में राज्यपाल ने बताया कि राज्य के विभिन्न जिलों में प्रवासी श्रमिकों के लिए 256 रिलीफ कैंप लगाए गए हैं, जिनमें 22 हजार से अधिक श्रमिकों के रहने और भोजन की व्यवस्था की गई है. राज्य में किसानों को खड़ी फसल की कटाई के लिए हार्वेस्टर के माध्यम से कटाई करने की अनुमति दी गई है.

लॉकडाउन के बावजूद भी बजरी माफियाओं के हौसले बुलंद, अवैध पत्थरों की निकासी पर वन विभाग ने जब्त किया ट्रैक्टर ट्रॉली

राज्यपाल ने आध्यात्मिक गुरुओं से की बातचीत :
राज्यपाल ने शुक्रवार को जयपुर शहर के चीफ काजी खालिद उस्मानी और बिशप ओसवाल जोसेफ से बातचीत की. राज्यपाल ने कहा कि धर्मगुरू लोगों को सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए कहें. स्वास्थ्यकर्मियों व पुलिस का पूरा सहयोग करने के लिए भी अपील करें. राजपाल कलराज मिश्र ने प्रदेशवासियों से 5 अप्रैल को पीएम मोदी की अपील का समर्थन करने को कहा है. उन्होंने कहा कि रात 9 बजे सभी लोग घर की लाइट बंद कर दरवाजे या बालकनी पर आएं और मोमबत्ती, दीपक, मोबाइल की लाइट या टॉर्च जलाएं, जिससे सामूहिक शक्ति का संचार हो सके.

CORONA: डिप्टी सीएम सचिन पायलट की VC, कांग्रेस के कंट्रोल प्रभारियों से लिया फीडबैक 

CORONA: डिप्टी सीएम सचिन पायलट की VC, कांग्रेस के कंट्रोल प्रभारियों से लिया फीडबैक 

जयपुर: उप मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंस के जरिये कोविड-19 को लेकर कांग्रेस के प्रदेश और संभाग प्रभारियों से बातचीत की. प्रदेश-संभाग स्तर पर संचालित control रूम के प्रतिनिधियों और संभाग मुख्यालय के जिलाध्यक्षों से बात कर समीक्षा करने के साथ ही फीडबैक लिया.

आमजन को अधिकाधिक सहयोग प्रदान करें:
पायलट को control रूम की गतिविधियों, प्राप्त सुझावों और समस्याओं से अवगत कराया. पायलट ने कहा कि राजनैतिक पार्टी के कार्यकर्ता होने के नाते हमारा दायित्व है कि हम इस विपदा के समय में आमजन को अधिकाधिक सहयोग प्रदान करें. आमजन को राशन, चिकित्सा जैसी सुविधाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने में मदद करे, प्रशासन, विभिन्न सामाजिक संगठनों और समाजसेवियों का सहयोग लेने के साथ ही अपने स्तर पर भी प्रयास करें.

लॉकडाउन के बावजूद भी बजरी माफियों के हौसले बुलंद, अवैध पत्थरों की निकासी पर वन विभाग ने जब्त किया ट्रैक्टर ट्रॉली

जल्द निराकरण किया जाएगा:
चिकित्सकों एवं नर्सिंग स्टॉफ को चिकित्सा एवं सर्वे के कार्यों में सहयोग करने हेतु आमजन को प्रेरित करें. उन्होंने प्रभारियों को आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिये गये सुझावों और समस्याओं से प्रशासन को अवगत करवाकर उनका जल्द निराकरण किया जायेगा. VC में अजमेर, कोटा, भरतपुर, उदयपुर, जयपुर जोधपुर और बीकानेर के जिलाध्यक्षों , प्रदेश और संभाग स्तरीय कन्ट्रोल रूम के प्रतिनिधि मौजूद रहे.

CORONA: इन चीजों का कीजिए सेवन, शरीर में विकसित होगी प्रतिरोधक क्षमता

VIDEO: सतीश पूनियां ने बढ़ाया कोरोना वॉरियर्स का मनोबल, SMS अस्पताल का किया दौरा

जयपुर: कोरोना रोकथाम की मुहिम में "राजनीति" का अलग रंग भी देखा जा रहा है. आमतौर पर किसी भी इश्यू पर राजनेताओं में विरोधाभास सामान्य बात है, लेकिन कोरोना की जंग में राजस्थान के राजनेता एकजुट होकर काम कर रहे हैं. इस बानगी प्रदेश के सबसे बड़े एसएमएस अस्पताल में देखने को मिली, जहां BJP प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया व्यवस्थाओं का जायजा लेने पहुंचे. अस्पताल अधीक्षक डॉ डी एस मीणा से पूनिया ने तैयारियों के बारे में विस्तार से जानकारी ली और काफी हद तक सरकार के प्रयासों से वे संतुष्ठ भी नजर आए. 

