मशहूर कव्वाल Saeed Sabri का निधन, मौत से पहले Raj Kapoor डायरी में लिख गए थे- Hina Film में ये ही गाएंगे गाना

 मशहूर कव्वाल Saeed Sabri का निधन, मौत से पहले Raj Kapoor डायरी में लिख गए थे- Hina Film में ये ही गाएंगे गाना

जयपुर:  मशहूर कव्वाल सईद साबरी (Famous Qawwal Saeed Sabri) का हार्ट अटैक (Hart Attack) से निधन हो गया. फिल्म 'सिर्फ तुम' में 'इक मुलाकात जरूरी है सनम' और 'हिना' फिल्म में 'देर ना हो जाए' सुपरहिट गीत गाकर राजस्थान का नाम रोशन करने वाले मशहूर कव्वाल सईद साबरी (85) का रविवार को हार्टअटैक से निधन हो गया. वे पिछले कई वर्षों से बीमार चल रहे थे. सईद साबरी के निधन के करीब दो महीने पहले ही उनके बड़े बेटे मशहूर कव्वाल फरीद साबरी का भी इंतकाल हो गया था. देश विदेश में कव्वाल सईद साबरी और उनके दोनों बेटे फरीद व अमीन की जोड़ी साबरी ब्रदर्स के नाम से मशहूर थी.

पहले बेटे ने दूनिया से अलविदा ली और अब पिता ने:
पहले फरीद साबरी और अब उनके पिता सईद साबरी की मौत के बाद यह जोड़ी बिखर गई. सईद साबरी ने ही बेटे फरीद और स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) के साथ में मिलकर ‘हिना’ फिल्म के लिए कव्वाली 'देर न हो जाए कहीं देर न हो जाए' गीत गाया था. इसके बाद साबरी ब्रदर्स ने मिलकर 'सिर्फ तुम' मूवी के लिए 'इक मुलाकात जरूरी है सनम' गाया. रविवार को मथुरा वालों की हवेली से सईद साबरी का शव घाटगेट स्थित कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक किया गया. साबरी परिवार जयपुर के रामगंज में रहता है.  

  कव्वाली मंच हुआ एकदम सूना, इस जन्म में इसकी भरपाई करना नामुमकिन:
दो महीने में ही पहले बड़े भाई फरीद और अब पिता सईद साबरी को खोने वाले अमीन साबरी ने बताया कि हमारा कव्वाली का मंच एकदम सूना हो गया. इस जन्म में इसकी भरपाई नामुमकिन है. 1991 में आई हिट फिल्म ‘हिना’ की कव्वाली ‘देर ना हो जाए कहीं देर ना हो जाए’ के लिए राज कपूर पहले पाकिस्तान (Pakistan) के मशहूर कव्वाल गुलाम फरीद साबरी और नुसरत फतेह अली खान को लेना चाहते थे, पर उन्होंने गर्मजोशी से जवाब नहीं दिया.

राज कपूर पहले ही लिख गए थे कि हिना फिल्म में ये ही गाएंगे गाना:
राज कपूर (Raj Kapoor) हीना में पहले पाकिस्तानी कव्वलों को लेना चाह रहे थे. किंतु उन्होनें तय किया कि भारत के कव्वालों से ही यह काम कराएंगे. फिल्म के संगीत निर्देशक रवीन्द्र जैन ने हमारे नाम सुझाए. दुर्भाग्यवश फिल्म हीना की शूटिंग के दौरान ही राज कपूर साहब का निधन हो गया. लेकिन वह डायरी में हमारा नाम लिख गए थे. फिल्म दोबारा शुरू हुई तो निर्देशन का काम रणधीर कपूर ने संभाला.
 
रणधीर कपूर ने बताई डायरी में लिखने वाली बात:
राजकपूर द्वारा साबरी से गाना गाने को लेकर डायरी में लिख गए थे. ये बात उनके बेटे रणधीर कपूर ने एक इंटरव्यू में बताई थी. कपूर जी अपनी डायरी में इनका नाम लिख गए थे इसीलिए कव्वाली के लिए जयपुर के सईद साबरी और उनके बेटे फरीद व अमीन को चुना.

इसी तरह बोनी कपूर की 1999 में आई फिल्म ‘सिर्फ तुम’ में हम तीनों ने कव्वाली गाई है, ‘जिंदा रहने के लिए तेरी कसम, इक मुलाकात जरूरी है सनम. फिल्म अभिनेता देवानंद, आमिर खान, सलमान खान और शत्रुघन सिन्हा साबरी ब्रदर्स की कव्वालियों के मुरीद थे और कई बार हमें निजी रूप से सुनने को बुलाया करते थे.
 
 
 
 

और पढ़ें