Live News »

पिता ने दो मासूम बेटियों सहित पत्नी को तलवार से काट डाला, फिर खुद ने लगाया फांसी का फंदा

पिता ने दो मासूम बेटियों सहित पत्नी को तलवार से काट डाला, फिर खुद ने लगाया फांसी का फंदा

सिरोही: जिले के सरूपगंज थाना क्षेत्र के इसरा गांव में एक व्यक्ति ने अपने ही परिवार को तलवार से काटकर मौत के घाट उतार दिया. वहीं खुद ने भी फांसी के फंदे पर खुलकर खुदकुशी कर ली. वारदात की सूचना मिलते ही पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई.  तुरन्त ही इसरा पुलिस चौकी सहित सरूपगंज थाने को घटना की सूचना दी गई. थानाधिकारी शिवराजसिंह तुरन्त जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को भी दी. जिस पर जिला कलेक्टर सुरेन्द्रकुमार सोलंकी, पुलिस कप्तान कल्याणमल मीना, डिप्टी प्रवीणकुमार सेन भी मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मौका मुआयना किया.

घटना स्थल से हत्या में प्रयुक्त तलवार को बरामद 
घटना स्थल से हत्या में प्रयुक्त तलवार को बरामद कर लिया गया हैं. वहीं एफएसएल टीम को भी मौके पर बुलाया गया. जिसने वारदात स्थल से कई साक्ष्य जुटाए. प्रारम्भिक जांच में पुलिस को हत्या का कारण परिवार की आर्थिक तंगी सामने आ रहा हैं. पुलिस ने चारों शवों को कब्जे में सरूपगंज अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया हैं. जहां मेडिकल बोर्ड से चारो शवों का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा. फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी हैं.

घर के कमरे में ही लकड़ी की बळी से लटककर खुदकुशी की
आपको बता दें सरूपगंज थाना क्षेत्र के इसरा गांव के रहने वाले प्रभाराम ने अपनी दो मासूम बेटियों सहित अपनी पत्नी को तलवार से काटकर मौत के घाट उतारने के बाद खुद ने भी घर के कमरे में ही लकड़ी की बळी से लटककर खुदकुशी कर ली हैं. ग्रामीण बताते हैं कि पिछले एक साल से प्रभाराम का परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा था. उसी के चलते प्रभाराम ने अपनी पत्नी गीता व दो मासूम पुत्रियों की तलवार से काटकर हत्या कर दी एवं खुद ने भी फांसी लगाने का ये खोंफजदा कदम उठाया होगा. हालांकि अभी ये जांच का विषय हैं. जैसे जैसे पुलिस की जांच आगे बढ़ेगी वैसे वैसे ही इस जघन्य हत्याकांड का पर्दाफाश हो पायेगा.

...सहयोगी तुषार पुरोहित के साथ विक्रमसिंह करणोत, 1st इंडिया न्यूज सिरोही
 

और पढ़ें

Most Related Stories

गर्मी की दस्तक के साथ ही पेयजल की किल्लत, नल के पास दिनभर बैठने के बाद एक घड़ा पानी होता है नसीब  

गर्मी की दस्तक के साथ ही पेयजल की किल्लत, नल के पास दिनभर बैठने के बाद एक घड़ा पानी होता है नसीब  

सिरोही: गर्मी की दस्तक के साथ ही सिरोही जिले के कई गांवों में पीने के पानी की समस्या खड़ी होने लगी है. अभी तो भीषण गर्मी का दौर बाकी हैं, और अभी से ही हालात इतने विकट हो गए कि आदिवासी अंचल आबूरोड़ तहसील के क्यारियां ग्राम पंचायत के रेड़वा कलां गांव की महिलाओं को पानी के लिए पूरे दिन नल के सामने बैठना पड़ रहा हैं. यहां कि महिलाएं बताती हैं कि उन्हें पीने के पानी के लिए जंग लड़नी पड़ती हैं तब जाकर कहीं एक घड़ा पानी नसीब हो पाता हैं.

