Live News »

कोरोना को लेकर सोशल मीडिया पर चलाई फेक न्यूज, 8 लोग गिरफ्तार 

कोरोना को लेकर सोशल मीडिया पर चलाई फेक न्यूज, 8 लोग गिरफ्तार 

उदयपुर: सोशल मीडीया पर कोरोना वायरस के संबध में फेक न्यूज चलाना शनिवार को 8 लोगों के लिए भारी पड गया. पुलिस ने फेक न्यूज वायरल करने और अफवाहों को फैलाकर माहौल खराब करने के मामले में 3 नाबालिगों समेत कुल 8 लोगो को गिरफ्तार किया हैं. गिरफ्तार किए गए लोगो में 3 ग्रुप एडमिन भी शामिल हैं. दरअसल जिले के ओगणा थाना इलाके में इन लोगो ने कोरोना वायरस संदिग्ध मिलने की फेक न्यूज वायरल की थी जिस पर जिला कलेक्टर आनंदी के आदेश पर पुलिस ने इस कार्यवाही को अंजाम दिया. इस मौके पर पुलिस अधीक्षक कैलाश विश्नोई नें साफ किया है कि आमजन इस तरह की गलत और भ्रामक खबरों से बचे और इन्हे प्रसारित करने का माध्यम नहीं बनें.

CORONA: मिल गया कोरोना का तोड़, सुपर कंप्यूटर बना मददगार, दवा बनाने में मिलेगी मदद !

और पढ़ें

Most Related Stories

प्रवासियों ने बढ़ाई उदयपुर की मुसिबत, नए पॉजिटिव आने के बाद झाडोल और चावण्ड में लगाया कर्फ्यू 

प्रवासियों ने बढ़ाई उदयपुर की मुसिबत, नए पॉजिटिव आने के बाद झाडोल और चावण्ड में लगाया कर्फ्यू 

उदयपुर: 3 महिनों से शांत रहे उदयपुर जिले के सराडा उपखंड में प्रवासियों खासकर मुम्बई से लौटे लोगों ने कोरोना का केन्द्र बना दिया. शनिवार तक बीते दस दिनों में प्रवासियों के आने के बाद सराडा क्षेत्र में कुल 26 नए मामले कोरोना पोजिटिव के मिले है इससे पहले केवल जावद में ही दो पोजिटिव आए थे.

दो दिनों में आये ज्यादा मरीज:
इनमें से सबसे ज्यादा दो दिनों में आई रिपोर्ट में पाये, जिनमें शुक्रवार केजड में 3 और शनिवार को झाडोल में 4, चावण्ड में दो और कातनवाड़ा के मांडवा में एक प्रवासी कोरोना पोजिटिव पाये गये.इससे पूर्व जावद,अदवास, नईझर और सगतडा में कर्फ्यू लगा हुआ था अब सगतड़ा,केजड, झाडोल व चावण्ड में भी प्रशासन के हवाले हो गया है. सुबह करीब साढे आठ बजे रिपोर्ट आने के बाद से ही प्रशासन ने झाडोल और चावण्ड में कर्फ्यू लगा दिया.  

ऋतिक रौशन की चचेरी बहन पश्मिना जल्द ही बॉलीवुड में करेगी डेब्यू, अभिनेता ने लिखी ये शानदार पोस्ट

गांवों की गलियों को किया सेनेटाइज:
साथ ही गांवों की गलियों को सैनेटाइज करवा दिया. इस सभी की सेंपलिंग चावण्ड में होने से सभी होम क्वारेन्टाईन थे जिन्हे तत्काल चिकित्सा टीम ने एम्बुलेंस से उदयपुर रैफर कर दिया. स्थानीय प्रशासन के सभी की कोन्टेक्ट हिस्ट्री खंगालकर चावंड के प्रवासियों के 55 लोगों की स्क्रिनिंग के लिए रिपोर्ट भेज दी है. अभी दोनों कस्बों में कर्फ्यू लगाकर मार्ग सील कर दिए है. वहीं चावंड वासियों ने स्वत: प्रशासन को सहयोग करते हुए बाजार बन्द कर कर्फ्यू अवधी तक पुरा सहयोग करने का आश्वासन दे दिया है. 

