महिला डॉक्टर ने मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की व्हाट्सएप ग्रुप में कही बात, तीन नामजद के खिलाफ मामला दर्ज

महिला डॉक्टर ने मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की व्हाट्सएप ग्रुप में कही बात, तीन नामजद के खिलाफ मामला दर्ज

महिला डॉक्टर ने मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की व्हाट्सएप ग्रुप में कही बात, तीन नामजद के खिलाफ मामला दर्ज

सरदारशहर(चूरू): डॉक्टर को धरती का भगवान कहा जाता है और कहा भी जाना चाहिए  क्योंकि एक मरते हुए व्यक्ति को डॉक्टर ही बचा सकता है, लेकिन  सरदारशहर की एक महिला डॉक्टर द्वारा व्हाट्सएप ग्रुप में मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की बात सामने आई है और यह स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर अब जमकर वायरल हो रहे हैं. सोशल मीडिया पर वायरल हुई चैट मामले में सरदारशहर पुलिस ने कड़ा एक्शन लिया है. पुलिस ने महिला डॉक्टर भगवती सहित तीन नामजद के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 97 नये केस आए सामने, अलवर में एकबार फिर कोरोना विस्फोट

मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की व्हाट्सएप ग्रुप में बात कही: 
महिला डॉक्टर तारानगर तहसील के बुचावास गांव में राजकीय स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत है जबकि इनके पति सरदारशहर के ताल मैदान स्थित निजी हॉस्पिटल में डॉक्टर है  जानकारी के अनुसार सरदारशहर की एक महिला डॉक्टर ने मुस्लिम समुदाय का इलाज न करने की व्हाट्सएप ग्रुप में बात कही थी BARDIA RISE नाम के वॉट्सऐप ग्रुप की आपत्तिजनक चैट वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर बवाल मच गया. कथित ग्रुप की चैट्स पर हिंदू-मुस्लिम को लेकर भी कई तरह की भड़काऊ बातें हैं इस मामले में राजस्थान मुस्लिम परिषद के जिला अध्यक्ष मकबूल खान ने पुलिस को मामले से अवगत करवाया था, जिसके बाद  सरदारशहर पुलिस ने कड़ा रुख अपनाया है. थाना अधिकारी महेंद्र दत्त शर्मा ने बताया कि व्हाट्सएप ग्रुप में चैट करने वाली महिला डॉ सहित तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है. 

मैसेज में लिखा- मुस्लिम पेशेंट को देखना ही बंद करवा दो:
ये कथित चैट BARDIA RISE नाम के वॉट्सऐप ग्रुप की हैं. इनमें एक में लिखा है. कल से मैं मुस्लिम पेशेंट का एक्स-रे नहीं करूंगा. ये मेरी शपथ है. इसी शख्स ने एक और मैसेज में लिखा- मुस्लिम पेशेंट को देखना ही बंद करवा दो. कथित ग्रुप की चैट्स पर हिंदू-मुस्लिम को लेकर भी कई तरह की भड़काऊ बातें हैं. एक मैसेज में लिखा है कि सरदारशहर में केवल मुस्लिम कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. एक में लिखा है कि अगर हिंदू पॉजिटिव होते हैं, मुस्लिम डॉक्टर होता तो हिंदुओं को कभी नहीं देखते. मैं नहीं देखूंगी मुस्लिम ओपीडी. बोल देना मैडम हैं ही नहीं यहां. 

ढाई लाख के पार पहुंचे देश में कोरोना के केस, पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा नए मामले आए 

मेसेजेस के लिए माफी मांगी:
हालांकि चैट वायरल होने के बाद सरदारशहर के श्रीचंद बराडिया रोग निदान केंद्र के डॉक्टर सुनील चौधरी ने खुद की और स्टाफ की तरफ से फेसबुक पोस्ट के जरिए इन मेसेजेस के लिए माफी मांगी है. उन्होंने कहा कि अस्पताल के स्टाफ का मकसद किसी धार्मिक समुदाय की भावनाओं को आहत करना नहीं था. एक समुदाय का इलाज ना करने का इरादा था. लेकिन फिर भी बुरा लगा इसके लिए मैं और मेरा पूरा हॉस्पिटल स्टाफ आप सबसे क्षमाप्रार्थी हैं. आपको विश्वास दिलाते हैं कि भविष्य में हमारे हॉस्पिटल की तरफ से किसी प्रकार की शिकायत का आपको मौका नहीं मिलेगा. वहीं अब सोशल मीडिया पर भी डॉ और हॉस्पिटल पर कार्रवाई की मांग उठ रही है सोशल मीडिया पर भी मामले ने तूल पकड़ रखा है. 

और पढ़ें