Rajasthan Corona Update: पिछले 24 घंटे में सामने आ चुके 30 नए पॉजिटिव केस, जयपुर-टोंक में सर्वाधिक 12-12 मामले 

एसएमएस के चिकित्सकों का पूरी दुनिया में नाम: 
इस दौरान फर्स्ट इंडिया से बातचीत में सतीश पूनिया ने कहा कि किसी भी सियासत से ऊपर समाज का हर तबका, हर जिम्मेदार व्यक्ति, हौसला अफजाई के लिए आगे आए. उन्होंने कहा कि एसएमएस के चिकित्सकों का पूरी दुनिया में नाम है. इनकी सेवाएं दूसरे अस्पतालों के लिए अनुकरणीय है. कोरोना की रोकथाम के लिए पूरे अस्पताल में डेडिकेटेड व्यवस्था की गई है. पूनिया ने ये भी कहा कि जिस तरह से सीमित संसाधनों में ये व्यवस्थाए की गई है, वो काफी काबिलेतारिफ है. 

आवश्यक सामग्रियों के परिवहन के लिए रेलवे ने कसी कमर, लॉक डाउन की स्थिति में भी हो रहा मालगाड़ियों का संचालन 

Rajasthan Corona Update: पिछले 24 घंटे में सामने आ चुके 30 नए पॉजिटिव केस, जयपुर-टोंक में सर्वाधिक 12-12 मामले

Rajasthan Corona Update: पिछले 24 घंटे में सामने आ चुके 30 नए पॉजिटिव केस, जयपुर-टोंक में सर्वाधिक 12-12 मामले

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है. पिछले 24 घंटे में 30 नए पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. जिसमें जयपुर-टोंक में सर्वाधिक 12-12 पॉजिटिव केस सामने आए हैं. इसके अलावा उदयपुर में 3, बीकानेर में 2, दौसा में एक केस सामने आया है. ऐसे में प्रदेशभर में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ 166 पहुंच गया है. इसमें से तबलीगी जमात से जुड़े 29 लोग शामिल है. 

Coronavirus Updates: पिछले दो दिन में तब्लीगी जमात से जुड़े 647 पॉजिटिव कोरोना केस आए सामने, अब तक 56 की मौत- स्वास्थ्य मंत्रालय  

उदयपुर में तीन और कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए: 
इससे पहले आज उदयपुर में तीन और कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए है. ये मरीज कल सामने आए कोरोना पॉजिटिव के रिश्तेदार हैं. नये सामने आए 3 पॉजिटिव मरीजों में से एक फीमेल नर्स है. महाराणा भोपाल चिकित्सालय में कार्यरत यह फीमेल नर्स कल सामने आए कोरोना पॉजिटिव 15 वर्षीय बालक की मौसी है. ऐसे में प्रशासन और ज्यादा सतर्क हो गया है. 

दौसा में भी पहला कोरोना पॉजिटिव सामने आया:
वहीं दौसा में भी आज पहला कोरोना पॉजिटिव सामने आया था. इसके साथ ही ईरान से लाये गए तीन भारतीय यात्री भी पॉजिटिव मिले हैं. इससे पहले सुबह टोंक जिले में भी 12 नए पॉजिटिव केस सामने आए है. जयपुर में भी RUHS में भर्ती 7 लोग पॉजिटिव मिले हैं. इसके अलावा बीकानेर जिले में भी दो पॉजिटिव केस की पुष्टि हुई है. प्रदेशभर में सामने आए नए पॉजिटिव केस तबलीगी जमात से जुड़े हुए है. 

तब्लीगी जमात से जुड़े 647 पॉजिटिव कोरोना केस पिछले दो दिन में सामने आए: 
कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज अपने नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कल से अभी तक कोरोना के 336 नए मामले सामने आए हैं. कुल कन्फर्म मामलों की संख्या 2306 हो गई है जिनमें से 56 लोगों की मौत हो चुकी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के जॉइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने कहा कि 56 लोगों में से 12 लोगों की मौत कल हुई है. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि 14 राज्यों में तब्लीगी जमात से जुड़े 647 पॉजिटिव कोरोना केस पिछले दो दिन में सामने आए हैं. 

