Live News »

VIDEO: पिता ही निकला बेटे का हत्यारा, फिर बनाई अपहरण की झूठी कहानी

पिंडवाड़ा(सिरोही): जिले के पिंडवाड़ा थाने में दर्ज पंकज सुथार हत्याकांड का आज 19 दिन बाद आखिरकार पुलिस ने पूरे मामले से पर्दा उठा दिया हैं. पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए मृतक पंकज सुथार के पिता प्रवीण सुथार सहित कुल पांच आरोपियों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया हैं. पुलिस के अनुसार मृतक पंकज सुथार और उसके पिता प्रवीण सुथार में कई दिनों से अनबन चल रही थी. जिसको लेकर कई बार पुत्र पंकज ने पिता का गिरेबान तक पकड़ा था. जिससे खफा होकर पिता प्रवीण सुथार ने बेटे को मारने की योजना बनाई और बेटे को मारने के लिए पांच लोगों को एक लाख पच्चीस हजार रुपयों की सुपारी दी गई.

Delhi Elections: रविवार को तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे केजरीवाल, रामलीला मैदान में होगा समारोह

मफलर से पंकज का गला दबाकर हत्या की:
घटना के दिन जब पंकज हमेशा की तरह बस से जनापुर चौराहे पर उतरा, जहां से उसके पिता प्रवीण सुथार ने उसे मोटरसाइकिल पर बिठाया और लकड़ी खरीदने का कहकर उसे हाईवे की तरफ लेकर गया. पहले तो उसने अपने पुत्र का मोबाइल लिया फिर अपने पास रखे एक दूसरे मोबाइल से हत्या के लिए हायर किए लोगों को बुलाया. वहां पहले से घात लगाकर बैठे प्रवीण सुथार के हायर किए गए लोग एक कमांडर गाड़ी लेकर आए, और पंकज को गाड़ी में बैठाकर सुनसान जगह पर लेकर गया. रात के अंधेरे में उन लोगों ने मफलर से पंकज का गला दबाकर हत्या कर दी. सबूत मिटाने के लिए शव पर पेट्रोल छिड़कर आग के हवाले कर दियाऔर हत्यारे वहां से फरार हो गए और इसकी सूचना प्रवीण सुथार को भी दे दी. जिस पर प्रवीण सुथार सीधे जनापुर चौराहे पहुंचा और पंकज के अपहरण की कहानी गढ़ी गई. पिंडवाड़ा थाने पहुंचकर अपहरण होने की रिपोर्ट पेश की. लेकिन प्रवीण सुथार के जनापुर चौराहे पहुंचने की पुष्टि नही होने के चलते पिंडवाड़ा पुलिस ने यह कहते हुए मामला दर्ज नही किया कि पंकज को अंतिम बार सिरोही में देखा गया था तो मामला भी सिरोही कोतवाली थाने में दर्ज किया जाएगा. जिस पर दूसरे दिन कोतवाली थाने में मामला दर्ज करवाया गया. 

आरोपी पिता ने पुलिस का ध्यान भटकाने का प्रयास किया:
वहीं मामला दर्ज होने के दूसरे दिन यानी 23 जनवरी को पंकज का शव रोहिड़ा थाना क्षेत्र के सिलवा फली के पास जंगलों में अधजली अवस्था में पड़ा मिला. शव की शिनाख्त के लिए जब प्रवीण सुथार को मौके पर बुलाया तो उसने तुरन्त शव की शिनाख्त कर इसे पंकज का शव होना बताया. पुलिस ने पिता की रिपोर्ट पर हत्या का मामला दर्ज कर पिंडवाड़ा थाना पुलिस ने अज्ञात हत्यारों की तलाश शुरू की. इस बीच आरोपी ने शातिराना अंदाज में पुलिस का ध्यान भटकाने व परिवार पर शक नही करें, उसके पूरे प्रयास किए. पहले तो जब तक हत्यारों की गिरफ्तारी नही हो तब तक शव नहीं उठाने की जिद पर अड़ गया. पुलिस प्रशासन की समझाइश के बाद शव का अंतिम संस्कार किया गया. 