पीने का पानी नहीं होता है नसीब:
महिलाएं कहती हैं कि उन्हें नहाए हुए करीब एक महीना हो गया. महिलाओं का यह दावा 100 प्रतिशत सही लगता हैं जब पीने के लिए इन्हें पानी नसीब नही हो रहा हैं तो नहाना तो बाद की बात हैं. हालांकि शासन प्रशासन ने इस गांव के ग्रामीणों के पीने के लिए जगह जगह हैंडपंप खुदवा रखे हैं, लेकिन ग्राउंड लेवल पर पानी काफी नीचे चले जाने से ये हैण्डपम्प मात्र शॉपिस बनकर रह गए हैं.

भरतपुर की सेवर जेल तक पहुंचा कोरोना वायरस, सब्जी सप्लाई करने वाला निकला संक्रमित

पेयजल की भंयकर समस्या:
गांव के आम चौहटे पर लगा ये सोलर पंप भी बून्द बून्द पानी दे रहा है, जिसके आगे दर्जनों मटके रखे हुए है, लेकिन एक मटके को भरने में यहां करीब एक घण्टे का समय लग जाता है. ऐसे में एक घड़े पानी की जद्दोजहद में कई बार यहां की महिलाओं में आपसी झगड़े भी हो जाते हैं. यहां के बाशिन्दों ने पेयजल की इस भंयकर समस्या को लेकर जलदाय विभाग के अधिकारियों, उपखण्ड प्रशासन और यहां के जनप्रतिनिधियों को भी समस्या से अवगत करवाया, लेकिन अभी तक इन ग्रामीणों की समस्या जस की तस बनी हुई हैं.1st इंडिया की टीम ने मौके पर जाकर जायजा लिया.

राजकीय सम्मान के साथ हुआ SHO विष्णुदत्त विश्नोई का अंतिम संस्कार, नम आंखों से हजारों लोगों ने दी अंतिम विदाई

प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी, बसों और ट्रेन के माध्यम से भिजवाया जा रहा है अपने राज्य

प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी, बसों और ट्रेन के माध्यम से भिजवाया जा रहा है अपने राज्य

सिरोही: कोविड- 19 की वजह से सिरोही जिले में राजस्थान राज्य से बाहर के राज्यों के फंसे श्रमिकों को अपने गृह राज्य में भेजने हेतु राज्य सरकार के निर्देशानुसार विशेष ट्रेन और बसों के माध्यम से सिरोही जिले से उत्तरप्रदेश राज्य के 1690, बिहार राज्य के 425, झारखंड राज्य के 94, पश्चिम बंगाल राज्य के 565, मध्यप्रदेश राज्य के 289 एवं अन्य राज्यों के फंसे श्रमिकों को भेजने की जिला प्रशासन ने तैयारी कर ली हैं. जिसके तहत आज जोधपुर रेलवे स्टेशन से सहारनपुर रूट के लिए जाने वाली विशेष ट्रेन के लिए सिरोही से 165 प्रवासी श्रमिकों को सिरोही पैवेलियन से 03 बसों के माध्यम से जोधपुर रेलवे स्टेशन के लिए रवाना किया गया.

जलदाय विभाग की विशेष पहल, अब गर्मियों में पेयजल प्रबंधन की आईवीआरएस से भी मॉनिटरिंग

प्रवासी श्रमिकों को किया पाली रेलवे स्टेशन से रवाना: 
सहारनपुर रूट की विशेष ट्रेन में अलीगढ, बदायु, संत कबीर नगर, बुलंदशहर, कासगंज, गाजीयाबाद और बिजनौर जिले के प्रवासी श्रमिकों को अपने गृह राज्य में भिजवाया जा रहा हैं. इसी क्रम में कल 16 मई को गोरखपुर रूट के 142 प्रवासी श्रमिको को गृहराज्य उत्तरप्रदेश के अम्बेडकर नगर, फैजाबाद, सुल्तानपुर, अमेठी, अयोध्या, दरिया, गोरखपुर, कुशीनगर व महाराजगंज भेजा जाएगा.वहीं 18 मई को पश्चिम बंगाल के डिविजन प्रैसीडेन्सी मेजीनपुर, मुजवान, मालदा व जलपायी गुरी के प्रवासी श्रमिकों को पाली रेलवे स्टेशन से रवाना किया जाएगा.