आवश्यक सामग्रियों के परिवहन के लिए रेलवे ने कसी कमर, लॉक डाउन की स्थिति में भी हो रहा मालगाड़ियों का संचालन 

दुनियाभर में करीब 10 लाख 16 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित: 
दुनियाभर में तबाही मचा रहा कोरोना वायरस 204 देशों में फैल चुका है. इस वायरस से करीब 10 लाख 16 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. वहीं 52 हजार लोगों की मौत हो चुकी है. इस सब के बीच राहतभरी खबर यह है कि  लाख 12 हजार लोग ठीक भी हुए हैं. इस महामारी से अमेरिका बुरी तरह प्रभावित है. यहां 24 घंटे में 29 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं और 1169 लोगों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या 6000 से ज्यादा हो गई है. इसके साथ ही अमेरिका में संक्रमितों की कुल संख्या दो लाख 44 हजार हो गई है. 

आवश्यक सामग्रियों के परिवहन के लिए रेलवे ने कसी कमर, लॉक डाउन की स्थिति में भी हो रहा मालगाड़ियों का संचालन

आवश्यक सामग्रियों के परिवहन के लिए रेलवे ने कसी कमर, लॉक डाउन की स्थिति में भी हो रहा मालगाड़ियों का संचालन

जयपुर: कोरोना वायरस के कारण हुई लॉक डाउन की स्थिति में भी उत्तर-पश्चिम रेलवे जयपुर मंडल के अधिकारियों व कर्मचारियों के अथक प्रयास से आवश्यक सामग्रियों के परिवहन को सुनिश्चित किया जा रहा है. यात्री ट्रेनों का संचालन जहां 14 अप्रैल तक बंद है, वहीं मालगाड़ियों का संचालन जारी रखते हुए रेलकर्मी दिन-रात हमें जरूरत की सामग्री उपलब्ध कराने में जुटे हैं. 

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 161, उदयपुर में तीन नए मरीज आए सामने 

जरूरत की हर सामग्री मुहैया कराने के लिए मालगाड़ियां संचालित की जा रही: 
दक्षिण-पूर्व रेलवे प्रशासन ने कोरोना वायरस की मौजूदा कठिन परिस्थितियों में रेलकर्मियों का उत्साहवर्धन करने के लिए एक विशेष गीत तैयार किया है. दरअसल जब यात्री ट्रेनों का संचालन बंद है, तब आमजन को जरूरत की हर सामग्री मुहैया कराने के लिए मालगाड़ियां संचालित की जा रही हैं. जयपुर मंडल के क्षेत्राधिकार में स्थित रेल मार्गों से खाद्यान्नों ,कोयला ,पेट्रोलियम इत्यादि का परिवहन किया जाता है. डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कारपोरेशन ऑफ इंडिया यानी डीएफसीसीआई के पश्चिमी गलियारे का अधिकांश रेल मार्ग भी जयपुर मंडल के अंतर्गत आता है. इन मालगाड़ियों के परीक्षण, निरीक्षण व जांच का कार्य न्यूनतम आवश्यक कर्मचारियों द्वारा पूरी निष्ठा और परिश्रम से किया जा रहा है. ट्रैक मेंटेनेंस का कार्य भी पूर्ण तत्परता से किया जा रहा है. कर्मचारियों के व्यक्तिगत और कार्यस्थल की सैनिटाइजेशन में अतिरिक्त सावधानी बरती जा रही है. कर्मचारियों को कार्यस्थल पर ताप परीक्षण के पश्चात ही प्रवेश दिया जा रहा है. 

रेलवे प्रशासन मुंबई से लुधियाना के बीच मालगाड़ी की 6 ट्रिप संचालित कर रहा: 
आवश्यक सामग्रियों के सुचारू परिवहन के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे प्रशासन मुंबई से लुधियाना के बीच मालगाड़ी की 6 ट्रिप संचालित कर रहा है. इन ट्रेनों के जरिए दानदाता, व्यापारी, ई-कॉमर्स कंपनियां जरुतमंद लोगों तक दवाईयां, चिकित्सा उपकरण, खाद्य पदार्थ आदि भेज सकते हैं. रेलवे के अनुसार बांद्रा टर्मिनस-लुधियाना पार्सल स्पेशल मालगाड़ी 3 अप्रैल, 6, 8, 11 और 13 अप्रैल को बांद्रा टर्मिनस से रात 8 बजे रवाना होकर दूसरे दिन रात 8 बजे जयपुर और तीसरे दिन सुबह 11:30 बजे लुधियाना पहुंचेगी. इसी प्रकार लुधियाना-बांद्रा टर्मिनस पार्सल स्पेशल 3 अप्रैल, 5, 8, 10, 13 और 15 अप्रैल को लुधियाना से देर रात 11:30 बजे रवाना होकर दूसरे दिन दोपहर 2:30 बजे जयपुर और तीसरे दिन शाम 5:30 बजे बांद्रा टर्मिनस पहुंचेगी.