AAP विधायक के काफिले पर फायरिंग में नरेश यादव नहीं थे टारगेट, हिरासत में आरोपी

हत्यारे पिता ने पुलिस पर लगाए ढिलाई बरतने का आरोप:
पुलिस इस गुत्थी को सुलझाने में लगी हुई थी कि प्रवीण सुथार ने एक बार फिर से समाज बंधुओं और ग्रामीणों को एकजुट कर पिंडवाड़ा थाने का घेराव करवाया. करीब चार घण्टे तक पिंडवाड़ा शहर का बाजार बंद रहा, लोगों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए. हत्यारे पिता ने सिरोही विधायक से मिलकर पिंडवाड़ा थानाधिकारी सुमेरसिंह पर ढिलाई बरतने की शिकायत की. विधायक संयम लोढ़ा ने इस मामले को हाईप्रोफाइल बनाने के लिए विधानसभा तक लेकर गए. पिंडवाड़ा सीआई सुमेरसिंह को हटाने की भरसक कोशिश की गई. लेकिन सीआई सुमेरसिंह अपनी टीम के साथ पंकज के हत्यारे को ढूंढने के लिए आधुनिक तकनीक के सहारे दिन रात लगे रहे. देर रात जब मामले की पहली कड़ी उनके हाथ लगी और सीधे शक की सुई मृतक के पिता पर आई, तो डिप्टी किशोरसिंह, सीआई सुमेरसिंह रात को ही उसके घर गए और प्रवीण सुथार को थाने लाया गया. प्रवीण से मनोवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ की तो एक के बाद एक राज खुलते गए और स्वयं प्रवीण सुथार ने अपने बेटे की हत्या के लिए सुपारी देने का पूरा राज खोल दिया. पुलिस ने चार हत्यारो को भी गिरफ्तार कर लिया हैं. वहीं एक आरोपी अभी तक पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं.

और पढ़ें

Most Related Stories

नगरपालिका अध्यक्ष सहित सभी पार्षद दूसरे दिन भी धरने पर, बाजार बंद करने की दी चेतावनी

नगरपालिका अध्यक्ष सहित सभी पार्षद दूसरे दिन भी धरने पर, बाजार बंद करने की दी चेतावनी

पिंडवाड़ा(सिरोही): जिले के पिंडवाड़ा नगरपालिका के अध्यक्ष सहित सभी पार्षद आज दूसरे दिन भी धरने पर बैठे हैं. आपको बता दें कल पिंडवाड़ा पालिका अध्यक्ष ने पालिका के ईओ पर भ्रष्टाचार जैसे कई गम्भीर आरोप लगाते हुए ईओ को तुरन्त हटाने की मांग की थी. जिनके समर्थन में पालिका के सभी पार्षद भी लामबंद होते हुए पालिका कार्यालय के सामने ही धरने पर बैठ गए थे.

पूरे शहर का बाजार बंद करने की चेतावनी: 
पालिका के अध्यक्ष व पार्षदों का आज दूसरे दिन भी धरना जारी हैं और मांग कर रहे हैं कि ईओ अनिलकुमार को तुरन्त प्रभाव से एपीओ कर पिंडवाड़ा की आम जनता को भ्रष्टाचार से मुक्ति दी जाए. धरनार्थियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर आज शाम तक सरकार ने ईओ को नही हटाया तो कल से पूरे शहर का बाजार बन्द कर जोरदार तरीके से विरोध प्रदर्शन किया जाएगा. इधर डिप्टी किशोरसिंह चौहान ने धरनास्थल पर पहुंचकर समझाइश के भी प्रयास किए. मगर धरनार्थी अपनी मांग पर अड़े रहे.

VIDEO: उदयपुर-पिंडवाड़ा हाईवे पर ट्रेलर और एंबुलेंस में भीषण भिड़ंत, 3 लोगों की दर्दनाक मौत 

VIDEO: उदयपुर-पिंडवाड़ा हाईवे पर ट्रेलर और एंबुलेंस में भीषण भिड़ंत, 3 लोगों की दर्दनाक मौत 

पिंडवाड़ा: उदयपुर-पिंडवाड़ा हाईवे पर आज दर्दनाक सड़क हादसा हो गया. जहां ट्रेलर और एंबुलेंस में हुई भीषण भिड़ंत में 3 लोगों की हुई दर्दनाक मौत हो गई. मिली जानकारी के अनुसार तीनों मृतक ट्रेलर में सवार थे. वहीं एंबुलेंस चालक और एक सहयोगी कैबिन में फंस गए. इसके अलावा ट्रेलर में भी एक व्यक्ति फंस गया. 