मैसेज के जरिए करवा रहे है अपना रजिस्ट्रेशन:
पश्चिम बंगाल के लिए एक विशेष ट्रेन 18 मई को जाना तय हुआ है. पश्चिम बंगाल जाने वाले जिन प्रवासियों ने पंजीयन करवा लिया है, उनको पुनः पंजीयन करवाने की जरूरत नहीं है और जिन्होंने पंजीयन नहीं करवाया है, वे प्रवासी अपना नाम जिला प्रशासन के व्हाट्सऐप नम्बर 9414275618 पर नाम, पता, मोबाइल नम्बर लिखकर एक मैसेज के जरिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. इस व्यवस्था में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी भागीरथ विश्नोई के नेतृत्व में उपखण्ड अधिकारी हंसमुख कुमार की टीम एवं जिला परिषद् माईग्रेशन नियन्त्रण कक्ष के सहयोग से श्रमिकों को अपने गृह राज्य भिजवाने का कार्य किया जा रहा है.

नियुक्ति में चयन के बाद भी नहीं करवाया पद ग्रहण, हाईकोर्ट ने प्रमुख सचिव चिकित्सा सहित 4 को जारी किया नोटिस

सिरोही में दो कारों में जबरदस्त भिड़ंत, हादसे में 4 लोगों की हुई मौत 

जयपुर: कोरोना वायरस से बचाव के लिए किए गए लॉकडाउन में भी रफ़्तार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मामला राजस्थान के सिरोही जिले का है, जहां पर शुक्रवार दोपहर दो कारों की जबरदस्त भिड़ंत हो गई. इस हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई. 

वीसी के जरिए हुई शिक्षा विभाग की ​बैठक, दसवीं और बारहवीं की परीक्षाओं को लेकर हुई विस्तृत चर्चा

सभी मृतक एक ही परिवार के सदस्य:
जबकि घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया. जहां पर घायलों का इलाज जारी है. घटना की सूचना मिलते ही आबूरोड सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची. यह हादसा सदर थाना के किवरली के पास घटित हुआ. सभी मृतक एक ही परिवार के बताये जा रहे है. कार में फंसे मृतकों के शवों को निकालने के प्रयास हो रहे है. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है. 

Rajasthan Corona Updates: उदयपुर में फूटा कोरोना बम! एक साथ 58 नए कोरोना संक्रमित मरीज आए सामने, पूरे इलाके में लगाया महाकर्फ्यू

सिरोही ग्रीन जोन से हुआ ऑरेंज जोन, चलिए जानते है कैसे पहुंचा जिले तक कोरोना संक्रमण

 सिरोही ग्रीन जोन से हुआ ऑरेंज जोन, चलिए जानते है कैसे पहुंचा जिले तक कोरोना संक्रमण

सिरोही: आखिर सिरोही जिला भी कोरोना संक्रमण की भेंट चढ़ गया. गुरुवार सुबह चिकित्सा महकमें को मिली रिपोर्ट में एक युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट मिली है. रिपोर्ट मिलते ही पूरा जिला प्रशासन हरकत में आ गया.चिकित्सा महकमें से कोरोना पॉजिटिव की जानकारी लेकर मरीज के पैतृक गांव को सील करवाया गया. उसके पूरे परिवार को 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में लाया गया. आपको बता दें 2 मई को यह युवक एक निजी बस में गुजरात के अहमदाबाद से सिरोही पहुंचा था. इस बस में सिरोही जिले के जामोतरा, बावली, नवारा सहित कई गांवों के प्रवासी भी मौजूद थे.जिन्हें चिकित्सा विभाग ने जांचकर होम आईसोलेशन में रहने के निर्देश दिए थे,  वही इस व्यक्ति की जांच में कोरोना के सेप्टम दिखाई देने से इसे जिला अस्पताल में बने आईसोलेशन वार्ड में ही रखा गया था.

