मूंग की ब्रिकी को लेकर किसान परेशान 

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/10/31 10:17

किशनगढ़ (अजमेर)। राजस्थान के अजमेर जिले के किशनगढ़ में स्थित कृषि उपज मंडी में किसान मूंग की बिक्री को लेकर परेशान हो रहे है। क्रय विक्रय सहकारी समिति ने एक पखवाड़े में गुरुवार तक मात्र 100 किसानों का ही समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदा है जबकि यहां पंजीयन चार हजार किसानों ने कराया है। वहीं मूंग बेचान के लिए टोकन दो सौ किसानों को जारी कर दिए गए है। 

गौरतलब है कि राजस्थान में देरी से आये मानसून का असर अब यहां के किसानों पर पड़ता नजर आ रहा है। राजस्थान के किशनगढ़ में हालत ये हो गए है कि अब किसानों को खुले में मूंग बेचनी पड़ रही है। कटाई के दौरान आई बारिश ने मूंग को खराब कर दिया है, जिससे मूंग का रंग खाकी हो गया है। वहीं दूसरी और क्रय विक्रय समिति द्वारा सरकार के भेजे नॉर्म्स के अनुसार मूंग खरीदने पर तुलाई हुई है। मूंग खरीद का कार्य भी बिना सर्वेयर जारी है। हालत ये है कि खुली नीलामी में मूंग अधिकतम 47 सौ रुपए में बिक रहा है जबकि सरकार ने मूंग का समर्थन मूल्य 6975 रुपए निर्धारित किया है। ऐसे में किसान जाए तो कहां जाएं और क्रय विक्रय समिति बिना नॉर्म्स के मूंग क्रय करें तो उसका भुगतान किसान को कैसे किया जाए। 

किशनगढ़ कृषि उपज मंडी में मूंग बेचने आये किसान गोपाल शर्मा के अनुसार मूंग की दाल को अब पानी के भाव बेचने को मजबूर होना पड़ रहा है। उन्होंने पंजीयन तो करवा दिया है लेकिन पंजीयन पास होगा या नहीं ये अभी तक नहीं पता। खेती के लिए बैंक को जो कर्ज चुकाना है उसके लिए अब मजबूरन खुले में मूंग बेचनी पड़ रही है। वहीं दूसरी और किसान जतनलाल के मुताबिक 20 से 25 दिन से वह परेशान हो रहे है। उनके मूंग की उचित कीमत भी यहां नहीं लगाई जा रही है। ऐसे में वो अपनी फसल की उचित कीमत के लिए मांग करें तो किससे करें। 

वहीं दूसरी और कृषि उपज मंडी में क्रय विक्रय सहकारी समिति की मुख्य प्रबंधक सुमित्रा चौधरी के अनुसार, "लगभग चार हजार किसानों ने पंजीयन करवा लिया है और 200 काश्तकारों की सूची भी जारी कर दी है जिनमे से सौ किसानों के मूंग की तुलाई हो चुकी है। लेकिन बारिश के चलते मूंग इस बार ख़राब है जिसके चलते मूंग काला पड़ गया है। इसीलिए नियमों के तहत किसानों को उचित दाम नहीं मिल पा रहे है।" आपको बता दें कि किसानों से सरकार ने समर्थन मूल्य पर मूंग खरीद का कार्य 11 अक्टूबर से शुरू किया था। एक किसान अधिकतम 25 क्विंटल मूंग का बेचान कर सकेगा। मूंग की खरीद 90 दिन तक होगी।

किशनगढ़ से संवाददाता इंद्रजीत उबाना की खबर 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in