नर्सों के साथ अभद्रता करने वाले जमातियों पर NSA लगाने का आदेश, CM योगी बोले- ये मानवता के दुश्मन, छोड़ेंगे नहीं 

जरुरतमंद लोगों तक जरुरी सामान पहुंचाने की अपील की: 
रेलवे ने क्षेत्र के दानदाताओं और व्यापारियों से इन ट्रेनों के माध्यम से जरुरतमंद लोगों तक जरुरी सामान पहुंचाने की अपील की है. गौरतलब है कि कार्गों ट्रेन से माल बुक करने के लिए रेलवे स्टेशन रोड स्थित मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं. ट्रेन में पार्सल बुकिंग के लिए जयपुर के मुख्य पार्सल सुपरवाइजर से फोन नंबर 9001199972 पर भी संपर्क किया जा सकता है. इसके अलावा एक पार्सल स्पेशल ट्रेन आज सेलम से हिसार के बीच भी संचालित की जा रही है. यानी कोरोनावायरस के कठिन हालात के बावजूद काम पर डटे रेलकर्मियों के उत्साहवर्धन के लिए दक्षिण-पूर्व रेलवे का यह वीडियो रेलकर्मियों को खूब पसंद आ रहा है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 161, उदयपुर में तीन नए मरीज आए सामने

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 161, उदयपुर में तीन नए मरीज आए सामने

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है. पिछले 12 घंटे में 28 नए पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है. आज उदयपुर में तीन और कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए है. ये मरीज कल सामने आए कोरोना पॉजिटिव के रिश्तेदार हैं. ऐसे में राजस्थान में अब कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा 161 पहुंच गया है. नये सामने आए 3 पॉजिटिव मरीजों में से एक फीमेल नर्स है. महाराणा भोपाल चिकित्सालय में कार्यरत यह फीमेल नर्स कल सामने आए कोरोना पॉजिटिव 15 वर्षीय बालक की मौसी है. ऐसे में प्रशासन और ज्यादा सतर्क हो गया है. 

देश के 1500 शहरों के काजी देंगे कोरोना से बचाव का संदेश, चीफ काजी खालिद उस्मानी ने की पहल 

दौसा में भी पहला कोरोना पॉजिटिव सामने आया:
वहीं इससे पहले आज दौसा में भी पहला कोरोना पॉजिटिव सामने आया था. इसके साथ ही ईरान से लाये गए तीन भारतीय यात्री भी पॉजिटिव मिले हैं. इससे पहले सुबह टोंक जिले में भी 12 नए पॉजिटिव केस सामने आए है. जयपुर में भी RUHS में भर्ती 7 लोग पॉजिटिव मिले हैं. इसके अलावा बीकानेर जिले में भी दो पॉजिटिव केस की पुष्टि हुई है. प्रदेशभर में सामने आए नए पॉजिटिव केस तबलीगी जमात से जुड़े हुए है. 

VIDEO: मस्ज़िदों में नमाज़ नहीं सिर्फ कोरोना का संदेश, चिकित्सा कर्मियों का सहयोग करने की भी अपील  

आज सुबह आए 21 नए मामले तबलीगी जमात से लौटे हुए लोग: 
वहीं अब प्रदेश में तबीली जमात से आने के बाद पॉजिटिव पाए गए लोगों की संख्या 35 हो गई है. आज सुबह आए 21 नए मामले तबलीगी जमात से लौटे हुए लोग ही हैं. गुरुवार को भरतपुर, धोलपुर और झुंझूनू में मिले मरीज भी तबीली जमात से लौटे हुए लोग ही थे. इससे पहले बुधवार को टोंक में 4 और चूरू में सात सहित 11 जने तबीली जमात से आने के बाद पॉजिटिव पाए गए थे. अब प्रदेश में तबीली जमात से आए पॉजिटिव मरीजों की संख्या 35 हो गई है.  