कोबरा को पकड़ना युवक को पड़ा भारी, ​हाथ पर डसने से बिगड़ी तबियत 

पूरी तरह से कोरोना संक्रमण की गिरफ्त में आया उदयपुर शहर, पिछले 4 दिनों में तेजी सामने आए पॉजिटिव मरीज

पूरी तरह से कोरोना संक्रमण की गिरफ्त में आया उदयपुर शहर, पिछले 4 दिनों में तेजी सामने आए पॉजिटिव मरीज

उदयपुर: उदयपुर शहर अब पूरी तरह से कोरोना संक्रमण की गिरफ्त में है. पिछले 4 दिनों से शहर में भारी संख्या में कोरोना संक्रमित मरीजों का आना आज भी जारी रहा. आज भी शहर के विभिन्न इलाकों से 32 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए है. जिसमे से अधिकांश संख्या शहर के सबसे संक्रमित एरिया कांजी का हाटा और उसके आस पास के इलाके की है. आज सुबह जारी हुई लिस्ट में शहर के अलीपुरा, भूपालपुरा और सलूम्बर कस्बे का एक एक मरीज है वहीं एक कोरोना संक्रमित महाराणा भूपाल होस्पिटल के ट्रॉमा सेंटर में तैनात रेजिडेंट डॉक्टर है. वहीं शेष सभी 28 पॉजिटिव एक ही इलाके के हैं. 

देशद्रोह केस में पूर्व मंत्री मदन दिलावर को मिली हाईकोर्ट से राहत, 21 मई तक दण्डात्मक कार्यवाही करने पर लगायी रोक 

जिले में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 214 पहुंच गई:
32 नए मरीजों के सामने आने के बाद अब जिले में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 214 पहुंच गई है. यही नहीं कोरोना वार्ड से हॉस्पिटल के अन्य विभागों तक पहुंचे कोरोना संक्रमण ने जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की चिंताओं में भी इजाफा कर दिया हैं. इस सबके बीच स्वास्थ्य विभाग की टीमें जहां लगातार प्रभावित इलाकों में स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है, वहीं नगर निगम की ओर से इन इलाकों में सैनिटाइजेशन किया जा रहा है. 

50 दिनों से थमा हुआ यात्री ट्रेनों का चक्का आज से फिर होगा शुरू, जयपुर-नई दिल्ली रूट पर नहीं मिल रही सीटें 

उदयपुर में कुल 113 कोरोना पॉजिटिव , कांजी हाटा क्षेत्र में अब तक मिले 85 संक्रमित , प्रशासन ने बढ़ाई सख्ती

  उदयपुर में कुल 113 कोरोना पॉजिटिव , कांजी हाटा क्षेत्र में अब तक मिले 85 संक्रमित , प्रशासन ने बढ़ाई सख्ती

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर जिले के कांजी का हाटा इलाके से करीब 85 लोगों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद स्थानीय प्रशासन में हड़कम्प मच गया. शहर के तंग गली इलाके वाले एरीये में जयपुर के रामगंज जैसे हालात नहीं बने, इसको लेकर प्रशासन ने रविवार को एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया और कांजी का हाटा इलाके के लोगों को क्वॉरेंटाइन सेंटर में शिफ्ट करना शुरू कर दिया.

