नई दिल्ली Farmer Tractor Rally: किसानों और पुलिस में भिड़ंत, लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले दागे गए

Farmer Tractor Rally: किसानों और पुलिस में भिड़ंत, लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले दागे गए

Farmer Tractor Rally: किसानों और पुलिस में भिड़ंत, लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले दागे गए

नई दिल्ली: कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसानों के राष्ट्रीय राजधानी के आईटीओ पहुंचने के बाद लुटियन दिल्ली की ओर बढ़ने की कोशिश पर पुलिस के साथ भिड़ंत हुई. पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे. किसानों ने तय समय से पहले विभिन्न सीमा बिंदुओं से अपनी ट्रैक्टर परेड शुरू की. किसान अनुमति नहीं मिलने के बावजूद मध्य दिल्ली के आईटीओ पहुंच गए. प्रदर्शनकारी हाथ में डंडे लेकर पुलिस कर्मियों को दौड़ाते हुए दिखे. पुलिस ने भी लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले छोड़कर भीड़ को तितर-बितर करने का प्रयास किया.

किसान पहुंचे लालकिले पर: 
एक ओर जहां आईटीओ पर अभी भी पुलिस और किसानों के बीच संघर्ष हो रहा है. वहीं दूसरी ओर कुछ किसान लालकिले तक पहुंच गए हैं. किसान यहां लाल किले परिसर के पास ट्रैक्टरों पर घूम रहे हैं.दिल्ली पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए बॉर्डर पर बड़े-बड़े कंटेनर लगाए थे. गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने ऐसे ही कंटेनर को किनारे किया और दिल्ली की ओर कूच कर दिया. दिल्ली पुलिस की तमाम कोशिशें किसानों को रोकने में नाकाम रहीं.

लाल किले पर ट्रैक्टर: 
तमाम कोशिशों के बावजूद दिल्ली पुलिस किसानों को लालकिले तक ट्रैक्टर लाने में नहीं रोक पाई. कई आंदोलनकारी ट्रैक्टर लेकर लालकिले तक पहुंच गए हैं.गाजीपुर बॉर्डर के पास किसान और पुलिस आमने-सामने नजर आए. किसानों की ओर से बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की गई, तो पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे. पुलिस की ओर से बैरिकेड करने के लिए क्रेन का इस्तेमाल भी किया गया, लेकिन किसान नहीं रुके.

किसानों को रोकने के लिए लगाए हुए थे बैरिकेड:
लाल किले के पास पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए बैरिकेड लगाए हुए थे. लेकिन जो किसान सीमा से लेकर यहां तक आ गए, उनके सामने ये बैरिकेड भी नहीं टिके. प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड को तोड़ लालकिले का रुख किया. किसानों ने पहले ऐलान किया था कि वो लालकिले तक परेड निकालना चाहते हैं, लेकिन दिल्ली पुलिस ने इसकी इजाजत नहीं दी. अब जब दिल्ली में उत्पात की स्थिति बनी है, तो कुछ किसान ट्रैक्टर लेकर लालकिले तक पहुंच गए हैं.

और पढ़ें