देश के 1500 शहरों के काजी देंगे कोरोना से बचाव का संदेश, चीफ काजी खालिद उस्मानी ने की पहल

देश के 1500 शहरों के काजी देंगे कोरोना से बचाव का संदेश, चीफ काजी खालिद उस्मानी ने की पहल

जयपुर: कोरोना महामारी से बचाव के लिए कई मुस्लिम धर्मगुरू भी आगे आए हैं. आल इंडिया दारूल कजात के राष्ट्रीय अध्यक्ष चीफ काजी खालिद उस्मानी ने भी एक बड़ी पहल करते हुए देश के 1500 शहरो के काजी द्वारा कोरोना के खिलाफ संदेश देने की पहल की है. मुस्लिम समाज के हर तबके तक कोरोना से बचाव का ये संदेश पहुंचाने के लिए ये पहल कि गयी है. जिसके जरिए देश के सभी 1500 शहर काजी लोगों को घरो में रहने, घरो में रहकर नमाज अदा करने और नमाज के दौरान मुल्क और लोगों के दुआ करने की अपील कि गयी है. इसके साथ ही देशभर में फैले उलेमा, मुफ्ती, विशेषज्ञ, इस्लामी शिक्षाविद से भी संदेश देने का आहवान किया गया है.

VIDEO: मस्ज़िदों में नमाज़ नहीं सिर्फ कोरोना का संदेश, चिकित्सा कर्मियों का सहयोग करने की भी अपील  

ऑल इंडिया दारुल कजात ने कमर कसी:
महामारी से बचाव के लिए जागरूक करने के लिए अब कुरान की आयतों, हदीसों के संदेशों और लोगो की मदद करने वास्तविक मायनों का प्रचार करने के लिए ऑल इंडिया दारुल कजात ने कमर कसी है. दारुल कजात के राष्ट्रीय अध्यक्ष चीफ काजी खालिद उस्मानी के नेतृत्व में इस प्रचार को मूर्त रूप दिया जाएगा और देशभर मुस्लिम समाज में कोरोना से बचाव और ये ज्यादा नही फैले के ऐसे संदेश दिये जायेंगे. 

कोरोना को हमारे देश में इस्लाम से जोड़ा जा रहा: 
चीफ काजी खालिद उस्मानी ने बताया कि पूरी दुनिया में पैर पसार रहे कोरोना को हमारे देश में इस्लाम से जोड़ा जा रहा है, जो बिल्कुल गलत है. उन्होंने कहा ना ही इस्लाम और ना ही कुरआन महामारी के दौरान इस तरह की हरकतो की कोई तवज्जों नही है...और ना ही लोगो को ऐसी कोई तालीम देती. इस्लाम सिर्फ इन्सानियत मानवता और भाईचारा का ही सदेंश देता है. लेकिन एक वर्ग विशेष की नफरत के चलते कोरोना से एक समुदाय विशेष से जोड़ा जा रहा है. इन चीजों को गलत तरीके से पेश किया जाता है. उन्होंने कहा कि ऐसे में हमारी जिम्मेदारी है कि हम महामारी को लेकर कुरआन की आयतों का वास्तविक संदेश लोगों तक पहुंचाएं. साथ ही कोरोना से बचाव और साफ सफाई से रहने का संदेश आमजन तक इतना फैलाया जाए कि उसके नेक मकसद की जानकारी हर किसी को मिले. 

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 158, दौसा में मिला पहला मरीज 

जागरुकता फैलाने की रणनीति:
चीफकाजी ने बताया कि देश के 1500 शहरों में नियुक्त शहर काजी दारुल कजात के सदस्य भी हैं, जिन्हें ये संदेश फैलाने की जिम्मेदारी दी जाएगी. ये शहर काजी सोशलमीडिया के जरिए मुस्लिम समाज के वाट्सप गुप और अन्य साधनो के जरिए संपर्क करेंगे और उन्हें अपने घरो में ही नमाज अदा करने और नमाज के बाद हमारे मुल्क हिंदुस्तान और अवाम की हिफाजत के लिए दुआ करने की अपील कि जायेगी.  शहर काजियों के अलावा देशभर में फैले उलेमा, मुफ्ती, विशेषज्ञ, इस्लामी शिक्षाविद भी कारेाना संदेश की सही जानकारी देने के लिए आमजन तक संदेश पहुंचायेंगे. 


 

Open Covid-19