COVID-19: देश में 24 घंटो में 3500 नए केस, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 52 हजार 952, अब तक 1783 लोगों की मौत 

अहमदाबाद से आया था सिरोही:
अब इसे सीएमएचओ डॉ राजेशकुमार की दूरदर्शिता कहा जा सकता हैं कि इस व्यक्ति को उसी दिन से आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया जिस दिन ये अहमदाबाद से सिरोही पहुंचा था. यदि इसे घर जाने के लिए छोड़ दिया जाता तो आज 5 दिनों में ये व्यक्ति कई अन्य लोगों के सम्पर्क में आकर दूसरे लोगो को भी संक्रमित कर सकता था.आज सुबह जैसे ही इस व्यक्ति की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई. प्रशासन ने इसकी ट्रेवल हिस्ट्री निकालनी शुरू कर दी हैं. ये व्यक्ति जिन जिन लोगो के सम्पर्क में आया उनको भी आइसोलेट करके कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए जाएंगे. जिला मजिस्ट्रेट भगवतीप्रसाद ने कोरोना पॉजिटिव मरीज के गांव नया खेड़ा में कर्फ्यू लगा दिया हैं.वही पूरे गांव को सील कर दिया हैं.अब इस गांव में किसी भी व्यक्ति को अंदर बाहर आने जाने की परमिशन नही मिलेगी.यहां तक कि मीडियाकर्मियों को भी इस गांव में प्रवेश की इजाजत नही रहेगी.

सोशल डिस्टेंसिंग और लॉक डाउन का पूरी तरह से पालन:
जब से कोरोना महामारी आई हैं तब से ही सिरोही जिला इस महामारी से कोसो दूर था. लेकिन पिछले दिनों राजनेताओ में अपनी राजनीति चमकाने की होड़ ने आज सिरोही जिले को भी कोरोना से संक्रमित कर दिया.जिले के राजनेताओं में प्रवासियों को जिले में लाने की एक प्रकारसे होड़ सी मच गई.प्रवासियों को जिले में लाने के लिए राजनेताओ द्वारा जिला प्रशासन पर अनुचित दबाव बनाए गए.जिला कलक्टर ने पिछले दिनों एक आदेश जारी कर दूसरे राज्यो के कोरोना हॉटस्पॉट वाले जिलों में निवास करने वालो के सिरोही जिले में प्रवेश पर रोक के आदेश किए तो जिले के राजनेताओ की भृकुटि तन गई और इन नेताओं ने बॉर्डर पर जाकर बॉर्डर के उस पार खड़े प्रवासियों के सामने जिला प्रशासन को खरी खोटी सुनाई जिला प्रशासन को भी राजनैतिक दवाब के चलते अपने आदेश हाथोंहाथ वापस लेने पड़े और आज इसका परिणाम भी सामने आ गया.सिरोही जिला जो अब तक ग्रीन जोन में था, आज वो जिला भी कोरोना के संक्रमण से ऑरेंज जोन में आ गया. राजनेताओ ने तो राजनीति चमकाने के चक्कर मे जिले को कोरोना का तोहफा दे दिया पर अब जिलेवासियों को अपनी सूझबूझ दिखाते हुए सोशल डिस्टेंसिंग और लॉक डाउन का पूरी तरह से पालन कर कोरोना से खुद को बचाना होगा.

अब राजस्थान की सीमाएं पूरी तरह से सील, एंट्री के लिए केवल गृह विभाग देगा स्वीकृति

युवती को शादी के लिए भगाकर ले जाने पर दो गुटों में चली तलवारें, पिता-पुत्र की मौत, पांच घायल

युवती को शादी के लिए भगाकर ले जाने पर दो गुटों में चली तलवारें, पिता-पुत्र की मौत, पांच घायल

आबूरोड(सिरोही): आबूरोड के मानपुर के ऋषिकेश उमरनी मार्ग पर पुरानी रंजिश के चलते दो गुटों में विवाद हो गया. आपस में भिड़े दोनों गुटों में तलवारें निकल आई. तलवार के हमले से सात लोग घायल हो गए. घायलों को उपचार के लिए राजकीय चिकित्सालय ले जाया गया. जहां उपचार के दौरान एक युवक ने दम तोड़ दिया. गंभीर रुप से घायल दो लोगों को सिरोही रेफर किया गया. सिरोही चिकित्सालय में घायल वृद्ध ने दम तोड़ दिया. वहीं एक अन्य घायल का उपचार जारी है. मौके पर पहुंची सदर पुलिस ने आवश्यक कार्यवाही को अंजाम दिया. पुलिसे ने पुलिस ने तीन लोगों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया.

