सीआरपीएफ और देश के लिए खास होगा 14 फरवरी का दिन

सीआरपीएफ और देश के लिए खास होगा 14 फरवरी का दिन

सीआरपीएफ और देश के लिए खास होगा 14 फरवरी का दिन

नई दिल्ली: देश के लिए 14 फरवरी का दिन बहुत खास है क्योंकि एक साल पहले इस दिन जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) के काफिले पर सुनियोजित तरीके से हमला हुआ था और इस हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए थे. 

14 फरवरी को हुए शहीदों की याद में एक आयोजन:
यह हमला जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने किया था. लेथपोरा कैंप में सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्स ने 14 फरवरी को हुए शहीदों की याद में एक आयोजन कर रहा है. जिसमें शहीदों को भावभीनी श्रृद्धांजली दी जाएगी, कार्यक्रम का आयोजन साधारण तरीके से किया जायेगा. 

जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ने बनाया काफिले को निशाना: 
​जम्मू-श्रीनगर हाईवे के पुलवामा जिले से पिछले साल 14 फरवरी को सीआरपीएफ का काफिला गुजर रहा था, उसी दौरान जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी सदस्य आदिल अहमद डार ने काफिले को निशाना बनाते हुए धमाका कर दिया था. यह हमला भारतवासियों के लिए ​सदमें से कम नहीं था हमले शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए पूरा देश उमड पडा था.इस समारोह में शहीदों के परिजनों को सम्मिलित नहीं किया गया है. क्योंकि इस दिन को परिवार के लिए अपने स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे. 

और पढ़ें