दरअसल हादसा गोगुंदा थाना इलाके के चोर बावड़ी के पास हुआ. हादसे के बाद पुलिस एवं प्रशासन के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और तीनों गंभीर घायलों को निकालने के प्रयास जारी है. 

 

भाजपा नेता के घर पकड़ी बिजली चोरी, 68 हजार का जुर्माना वसूल

भाजपा नेता के घर पकड़ी बिजली चोरी, 68 हजार का जुर्माना वसूल

पिंडवाड़ा(सिरोही): डिस्कॉम विजिलेंस टीम ने पिंडवाड़ा के भाजयुमो नगर अध्यक्ष के घर काईवाई करते हुए बिजली चोरी के आरोप में करीब 68 हजार का जुर्माना वसूला है. आपको बता दे की डिस्कॉम विजिलेंस टीम ने भाजयुमो नगर अध्यक्ष अशोक मेवाड़ा के आमली रोड़ स्थित मकान पर काईवाई को अंजाम दिया और बिजली चोरी का खुलासा किया.

घर के सामने स्थित बिजली के पोल से विद्युत चोरी: 
पड़ताल में सामने आया कि घर की सर्विस लाइन काट कर घर के सामने स्थित बिजली के पोल से विद्युत चोरी करते पाया गया. इस दरम्यान डिस्कॉम विजिलेंस टीम से एईएन दीपक बोराणा, अमृत जाटव व जेईएन लोकश शालवी ने विधुत चोरी करने के आरोप में कनेक्शन काट चार्जशीट बनाई. गौरतलब है कि करीब 68 हजार रुपये का जुर्माना भी वसूला गया है. काईवाई से कई सवाल खड़े होना भी लाजिमी है. देखने वाली महत्वपूर्ण बात यह रहेगी भाजपा ऐसे नेताओं पर क्या के काईवाई कर पाती है. 

...तुषार पुरोहित 1st इंडिया न्यूज पिंडवाड़ा

ऑनर किलिंग मामले में दूसरी बार धरने पर बैठे देवासी समाज के लोग

ऑनर किलिंग मामले में दूसरी बार धरने पर बैठे देवासी समाज के लोग

सिरोही: जिले के विरोली गांव में हुए ऑनर किलिंग के मामले को लेकर देवासी समाज के लोग आज दूसरी बार धरने पर बैठ गए हैं. देवासी समाज का आरोप हैं कि पुलिस प्रशासन आरोपियों को बचाने में लगा हुआ हैं. ऑनर किलिंग जैसे गंभीर मामले में पुलिस की जांच का रैवैया देवासी समाज को नागवार लग रहा हैं. देवासी समाज ने आज दूसरी बार पिंडवाड़ा शहर में एक विशाल रैली निकालकर पुलिस की कार्य प्रणाली के विरुद्ध नारेबाजी की. वहीं रैली के रूप में देवासी समाज ने आज पिंडवाड़ा थाने का घेराव कर रखा हैं. 

पुलिस की कार्रवाई पर उठाए सवाल: 
धरना प्रदर्शन कर रहे देवासी समाज को संबोधित करते हुए कई वक्ताओं ने पुलिस द्वारा अब तक की गई जांच व कार्रवाई पर सवाल उठाए. पूरे प्रकरण में सारथी की भूमिका में रहे टवेरा चालक को पुलिस द्वारा छोड़ना, देवासी समाज के लिए पुलिस की जांच पर शक पैदा करना सामने आया हैं. देवासी समाज के नेताओं ने कहा कि टवेरा चालक जो श्मसान भूमि तक आरोपियों के साथ में रहा. उसे पुलिस ने आरोपी नही माना, उसी प्रकार 20 दिन बाद दर्ज करवाई एफआईआर में नामजद आरोपियों में से अभी तक पुलिस ने मात्र चार आरोपियों को ही गिरफ्तार किया हैं. 