VIDEO: कोरोना की जंग के बीच इबादत का महिना, सियासी दलों की अपील घर में रहकर करे इबादत 

शादी की नियत से युवती को भगाकर ले जाने हुआ विवाद:
मानपुर ऋषिकेश मार्ग के रहवासी युवती भारती को दो माह पहले शादी की नियत से भगाकर ले जाने की बात के चलते दो गुटों में रंजिश थी. इसी रंजिश के तहत दोनों गुटों में विवाद हो गया. तलवार व धारदार हथियार से मारपीट शुरु हो गई. तलवार के हमले में समाराम (55) मूंगिया बावरी, शांतिलाल मूंगिया बावरी, ताराराम मूंगिया वागरी, हेमा मंगिया वागरी, बसंती मूंगिया वागरी गम्भीर घायल हो गए. दूसरे गुट के गोविंद व सुनिता घायल हो गए. घायलों को उपचार के लिए आकराभट्टा राजकीय चिकित्सालय ले जाया गया. जहां उपचार के दौरान शांतिलाल ने दम तोड़ दिया. समाराम व ताराराम को सिरोही रेफर कर दिया गया. जहां समाराम ने दम तोड़ दिया. पुलिस ने वेलकम पुत्र रूपाराम, देवाराम पुत्र उमाराम व गोविंद पुत्र रूपाराम के खिलाफ मारपीट करने समेत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया. साथ ही दोनों शवों को मोर्चरी में रखवाया. फिलहाल पुलिस जांच में जुटी है.

अतिरिक्त जिला कलेक्टर और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जिला सिरोही ने किया मंडार का दौरा

अतिरिक्त जिला कलेक्टर और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जिला सिरोही ने किया मंडार का दौरा

सिरोही: प्रदेशभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है. इसी के चलते प्रदेश में लॉकडाउन है. कोरोनावायरस संक्रमण की वजह से राज्य सरकार द्वारा जारी लॉक डाउन और जारी निषेधाज्ञा के मध्य नजर बुधवार को अतिरिक्त जिला कलेक्टर रिसपाल सिंह तथा अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक हर्ष रतनू ने मंडार का दौरा किया.

स्वास्थ्य विभाग ने किया खंडन, कहा-भागे नहीं, गलतफहमी में घर चले गए थे कोरोना के 9 संदिग्ध पेशेंट

व्यवस्थाओं का​ लिया जायजा:
उन्होंने राजस्थान गुजरात सीमा के नाके, कस्बा मंडार, ग्राम पंचायत जेतावाडा और ग्राम पंचायत बांट का दौरा कर वहां की व्यवस्थाएं और पुलिस द्वारा करवाई गई लॉक डाउन की पालना की जानकारी ली. 

सख्ती से पालना करवाने के निर्देश:
गुजरात राजस्थान की सीमा बंदी की जानकारी ली, दोनों अधिकारियों द्वारा पुलिस की सीमा बंदी लॉकडाउन की पालना करवाने के बारे में पुलिस की व्यवस्था की प्रशंसा की और  गुजरात राजस्थान सीमा पर और सख्ती से पालना करवाने के निर्देश दिए. 

आरपीएफ ने लिया जयपुर जंक्शन के कुली परिवारों को गोद, खाद्य सामग्री सहित जरूरत का सभी समान कराएंगे उपलब्ध

एक ही परिवार की चार युवतियों ने की सामूहिक आत्महत्या की कोशिश, तीन बहनों ने इलाज के दौरान तोड़ा दम

एक ही परिवार की चार युवतियों ने की सामूहिक आत्महत्या की कोशिश, तीन बहनों ने इलाज के दौरान तोड़ा दम

पिंडवाड़ा(सिरोही): जिले के पिंडवाड़ा थाना क्षेत्र के झाड़ोली गांव में आज एक सनसनीखेज सामूहिक आत्महत्या का मामला सामने आने से लोगो में दहशत का माहौल छा गया.  दरअसल हुआ यूं कि आज सवेरे झाड़ोली गांव निवासी कालूराम की तीन पुत्रियों व एक पुत्रवधु ने एक साथ जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या की कोशिश की. जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक्त कालूराम का पुत्र गोविंद दूध लेने गया हुआ था. जैसे ही गोविंद घर आया तो तीन बहिनों व खुद की पत्नी को बेहोशी की हालात में पड़ा देखकर एक बरगी तो घबरा गया पर तुरन्त ही तीनों को लेकर अस्पताल पहुंचा. साथ ही घटना की जानकारी पिंडवाड़ा थाना पुलिस को भी दी. जिस पर थानाधिकारी सुमेरसिंह जाब्ते के साथ अस्पताल पहुंचे. 