कोरोना के विरुद्ध एकजुटता के साथ युद्ध, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सांसद और विधायकों के साथ वीसी 

सभी का 14 दिन क्वॉरेंटाइन:
पहले चरण में उन लोगों को शिफ्ट किया गया, जिनकी कोरोना की जांच नेगिटिव आई थी. इनके लिए प्रशासन की टीम रविवार को क्षेत्र में पहुंची और सभी लोगों को आवश्यक सामान के साथ बसों में बिठा करें सेंटर पहुंचाया गया. जहां उन्हें 14 दिन तक रखा जाएगा. इसके लिए प्रशासन की ओर से तमाम व्यवस्थाओं को पुख्ता कर लिया गया.

कुल 113 कोरोना संक्रमित:
लोगों की शिफ्टिंग के साथ ही क्षेत्र को सेनिटाइज करने के कार्य को ओर गति दे दी है. बताया जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में सभी लोगों को क्वॉरेंटाइन सेंटर में शिफ्ट किया जाएगा और इसके बाद व्यापक स्तर पर क्षेत्र में केमिकल का छिड़काव कर सफाई की जाएगी. आपको बता दें कि उदयपुर शहर में अब तक 113 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आए है. जिनमें से अधिकांश मरीज इसी इलाके के रहने वाले हैं.

औरंगाबाद हादसे के बाद सतर्क हुआ रेलवे प्रशासन, लोको पायलटों को ट्रेन संचालन में अधिक सतर्क रहने के दिए निर्देश

लेकसिटी में मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 100 के पार, बढ़ाई सख्ती, पूरे निगम क्षेत्र को घोषित किया कंटेनमेंट जोन

लेकसिटी में मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 100 के पार, बढ़ाई सख्ती, पूरे निगम क्षेत्र को घोषित किया कंटेनमेंट जोन

उदयपुर: लेकसिटी उदयपुर में शनिवार को कोरोना संक्रमित मरीजों का ग्राफ 100 के पार पहुंच गया. महज दो दिन में कोरोना संक्रमित मरीजों की अचानक संख्या बढने के बाद जिला प्रशासन नें कडा एक्शन लेते हुए शहर के 70 वार्डो वाले नगर निगम क्षैत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया हैं. निगम क्षेत्र में दोपहर 12 बजे से विशेष सख्ती कर दी गई.

इमरजेंसी सेवाओं को छोडकर सब बंद:
साथ पूर्व में दी गई सभी तरह की शिथितताएं भी समाप्त कर दी गई. जिला कलेक्टर आनंदी द्धारा जारी किए गए आदेशों के तहत औधोगिक क्षैत्रों को छोडकर सभी सेवाएं पूर्णतया बंद रहेगी. हालांकि अत्यावश्यक सेवाओं को इस प्रतिबंध से मुक्त रखा गया है. जिला प्रशासन के आदेशों के बाद पूरे शहर में पुलिस ने विशेष सतर्कता बरतनी शुरु कर दी हैं. शहर के सूरजपोल, घंटाघर और धानमंडी थाना क्षेत्रो में स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार डोर टू डोर सर्व कर लोगों के स्वास्थ्य का परीक्षण कर रही हैं.

निजी स्कूलों को लेकर सीएम गहलोत ने दिए आदेश, फीस जमा नहीं होने पर स्कूल किसी विद्यार्थी का नाम नहीं काट सकेगा

कांजी का हाटा इलाके में 60 पॉजिटिव:
इसके अलावा प्रभावित इलाकों में सैनिटाइजेशन भी किया जा रहा हैं. आपको बता दें कि सूरजपोल थाना क्षेत्र के कांजी का हाटा इलाके में एक होमगार्ड जवान के कोरोना संक्रमित पाये जाने के बाद अकेले इसी इलाके से अब तक करीब 60 से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित सामनें आ चुके हैं. स्वास्थ्य विभाग ने भी पहले के मुकाबले कोरोना जांच का आंकडा अब और बढा दिया हैं.

