Live News »

आज मध्यरात्रि से नेशनल हाईवेज पर शुरू हो जाएगा फास्टैग, बिना फास्टैग वाहनों को उठानी होगी परेशानी
आज मध्यरात्रि से नेशनल हाईवेज पर शुरू हो जाएगा फास्टैग, बिना फास्टैग वाहनों को उठानी होगी परेशानी

जयपुर: आज मध्यरात्रि से नेशनल हाईवेज पर सभी टोल प्लाजा फास्टैग हो जाएंगे. जिन वाहनों पर फास्टैग नहीं होगा उन्हें टोल प्लाजा पर सिर्फ एक लेन मिलेगी जिससे उन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ेगा. बिना फास्टैग लिए फास्ट टैग लाइन में घुसने पर जुर्माना भी देना होगा. अगर नेशनल हाईवे पर टोल प्लाजा पर बिना रुके वाहन निकालना है, तो फास्टैग बनवाना जरूरी होगा. केंद्र सरकार के नए नियमों के अनुसार अब टोल प्लाजा पर केवल एक ही लेन कैश टोल की होगी, अन्य सभी लेन से सिर्फ फास्टैग वाले वाहन ही निकल सकेंगे.

अभी भी प्रदेश में 80 फीसदी वाहनों पर ही फास्टैग लग पाया: 
राष्ट्रीय राजमार्गों पर निर्बाध ट्रैफिक के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण में फास्टैग शुरू किया है. आज मध्यरात्रि से सभी नेशनल हाईवेज के टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य हो जाएगा. जानकारी के अनुसार अभी भी प्रदेश में 80 फीसदी वाहनों पर ही फास्टैग लग पाया है. खास बात यह भी है कि फास्टैग यूजर वाहन अगर अपनी लेन से निकलेंगे तो उन्हें समय की बचत के साथ-साथ 2.5 प्रतिशत कैशबैक भी मिलेगा. जो प्रत्येक ट्रांजेक्शन के बाद फास्टैग से लिंक्ड बैंक खाते में पैसे सीधे जमा हो जाएंगे. टोल प्लाजा के अलावा बैंक शाखा से वाहन चालक फास्टैग कार्ड बनवा सकते हैं, महज 400 रुपये के खर्च में लाइफटाइम वैलिडिटी मिलेगी. फिर भविष्य में मोबाइल की तरह ही रिचार्ज कर इसे इस्तेमाल कर सकते हैं. फास्टैग नहीं लेने वाले वाहन चालकों को कैश वसूली वाली टोल लाइन में लगना होगा, फिर चाहे वहां कितनी ही लंबी लाइन क्यों न लगी हो. ऐसे में किसी तरह की परेशानी से बचने के लिए जरूरी है कि समय रहते अपनी गाड़ी में फास्टैग लगवा लें. फास्टैग लगी गाड़ियों को टोल प्लाजा पर पर्ची लेने के लिए रुकने की जरूरत नहीं होती, जिससे फ्यूल और टाइम दोनों की बचत होगी.

फास्टैग, रेडियो फ्रिक्वेंसी आईडिफिकेशन टेक्नोलॉजी पर आधारित एक टैग: 
वहीं यदि नॉन फास्टैग गाड़ी गलती से भी फास्टैग लेन से निकली, तो उस वाहन चालक पर डबल जुर्माना होगा. फास्टैग, रेडियो फ्रिक्वेंसी आईडिफिकेशन टेक्नोलॉजी पर आधारित एक टैग है. यह गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है. जैसे ही गाड़ी टोल प्लाजा पर पहुंचती है, वहां लगी डिवाइस गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगे टैग को रीड कर लेती है, और तुरंत टोल कट जाता है. अभी तक की व्यवस्था में कार्ड रीड होते ही बैरियर खुद-ब-खुद उठ जाता था. एनएचएआई के क्षेत्रिय प्रबंधक एमके जैन ने बताया कि कार मालिकों की सुविधा के लिए शहर के सभी पैट्रोल पंपों पर फास्ट टैग उपलब्ध करवाया गया है. जिससे पैट्रोल भरवाने के लिए आने लोगों के साथ अन्य लोगों को फास्ट टैग आसानी से मिल सके. पेट्रोलियम कंपनियां भी अपने ग्राहकों को आसानी से फास्ट टैग उपलब्ध करवाने के लिए शहर और बाहर पेट्रोल पंपों पर फास्ट टैग देने की व्यवस्था कर रही है. 

ट्रांजेक्शन की जानकारी मोबाइल नंबर पर एसएमएस से मिलती है:
उन्होंने बताया कि प्रदेश के सभी लगभग 72 टोल प्लाजा पर फास्ट टैग रेडियो फ्रीक्वेंसी आईडीफिकेशन टैक्नोलॉजी को लगा दिया गया है. यूजर के फास्टैग अकाउंट से होने वाले सभी ट्रांजेक्शन की जानकारी उसके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस से मिलती है. फास्टैग कार्ड लगवाने के लिए टोल प्लाजा के काउंटर के अलावा एनएचएआई द्वारा एसबीआई, आईसीआईसीआई, आईडीएफसी, एचडीएफसी और आईएचएमसीएल को अधिकृत किया है. इसके अलावा ऑनलाइन एप में पेटीएम, माई फास्टैग एप और एमजॉन पर भी आवेदन कर सकते हैं. फास्टैग के लिए गाड़ी की आरसी, गाड़ी मालिक का पासपोर्ट साइज फोटो, आईडी प्रूफ और एड्रेस प्रूफ की कॉपी देनी होगी. नेशनल हाईवे पर अब तक टोल से छूट वाले वाहनों पर भी 15 दिसंबर से जीरो बैलेंस फास्टैग लगाना होगा. 

फास्टैग कार्ड में कम से कम 100 रुपये का होगा रिचार्ज:
केंद्र सरकार ने ऐसे सभी लोगों और विभागों को जीरो बैलेंस फास्टैग लेने के लिए कह दिया था. फास्टैग न होने पर ऐसे वाहन चालकों को ‘टोल फ्री व्हीकल’ होने का प्रमाण-पत्र देना होगा. ऐसे वाहनों को टोल पर बनी सिंगल कैश लेन से गुजरना पड़ेगा. फास्टैग कार्ड में कम से कम 100 रुपये से लेकर अधिकतम कितने भी पैसे डलवा सकते हैं, जो उसमें लाइफटाइम तक रहेंगे. कार्ड खराब हो जाने की सूरत में 100 रुपये में नया कार्ड खरीदा जा सकता है. टोल से रोज अप-डाउन करने वाले स्थानीय लोगों के निजी वाहनों का मासिक पास पहले की तरह 235 रुपये में ही बनेगा. कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि फास्टैग योजना से समय की बचत होने के साथ ही राष्ट्रीय राजमार्गों पर यातायात सुगम और सुरक्षित हो जाएगा. अब देखना यह होगा कि राज सरकार कब स्टेट हाईवेज पर फास्ट टैग की योजना को शुरू करेगी.  

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in