फिरोजाबाद में बुखार एवं डेंगू से मरने वालों की संख्या बढ़कर 50 हुई

फिरोजाबाद में बुखार एवं डेंगू से मरने वालों की संख्या बढ़कर 50 हुई

फिरोजाबाद में बुखार एवं डेंगू से मरने वालों की संख्या बढ़कर 50 हुई

फिरोजाबाद: फिरोजाबाद में बुखार एवं डेंगू से मरने वालों की संख्या शुक्रवार को बढ़कर 50 हो गयी. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. मुख्य चिकित्सा अधिकारी दिनेश कुमार प्रेमी द्वारा शुक्रवार सुबह जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि जिले में अब तक 50 लोगों की डेंगू और बुखार से मौत हो चुकी है. उन्होंने बताया कि गुरुवार देर रात तक तीन और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या 47 से 50 पर पहुंच गई है.

जिले में बुखार व डेंगू से पीड़ित लोगों का आंकड़ा निरंतर बढ़ता जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी लगातार स्थिति को संभालने का प्रयास कर रहे हैं, वहीं जिला अधिकारी भी अपनी टीम के साथ घर-घर जाकर जागरूकता अभियान चलाकर व उपचार की समीक्षा कर स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास कर रहे हैं. जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी आईएएस चर्चित गौड़ को नोडल अधिकारी बनाया है.

जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने लापरवाही बरतने के आरोप में गुरुवार देर शाम को तीन चिकित्सकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया. जिलाधिकारी कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि चिकित्सक गिरीश श्रीवास्तव प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सैलई, डॉक्टर सौरव एवं लोक स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉक्टर रुचि यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. जिलाधिकारी ने यह भी चेतावनी दी है कि यदि चिकित्सा कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही पायी गयी तो सख्त कार्रवाई की जाएगी.

दूसरी तरफ, सदर विधायक मनीष असीजा ने बुखार और डेंगू से अब तक 61 लोगों की मौत होने का दावा किया है. विधायक के अनुसार वह लगातार क्षेत्र में घूम कर पीड़ित परिवारों से मिल रहे हैं और उनके परिवार में हुई मौतों की जानकारी जुटा रहे हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 30 अगस्त को फिरोजाबाद पहुंचे थे और बीमारी से पीड़ित लोगों का हाल जानने के साथ-साथ इसे नियंत्रित करने के निर्देश दिए थे. (भाषा) 

और पढ़ें