प्रसिद्ध गोगामेड़ी मेला अपने पूरे परवान पर, विभिन्न राज्यों से आ रहे श्रद्धालु

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/09/06 09:27

नोहर(हनुमानगढ़): उत्तर भारत का प्रसिद्ध गोगामेड़ी मेला अपने पूरे परवान पर है. पूरे एक माह तक चलने वाला देश का सबसे लंबा यह लक्खी मेला अब दूसरे पखवाड़े का शुरू हो गया है. इसके तहत आज अष्टमी व कल नवमी को विशेष धोक लगाई जाएगी. इसके लिए गोगामेड़ी में देश के विभिन्न राज्यों से लाखों श्रद्धालु जुटे हुए हैं. लोक देवता वीर गोगा जी चौहान के समाधि स्थल पर लगने वाले इस मेले में यूपी, बिहार, उत्तरांचल, उत्तराखंड, हिमाचल, हरियाणा, दिल्ली पंजाब व महाराष्ट्र सहित देश के उत्तरी राज्यों से श्रद्धालु आते हैं. मान्यता के अनुसार यह श्रद्धालु पीले वस्त्र पहन कर आते हैं. इसलिए इन्हें पुरबिया कहा जाता है.

प्रशासन ने किए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध: 
यहां पहले गोरक्ष गंगा में स्नान कर गुरू गोरखनाथ जी के धूणे पर धोक लगती है. उसके बाद करीब तीन किलोमीटर दूर वीर गोगाजी की समाधि पर मत्था टेककर भक्त मन्नत मांगते हैं. मेले में श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने भी पुख्ता प्रबंध किए हुए हैं. इसके लिए बकायदा मंदिर परिसर के सामने कई किलोमीटर लंबी बैरिकेडिंग लगाई गई है. श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की समस्या न हो इसके लिए बैरिकेडिंग में छांव-पानी व हवा की पूरी व्यवस्था की गई है. मेला मजिस्ट्रेट जय कौशिक ने बताया कि पीक-डे के तहत अष्टमी व नवमी को करीब 26 लाख श्रद्धालु मेले में आने की उम्मीद है. उसी के अनुरूप मेले की व्यवस्था की गई है. सफाई व्यवस्था भी दुरुस्त करवाई जा रही है. इसके अलावा पुलिस की ओर से भी सुरक्षा के पुख़्ता प्रबंध किए गए हैं. 

सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रखा गया पूरा मेला: 
पूरा मेला सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रखा गया है. मेले में एएसपी, डीएसपी व सीआई स्तर के अधिकारियों सहित करीब 800 जवान सुरक्षा व्यवस्था में जुटे हुए हैं. देव स्थान विभाग को अभी तक मेले से करीब सवा तीन करोड़ रुपए की आय हो चुकी है.  

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in