पश्चिमी राजस्थान में घुसकर नागौर तक पहुंचा टिड्डी दल, खेतों में चारे के साथ-साथ पेड़ पौधों को कर रही है चट 
 

Rajasthan Corona Updates: उदयपुर में फूटा कोरोना बम! एक साथ 58 नए कोरोना संक्रमित मरीज आए सामने, पूरे इलाके में लगाया महाकर्फ्यू

Rajasthan Corona Updates: उदयपुर में फूटा कोरोना बम! एक साथ 58 नए कोरोना संक्रमित मरीज आए सामने, पूरे इलाके में लगाया महाकर्फ्यू

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर जिले से कोरोना वायरस को लेकर अब तक की सबसे बड़ी खबर सामने आई है. यहां पर लेकसिटी में कोरोना बम फूटा है. उदयपुर में एक साथ 58 कोरोना संक्रमित नए मरीज आए सामने आने के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे में  हड़कंप मच गया है. अधिकांश कोरोना पॉजिटिव मरीज सूरजपोल थाना क्षेत्र के निवासी बताये जा रहे है. 2 दिन पहले कोरोना संक्रमित आए होमगार्ड जवान से संक्रमण की आशंका जताई जा रही है. पूरे इलाके में महाकर्फ्यू लगाया गया है. क्लोज कांटेक्ट में आई सभी लोगों की स्क्रीनिंग करवाई जा रही है. उदयपुर में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 80 पहुंच गया है. 

उदयपुर में कोरोना का कहर: 
उदयपुर में शुक्रवार को एक साथ 58 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये है. 53 मरीज शहर के कांजी का हाटा इलाके के हैं. नेहरु बाजार, मीना पाड़ा,नीमच माता, हरिदासजी की मगरी इलाकों से 1-1 कोरोना पॉजिटिव मरीज है. दो अन्य कोरोना पॉजिटिव दूसरे स्थान से सामने आये है.

सचिवालय कंप्यूटर ऑपरेटरों का प्रदर्शन, पिछले 3 महिने से नहीं मिला वेतन, आत्मदाह की दी चेतावनी

33 में से 31 जिलों में पहुंचा कोरोना:
प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं. यहां 1121 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं. इसके अलावा जोधपुर में 889 (इनमें 47 ईरान से आए), कोटा में 231, अजमेर में 189, टोंक में 136, चित्तौड़गढ़ और भरतपुर में 116-116, नागौर में 119, बांसवाड़ा में 66, पाली में 55, जैसलमेर में 49 (इनमें 14 ईरान से आए), झालावाड़ में 47, झुंझुनूं में 42, भीलवाड़ा में 39, बीकानेर में 38, उदयपुर में 22, दौसा में 21, धौलपुर में 21, अलवर में 19, चूरू में 14, हनुमानगढ़ में 11, सवाईमाधोपुर और डूंगरपुर में 9-9, सीकर में 8, राजसमंद में 7, प्रतापगढ़, करौली और जालौर में 4-4, बाड़मेर में 3, सिरोही और बारां में 1-1 संक्रमित मिला है। जोधपुर में बीएसएफ के 42 जवान भी संक्रमित हैं.

गुरुवार को आये थे 110 मरीज:
गुरुवार को राजस्थान में कोरोना के 110 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. इसमें सबसे ज्यादा 30 मामले जोधपुर में सामने आए थे. इसके अलावा जयपुर में 21, चित्तौड़गढ़ में 16, अजमेर में 5, अलवर में 2, धौलपुर में 4, जालोर में 1, कोटा में 2, पाली में 10, राजसमंद में 1, सिरोही में 1, उदयपुर में 5 और बीएसएफ के 12 जवान एक साथ कोरोना संक्रमित मिले थे. ऐसे में अब प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ 3427 पहुंच गया था. वहीं पिछले 24 घंटे में 6 लोगों ने कोरोना की चपेट में आकर दम तोड़ दिया था. इनमें जयपुर में 2, अजमेर में 1, चित्तौड़गढ़ में 1, जोधपुर में 1 और कोटा में 1 मौत हुई थी. ऐसे में अब प्रदेश में कुल मौत का आंकड़ा 99 पहुंच गया था. 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान के 33 जिलों में से 31 में पहुंचा संक्रमण, कुल संक्रमित 3491, जयपुर में सबसे ज्यादा केस 