Rajasthan Corona Update:  प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 348, देश में मरने वालों का आंकड़ा पहुंचा 149 

इलाज के दौरान तीनों बहनों ने दम तोड़ दिया:
झाड़ोली अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद चारों युवतियों को उच्च इलाज के लिए जिला अस्पताल रेफर किया गया. जिन्हें सिरोही जिला मुख्यालय स्थित ट्रोमा सेंटर लाया गया. इधर घटना की जानकारी मिलते ही एसपी कल्याणमल मीना भी ट्रोमा सेंटर पहुंचे. इसी बीच इलाज के दौरान तीनों बहनों ने दम तोड़ दिया. वही गोविंद की पत्नी का अभी भी इलाज जारी हैं. इन सभी युवतियों ने किस कारण से जहर खाया इसकी अभी तक कोई ठोस वजह सामने नही आई हैं. पर पुलिस प्रथमदृष्टया इसे घरेलू क्लेश से जोड़कर देख रही हैं.

VIDEO: मई-जून के लिए ट्रेनों में 60 फीसदी तक बुक हुई सीटें, रेलवे को एक साथ भीड़ होने से संक्रमण फैलने का डर 

अभी तक परिजनों ने इस मामले की लिखित रिपोर्ट पुलिस को नही दी:
परिजन हादसे के बाद से ही सदमे हैं और उनका रो-रोकर बुरा हाल हैं. पुलिस लगातार परिजनों को ढांढस बढ़ाकर इत्मीनान से पूरे मामले की जानकारी ले रही हैं. अभी तक परिजनों ने इस मामले की लिखित रिपोर्ट पुलिस को नही दी हैं. परिजनों द्वारा रिपोर्ट देने के बाद ही सामूहिक आत्महत्या के कारणों की जानकारी मिल पाएगी. 

...विक्रमसिंह करणोत, 1st इंडिया न्यूज सिरोही

खेत की बाड़ के पास चारे के नीचे छुपाकर रखी थी अवैध शराब, 2 आरोपी गिरफ्तार

खेत की बाड़ के पास चारे के नीचे छुपाकर रखी थी अवैध शराब, 2 आरोपी गिरफ्तार

मंडार (सिरोही): प्रदेश के सिरोही जिले की मंडार पुलिस अवैध शराब तस्करी के धंधे के विरुद्ध लगातार कार्रवाई कर रही हैं. मंडार पुलिस द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के बचाव के लिए जारी लॉकडाउन की पालना की व्यस्तम ड्यूटी के बावजूद सिरोही जिला पुलिस कप्तान कल्याण मल मीणा के निर्देश पर लगातार अभी अवैध शराब और मादक पदार्थ  की तस्करी  के विरुद्ध बड़ी कार्रवाई जारी हैं. 

Coronavirus Updates: देश में लगातार बढ़ रहे है कोरोना के मामले, पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 4 हजार पार, अब तक 114 लोगों की मौत

हरियाणा निर्मित अवैध अंग्रेजी शराब जब्त:
मंडार थानाधिकारी छगन डांगी ने थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत रायपुर के गांव जालमपुरा की सरहद पर स्थित नटवर सिंह राजपूत के कृषि कुंए पर दबिश देकर निवास स्थान के एकदम नजदीक कंटीली बाड़ के पास चारे के नीचे छुपाकर रखी 40 कार्टून हरियाणा निर्मित अवैध अंग्रेजी शराब जब्त कर मौके से 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया हैं. राजस्थान आबकारी अधिनियम की विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया हैं. साथ ही शेष मुलजीमान और शराब भरवाने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध की तलाश लगातार जारी है.

Coronavirus Updates: राजस्थान में 24 नए पॉजिटिव केस मिले, कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 325

Open Covid-19