नई दिल्ली 6 फरवरी का इतिहास: आज ही के दिन एलिजाबेथ द्वितीय ने 1952 में ग्रेट ब्रिटेन का सिंहासन संभाला था

6 फरवरी का इतिहास: आज ही के दिन एलिजाबेथ द्वितीय ने 1952 में ग्रेट ब्रिटेन का सिंहासन संभाला था

6 फरवरी का इतिहास: आज ही के दिन एलिजाबेथ द्वितीय ने 1952 में ग्रेट ब्रिटेन का सिंहासन संभाला था

नई दिल्ली: इतिहास में छह फरवरी का अपना महत्व है. इसी दिन एलिजाबेथ द्वितीय ने 1952 में ग्रेट ब्रिटेन का सिंहासन संभाला और 1971 में इंसान ने चांद पर गोल्फ खेलने का आनंद लिया. छह फरवरी को विश्व में कई महान विभूतियों ने जन्म लिया. ‘सीमांत गांधी’ के नाम से मशहूर खान अब्दुल गफ्फार खान का जन्म 1890 में छह फरवरी को हुआ, जबकि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति और भारत में खासे लोकप्रिय रहे रोनाल्ड रेगन का जन्म भी 1911 में इसी दिन हुआ था.

1890: महान स्वतंत्रता सेनानी भारत रत्न खान अब्दुल गफ्फार खान का जन्म.

1911: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति रोनाल्ड रेगन का जन्म. रोनाल्ड विल्सन रेगन अपने शानदार व्यक्तित्व और अंदाज के कारण दुनिया भर में खासे लोकप्रिय रहे. वह इस पद पर पहुंचने वाले एकमात्र फिल्म अभिनेता थे.

1931: मोतीलाल नेहरू का निधन.

1952: एलिजाबेथ द्वितीय ने ग्रेट ब्रिटेन की राजगद्दी संभाली. उन्होंने वर्ष 2002 में ब्रिटिश के राज सिंहासन पर अपने 50 वर्ष पूरे करने का जश्न मनाया था.

1958: म्यूनिख में एक विमान दुर्घटना में 21 लोग मारे गए. इनमें मैनचेस्टर यूनाइटेड फुटबाल क्लब के सात खिलाड़ी भी थे.

1959: श्रीमती अन्ना चांडी केरल उच्च न्यायालय की पहली महिला न्यायाधीश नियुक्त हुईं.

1971: अपोलो 14 के जरिए चांद पर पहुंचे एलन शेपर्ड ने दो दिन तक चांद पर चहलकदमी के दौरान एक गोल्फ़ क्लब से गोल्फ बॉल को हिट किया और चांद पर गोल्फ़ खेलने वाले पहले व्यक्ति बन गए.

1993: अमेरिका के टेनिस खिलाड़ी आर्थर ऐश का एड्स से जुड़े निमोनिया से निधन. वह ग्रैंड स्लैम जीतने वाले पहले अश्वेत खिलाड़ी थे.

2001: इजराइल में दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी के एरियल शेरॉन ने चुनाव में जीत हासिल की. शेरॉन एक निडर सैनिक और राजनीतिज्ञ माने जाते थे और साल 1982 में लेबनान हमले के दौरान उन्होंने रक्षा मंत्री के तौर पर अहम भूमिका निभाई थी.

2002: भारत ने अपने नभ सीमा क्षेत्र में घुसे पाकिस्तान के जासूसी विमान को मार गिराया.

2008 : भारत सरकार ने असम के माजुली द्वीप को वर्ष 2008 की विश्व विरासत सूची में शामिल कराने के लिए सांस्कृतिक भू-स्थल श्रेणी में जोड़ा. सोर्स- भाषा

और पढ़ें