चुनावी मौसम में किसानों को ठगती सरकार, यूरिया की कमी से जूझते किसान

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/02 06:35

झालावाड़। भवानीमंडी के आसपास के कस्बों में यूरिया खाद की मारा मारी से किसान तो परेशान हैं ही दुकानदार भी परेशान हैं। इस बार भगवान ने किसानों का साथ दिया तो राज ने किसानों का साथ छोड़ दिया। रबी की फसल के लिए इस समय किसानों को यूरिया खाद की सख्त आवश्यकता है।

लेकिन खाद कंपनिया तो जैसे डग क्षेत्र के किसानो के साथ सोतेला व्यवहार कर रही है। भवानीमण्डी शहर में तो रोजाना करीब दो हजार यूरिया खाद के कटे आ रहें। लेकिन भवानीमण्डी के बाद मिश्रौली, सिहलेगड़, आवर , पगारिया, डग,चोहमेहला में तो जैसे कंपनियों ने किसानों को भगवान भरोसे छोड़ दिया। रविवार को भी क्षेत्र के मिश्रौली कस्बे में एक निजी खाद दुकानदार के यहां 18 टन 400बैग खाद आया तो सुबह से ही दुकानदार की दुकान पर किसानों का जमावड़ा लग गया। 

इस पर दुकानदार ने कृषि प्रयवेक्षक कृष्णा मुरारी और पुलिस सुरक्षा में किसानो को आधार कार्ड पर दो दो खाद के कटे वितरण किया। जहां एक तरफ विधानसभा चुनाव की तैयारी चल रही है वहीं यहां के किसान इन सब बातों को भूलकर अपनी फसलें बर्बाद होने से बचाने के लिए यूरिया खाद की किल्लत से जूझ रहे हैं जो रोज सुबह होते ही खाद जुगत में जुट जाते है जिसमें चुनावी समय के चलते किसानों को पटाने के लिए पार्टियां उनकी हर समस्या दूर करने का वादा तो कर रही है लेकिन किसानों को हर साल सारे काम छोड़कर खाद के लिए तो लाइन में खड़ा होना ही पड़ता है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in