पिंडवाड़ा शहर छावनी में तब्दील: 
देवासी समाज के नेताओं ने कहा कि पूरे प्रकरण में कई पुलिसकर्मियों की भी मिलीभगत हैं, उसकी भी सीडीआर निकालकर जांच होनी चाहिए. देवासी समाज के लोगों की बड़ी संख्या देखते हुए जिला पुलिस कप्तान कल्याणमल मीना खुद पिंडवाड़ा थाने में बैठकर पूरे मामले पर नज़र बनाए हुए हैं. वहीं एएसपी नारायणसिंह, आबु डिप्टीएसपी प्रवीणकुमार व सिरोही डिप्टीएसपी ओमकुमार भी मौके पर मौजूद हैं. बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात करके पूरे पिंडवाड़ा शहर को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया हैं. हालांकि अभी तक देवासी समाज का विरोध प्रर्दशन शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा हैं. 

...विक्रमसिंह करणोत, 1st इंडिया न्यूज सिरोही

मार्कण्डेश्वर धाम खोता जा रहा अपना अस्तित्व, लोगों की आस्था होती जा रही जीर्णशीर्ण

मार्कण्डेश्वर धाम खोता जा रहा अपना अस्तित्व,  लोगों की आस्था होती जा रही जीर्णशीर्ण

पिंडवाड़ा(सिरोही): सिरोही जिले की पिंडवाड़ा तहसील के अजारी गांव में स्थित मार्कण्डेश्वर धाम में आज हजारों लोग अपने पूर्वजों की अस्तियां विसर्जन करने यहां आए है. लेकिन आस्था के केन्द्र इस धाम में जलदाय विभाग द्वारा बोरिंग खोदकर पानी की सप्लाई देने से इस आस्था के धाम में हमेशा बहने वाली आस्था की गंगा अब लुप्त सी हो गई है. जिससे अस्ति विसर्जन के लिए पानी तक नहीं है. पूर्व में जिला प्रमुख पायल परसरामपुरिया ने खुद इस धाम के विकास का प्लान बनाया था. लेकिन आज तक इस धाम में कोई विकास कार्य नहीं हुआ.

आस पास के लोग यहां अपने पूर्वजों की अस्तियां विसर्जन के लिए आते हैं
धर्म शास्त्रों में शिक्षा की देवी माने जाने वाली मां सरस्वती तथा देवो के देव महादेव के यहां मंदिर विद्यमान है . जो उपेक्षा के शिकार नज़र आ रहे है. जिला प्रशासन सिरोही की नजर-अंदाजी का ही नतीजा हैं कि आज लोगों की आस्था जीर्णशीर्ण होती जा रही हैं. लाखों श्रद्धालु यहाँ प्रतिवर्ष दर्शन को आते है. कई आस पास के लोग अपने पूर्वजों की अस्तियां विसर्जन के लिए यहां आते हैं. लेकिन आस्था के इस कुंड मे पानी नहीं होने से यहां आने वाले श्रद्धालुओं की आस्था के साथ खिलवाड़ होता नजर आ रहा हैं. लोग यहां खुले में अस्ति विसर्जन करने को मजबूर है. इस धाम को महाचमत्कारी और आमजन की गहरी आस्था से जुड़ा हुआ माना जाता हैं. देश भर से लोगों का आना जाना  रहता हैं. यहां का सरस्वती मंदिर विश्व के ख्यातनाम पांच सरस्वती मंदिरो में से एक माना जाता हैं. लोगों  का कहना है कि इस पानी में चमत्कार है. हरिद्वार में जो पुण्य मिलता है वह इस पानी में अस्ति विसर्जन करने से  मिलता है. लेकिन आस्था के इस धाम  की दुर्दशा लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचा रही हैं. पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया और पूर्व उपराष्ट्रपति स्वर्गीय भैरोसिंह शेखावत ने भी इस धाम को पर्यटन स्थल बनाने  की घोषणा की थी. बावजूद जिला प्रशासन सिरोही की नजरअंदाजी के चलते यह पवित्र धाम उपेक्षा का शिकार होता जा रहा हैं. 