युवा नेता पर चार साल से यौन शोषण करने का आरोप, पुलिस ने दोनों पक्षों के दर्ज किए मामले

युवा नेता पर चार साल से यौन शोषण करने का आरोप, पुलिस ने दोनों पक्षों के दर्ज किए मामले

सराडा(उदयपुर): सलूंबर नगर क्षेत्र में रहने वाली एक युवती ने शहर के ही नगर युवा कांग्रेस नेता पर चार वर्ष से यौन शोषण करने एवं गर्भपात कराने का आरोप लगाकर पुलिस में मामला दर्ज करवाया है. आरोपी पक्ष ने युवती पर आरोप लगाते हुए ब्लेकमेल ओर मारपीट का मामला दर्ज करवाया. सलूम्बर कस्बा निवासी एक युवती ने पुलिस थाने पर पहुंच कर सलूंबर नगर निवासी कांग्रेस युवा नेता रोहित भट्ट पुत्र नरेंद्र कुमार भट्ट पर  अपने साथ चार साल से योन शोषण करने आरोप लगाते हुए पुलिस को बताया की आरोपी रोहित भट्ट ने मुझ पर दबाव डालकर बहला फुसला कर कार में बिठाकर प्यार करने की बात करते हुये शादी करने का झासा देते हुए मेरे पर दवाब बनाकर मेरे साथ जबरदस्ती यौन शोषण किया गया और एक वर्ष पूर्व मुझे मेडिकल से गोलिया लाकर खिलाई ओर मेरा गर्भपात करवाया.

सीएम योगी बोले, गरीब लोगों को सरकार 1000 रुपए का भरण-पोषण भत्ता और दे रही है मुफ्त खाद्यान्न

शादी का झांसा देकर किया शारीरिक शोषण:
युवती ने बताया की रोहित मुझे शादी का झांसा देकर चार साल से शारीरिक शोषण करता रहा ,रविवार को रोहित की पत्नी उसकी मां द्वारा मेरे फोन पर फोन कर कर मुझे बुलाया और मेरे साथ मारपीट की गई मेरा फोन भी उन्होंने ले लिया. जिसमे मेरे साथ चार साल से हुई घटना के सबूत फोन में है. सलुम्बर थाना पुलिस ने युवती के आरोप के बाद आरोपी रोहित भट्ट के खिलाप मामला दर्ज कर लिया है. दूसरी तरफ आरोपी रोहित भट्ट की पत्नी ने अपने पति पर योन शोषण का मामला दर्ज होने के बाद आरोप लगाने वाली युवती पर क्रॉस मामला दर्ज कराते हुए बताया कि उक्त महिला द्वारा मेरे पति रोहित के मोबाइल पर प्यार करने एवं पत्नी बनाकर रखने की बात को लेकर आए दिन दबाव बनाकर परेशान करती हैं. 

सलुम्बर थाना पुलिस मामला दर्ज कर जांच की शुरू:
मेरे पति के मोबाइल पर अपनी अश्लील वीडियो भेज कर मानसिक रूप से दबाव बनाकर  आये दिन परेशान करती हैं जिस पर मेरे पति रोहित भट्ट ने उक्त सभी मैसेज मुझे बताएं. जिससे मैने मोबाइल पर युवती से बात कर गलत मैसेज वीडियो भेजने के बारे में पूछा तो  मुझे फोन पर गाली गलौज करने लगी मेरे पति के ऊपर गलत आरोप लगाने लगी जिस पर मैंने कहा कि ऐसे आरोप मत लगा तो युवती एवं उसके पिता दोनों ने रविवार को हाथ में धारदार हत्या लेकर मेरे घर पर आए और बुरी बुरी गालियां देकर हमारे साथ मारपीट करने लगे. हमारे द्वारा विरोध करने पर युवती ने कहा कि अगर रोहित मुझे पति बना कर नहीं रखेगा तो मैं तेरे घर आकर रहूंगी कहकर जबरदस्त दबाव बनाकर राजीनामे पेटे चार लाख रूपये की मांग रखी. सलुम्बर थाना पुलिस ने दोनों पक्षों का मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी.