लोगों को पीने के लिए भी पानी उपलब्ध नहीं 
आज के दिन यहां अस्तियां विसर्जित करने के लिए सैंकड़ों की संख्या में लोग आएं है लेकिन, अस्तियां विसर्जित करने के लिए भी पानी नही है. साथ ही लोगों के पीने के लिए भी पानी उपलब्ध नहीं है. जबकि यह एक ऐतिहासिक व पवित्र धाम है. वहीं मार्कण्डेश्वर धाम में गंदगी का आलम है जो कई सवाल खड़ा करता है.  प्रशासन इन सबकों नजरअंजाद कर आंखें मूंद कर बैठा हैं. 

....तुषार पुरोहित, 1st इंडिया न्यूज पिंडवाड़ा

करोड़ों रुपये की लागत से निर्माणधीन पुल घटिया निर्माण कार्य का शिकार - MLA

करोड़ों रुपये की लागत से निर्माणधीन पुल घटिया निर्माण कार्य का शिकार - MLA

पिंडवाड़ा(सिरोही)। पिंडवाड़ा तहसील क्षेत्र के भावरी गांव होकर गुजर रही पश्चिमी बनास नदी के ऊपर पुल का निर्माण जारी है। जिसमे दो करोड़ सत्तानवे लाख रुपये की लागत से यह पुल बनकर तैयार होगा। पुल के निर्माण कार्य की गुणवत्ता को लेकर क्षेत्रिय विधायक समाराम गरासिया ने निरीक्षण करने के बाद भारी अनियमिता उजागर हुई है जिससे.. तमाम सवाल खड़े हो गए है..और कहाँ की पुल के निर्माण में तकनीकी मापदण्डों को दरकिनार किया गया है जो भविष्य के लिए घातक है।

विधायक समाराम गरासिया ने फर्स्ट इंडिया को बताया कि निरीक्षण के दौरान घटिया सामग्री का उपयोग हो रहा है, वही बनाए गये पिलर भी सही रूप में नही बनाए है। सिर्फ पत्थर एकत्रित करके जमा कर उस पर माल डाल रहे ऐसे अनेकों अनियमितता निर्माण कार्य मे हुई है..जो निकट भविष्य में घातक साबित हो सकती है। बड़ी मुश्किल से पुल पास करवाया गया है लेकिन इस तरह की लापरवाही व अनियमिता से जनता के पैसे का दुरुपयोग हो रहा है।

निर्माणधीन पुल के ऊपर होकर दर्जनों गांवों के वाहन भविष्य में परिवहन करेंगे वही दूसरी तरफ पश्चिमी बनास नदी क्षेत्र की बड़ी नदियों की श्रेणी में सम्मिलित है। इसमें पानी की आवक बहुत तीव्र गति से होती है ऐसे में घटिया रूप से व तकनीकी मापदण्डों को दरकिनार करते हुए पुल बनाना जिम्मेदार अधिकारियों की गम्भीर लापवाही सामने आ रही है। यह लापरवाही ही नही भविष्य के लिए घातक भी है। बरहाल देखने वाली महत्वपूर्ण बात यह होगी की राज्य सरकार इस पर क्या एक्शन लेती है और उच्च लेवल की जांच बैठती है या यूंही यह खेल चलता रहेगा।

....फर्स्ट इंडिया न्यूज से तुषार राजपुरोहित की रिपोर्ट

मेघवाल समाज के मेले में शोभायात्रा की जगह निकाली मौन यात्रा, शहीदों को दी श्रद्धांजलि 

मेघवाल समाज के मेले में शोभायात्रा की जगह निकाली मौन यात्रा, शहीदों को दी श्रद्धांजलि 

पिंडवाड़ा (सिरोही)। सिरोही जिले के स्वरूपगंज में मेघवाल समाज धर्मशाला में ग्यारह गांव मेघवाल समाज का 33वां वार्षिक मेला रविवार को आयोजित किया गया। मेले में कश्मीर के पुलावामा आंतकी हमले में शहिद हुए जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। इस दौरान आयोजित बैठक में लोगों को स्वच्छता, बेटी पढाओ-बेटी बचाओ, शिक्षा के प्रति जागरूकता का सदेंश दिया गया। मेले में समाज के काफी संख्या में गणमान्य लोग मौजूद रहे।