श्रमिक स्पेशल ट्रेन पहुंची जयपुर, महाराष्ट्र के पालघर से 1207 श्रमिक लाए गए जयपुर

468 साल का हुआ उदयपुर, महाराणा प्रताप की वीरता, मीरा की भक्ति और पन्नाधाय के बलिदान का रहा साक्षी

468 साल का हुआ उदयपुर, महाराणा प्रताप की वीरता, मीरा की भक्ति और पन्नाधाय के बलिदान का रहा साक्षी

उदयपुर: राजस्थान का कश्मीर और झीलों का शहर उदयपुर आज 468 साल का हो गया हैं. आज से करीब साढें चार दशक पहलें अक्षय तृतीया के दिन मेवाड़ के महाराणा उदयसिंह नें उदयपुर की स्थापना की थी. तब से लेकर आज तक शहर के जंबा होने की कड़ी में कई मुकाम आयें हैं लेकिन अपनी स्थापना से अब तक लेकसिटी के प्राकृतिक सौन्दर्य में लगातार इजाफा होता गया और आज मेवाड़ की राजधानी उदयपुर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के पंख लगायें लगातार अपना विस्तार कर रही हैं. हालांकि उदयपुर की स्थापना के वर्षों में यह पहली बार है  जब वैश्विक महामारी बन चुके कोरोना के चलते  पूरा शहर लॉक डाउन है और अपने शहर की स्थापना के दिन को ठीक ढंग से सेलिब्रेट भी नहीं कर पा रहा. 

कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मक्का की खरीद के लिए केंद्र सरकार से किया आग्रह 

वीरता, मीरा की भक्ति और पन्नाधाय के बलिदान की साक्षी रहा उदयपुर:
महाराणा प्रताप की वीरता, मीरा की भक्ति और पन्नाधाय के बलिदान का साक्षी रहा झीलों का शहर आज अपना 468 वां जन्मदिन मना रहा हैं. आज ही यानि अक्षय तृतीया के अबूझ मौके पर 15 अप्रैल सन 1553 को महाराणा उदयसिंह नें उदयपुर की स्थापना का पत्थर रखा. शहर के माछला मगरा स्थित एकलिंगगढ से उदयबाढ की तोप चलाई गई तो महाराणा उदयसिंह नें पीछोला किनारें महल, धनाढ्य वर्ग नें हवेलियों और आम लोगो नें घरो की नींव का पत्थर रखा. अपनी स्थापना से लेकर आज तक उदयपुर सामाजिक,आर्थिक,सांस्कृतिक और ऐतिहासिकता के मायनों में लगातार प्रगतिशील होता रहा हैं. बात चाहें यहां की रिती रिवाजों की हो या फिर प्रकृति प्रदत्त नैसर्गिक खूबसूरती की हर अंदाज में इस शहर ने विकास की इबारत लिखी हैं.

गर्भवती महिला की मौत मामला: मृतका की जांच रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव, वैर थाना क्षेत्र के गांव हिसामडा में लगाया कर्फ्यू

स्थापना के इन वर्षों में यह पहला मौका जब शहर कैद:
भक्ति, शक्ति और स्वर्णिम इतिहास से शुरु हुआ लेकसिटी का सफर आज स्मार्ट सिटी के रुप में समुद्द हो रहे शहर के ट्रेक पर दौड रहा हैं. हालांकि आधुनिकता के परिवेश नें शहर की ऐतिहासिक संवेदना को प्रभावित करने की कोशिश जरुर की है लेकिन स्थानीय वांशिदों की संवेदनशीलता यहां की नीली झीलों के संरक्षण में देखी जा सकती हैं. हालांकि अपनी स्थापना के इन वर्षों में यह पहला मौका है जब कोरोना के कुदरती कहर के चलते यह शहर कैद में है, लेकिन प्रतापी शौर्य के साक्षी रहे मेवाड़ वासियों ने हर बार किसी भी तरह की आपदा से एकजुटता के साथ पार पाई है, और इस बार भी कोरोना वायरस से आई इस आपदा में पूरा मेवाड़ एकजुटता के साथ लड़ रहा है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए उदयपुर से रवि कुमार शर्मा की रिपोर्ट
 

DGP भूपेंद्र सिंह यादव उदयपुर के दौरे पर, कहा-आमजन को नहीं हो किसी भी तरह की परेशानी, लॉकडाउन की हो सख्ती से पालना

DGP भूपेंद्र सिंह यादव उदयपुर के दौरे पर, कहा-आमजन को नहीं हो किसी भी तरह की परेशानी, लॉकडाउन की हो सख्ती से पालना

उदयपुर: प्रदेश के उदयपुर जिले के प्रवास पर आए राजस्थान पुलिस के डीजीपी भूपेंद्र सिंह यादव ने गुरुवार को उदयपुर शहर के विभिन्न इलाकों का दौरा किया. प्रदेशभर में जारी लॉक डाउन के चलते अलग-अलग जिलों के दौरे पर निकले प्रदेश पुलिस के डीजीपी ने गुरुवार को सबसे पहले शहर के मल्लातलाई इलाके का जायजा लिया. यहां पर डीजीपी ने क्षेत्र में तैनात पुलिसकर्मियों से चर्चा की.

फिर बदला मौसम का मिजाज, जयपुर में तेज गर्जना के साथ हुई बारिश

कर्तव्य को पूरी संवेदनशीलता के साथ निभाए:
डीजीपी ने लॉक डाउन की सख्ती से पालना कराने के निर्देश के अलावा कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पुलिसकर्मियों के पास जरूरी संसाधनों को लेकर भी चर्चा की. डीजीपी ने पुलिसकर्मियों के पास गिलब्स, मास्क और सैनिटाइजर जैसे संसाधनों की उपलब्धता के बारे में बातचीत की. डीजीपी ने  फील्ड में तैनात पुलिसकर्मियों का हौसला बढ़ाया और कहा कि अपने कर्तव्य को पूरी संवेदनशीलता के साथ निभाए. 

पॉइंट पर जाकर की पुलिसकर्मियों से चर्चा:
आमजन को किसी भी तरह की परेशानी ना हो साथ ही लॉक डाउन की सख्ती से पालना हो, इस बात को पुलिसकर्मी सुनिश्चित करें. इसके बाद डीजीपी भूपेंद्र यादव ने ओटीसी सेंटर,चेटक चौराहे सहित शहर के करीब आधे दर्जन से ज्यादा पॉइंट पर जाकर पुलिसकर्मियों से चर्चा की. इस दौरान डीजीपी ने केंद्र सरकार द्वारा कोरोना वॉरियर्स की सुरक्षा के लिए लागू किए गए कड़े कानून की भी प्रशंसा की. इस मौके पर उदयपुर रेंज आईजी विनीता ठाकुर, पुलिस अधीक्षक कैलाश विश्नोई भी मौजूद रहे. आपको बता दें कि डीजीपी भूपेंद्र यादव कल देर शाम उदयपुर पहुंचे थे.

अब डॉक्टरों पर हमला करने वालों को होगी 7 साल की जेल, राष्ट्रपति कोविंद ने अध्यादेश को दी मंजूरी

Open Covid-19