शोभायात्रा की जगह निकाली मौन यात्रा:

स्थानीय कस्बे में मेघवाल समाज की ओर से आयोजित मेले में एक अनूठी परम्परा देखने को मिली, मेले को लेकर प्रतिवर्ष बड़ी ही धूमधाम के साथ शोभायात्रा निकाली जाती है। जिसमें युवक व युवतियां डीजे की धुनों पर नाचते गाते हुए जाते हैं, मगर जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आंतकी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए मौन यात्रा निकाली गई, जिसमें समाज के लोगों ने भाग लिया।

सादे समारोह की तरह मनाया गया मेला:

कस्बे के मेघवाल समाज धर्मशाला में मेला आयोजित किया गया। मेले को लेकर पूर्व में ही इसकी तैयारियां कर ली गई थी, मगर 14 फरवरी को हुए आंतकी हमले से हर कोई व्यथित था। जिसको लेकर सादे समारोह की तरह मेले का आयोजन किया गया व मेले के शुभारंभ से पूर्व शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। 

...सिरोही के पिंडवाड़ा से दिनेश बोहरा की रिपोर्ट

बसंत पंचमी के अवसर पर मारकुंडेश्वर धाम पहुंचे 'तारक मेहता'

बसंत पंचमी के अवसर पर मारकुंडेश्वर धाम पहुंचे 'तारक मेहता'

पिंडवाड़ा (सिरोही)। जिलेभर में बसंत पंचमी को लेकर आज मेले जैसे माहौल रहा। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार आज के दिन ही विद्या की देवी मां सरस्वती का जन्म हुआ था। इस ऐतिहासिक दिन के अवसर पर दूर-दराज व निकटम कई गांवों के लोग दर्शन के लिए अजारी स्थित मारकुंडेश्वर धाम पहुंचते हैं और दर्शन कर खुशहाली की कामना करते हैं। इसी क्रम में आज मारकुंडेश्वर धाम में अलसुबह प्रसिद्ध टीवी सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा के मुख्य अभिनेता शैलेस लोढ़ा हर वर्ष की भांति इस बार भी मारकुंडेश्वर धाम पहुंचे व पूजा अर्चना कर मां सरस्वती का आशीर्वाद लिया। 

लोढ़ा ने मीडिया से रूबरू होते हुए बताया की लगभग तीन दशकों से में मां शारदे के दरबार में आ रहा हूं। बसंत पंचमी के दिन में हर हाल मैं यहां आता हूं, चाहे मैं दुनिया के किसी भी कोने में क्यों नहीं रहूं, पर इस अवसर पर में दर्शन करने अवश्य आता हूं। शैलेस लोढ़ा का सिरोही से अनोखा रिश्ता है, क्योंकि उनका जन्म सिरोही में ही हुआ। उन्होंने बताया की मेरी मां सिरोही की है। मेरा पूरा बचपन यहां बीता है। वहीं मेरी शिक्षा भी यहीं हुई।

मां के दरबार से दर्शन करने के बाद लोढ़ा सिरोही में मां शारदे की मूर्ति स्थापना कार्यक्रम में पहुंचे व सभी को अपने चिरपरिचित अंदाज में उदबोधन देते हुए गदगद किया। इसके अलावा उन्होंने अपने बचपन के किस्से शेयर किए, जिसको सुन पूरा सदन तालियों की गड़गड़ाहट से झूम उठा। इस दरम्यान पुरीबाई पुनमाजी माली चेरिटेबल ट्रस्ट सिरोही के द्वारा राजकीय विद्यालय पुराना भवन सिरोही में बनाएं गए मां शारदे के नवीन मंदिर में मूर्ति स्थापना का कार्यक्रम वैदिक मंत्रोच्चार के साथ धूमधाम से सम्पन्न हुआ। इसी कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि अभिनेता व कवि शैलेस लोढ़ा ने शिरकत की तो कार्यक्रम की अध्यक्षता अतरिक्त पुलिस अधीक्षक सिरोही नारायण सिंह राजपुरोहित ने कर कार्यक्रम की ऐतिहासिक शोभा बढ़ाई। 

...पिंडवाड़ा से तुषार राजपुरोहित की रिपोर्ट 
 

Open Covid-19