Live News »

नोएडा सेक्टर 25 ए ​​के स्पाइस मॉल में लगी भीषण आग, दमकल की दस गाड़ियों ने पाया काबू

नोएडा सेक्टर 25 ए ​​के स्पाइस मॉल में लगी भीषण आग, दमकल की दस गाड़ियों ने पाया काबू

नोएडा: राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्सर 25 ए में स्थित स्पाइस मॉल में आज अचानक भीषण आग लग गई है. आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियां मौजूद हैं. फिलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चल सका है. हालांकि लगभग आधे घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया और फिलहाल किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है. 

दमकल की दस गाड़ियों ने पाया काबू:
दरअसल स्पाइस मॉल में लगी आग काफी भयानक थी, जिसके चलते काफी दूर तक धुएं के गुबार उठते दिखाई दिए. सोशल मीडिया पर भी घटनाक्रम के वीडियो लगातार वायरल होते रहे. मॉल में दमकल की दस गाड़ियों की मदद से आग पर काबू पाया गया, साथ ही तुरंत लोगों को भी बाहर निकाला गया. नोएडा के इस मॉल में मूवी थियेटर के साथ-साथ फूड कोर्ट, शॉपिंग मॉल के साथ-साथ कई ऐसी दुकानें हैं जहां पर अक्सर भीड़ रहती है.

और पढ़ें

Most Related Stories

लाल किले से बोले पीएम मोदी, हमारे वैज्ञानिक कोरोना वैक्सीन के लिए जी-जान से जुटे 

लाल किले से बोले पीएम मोदी, हमारे वैज्ञानिक कोरोना वैक्सीन के लिए जी-जान से जुटे 

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लाल किले पर 74वें स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराया. तिरंगा फहराने के बाद लाल किले से पीएम मोदी ने कहा कि हमारे वैज्ञानिक कोरोना वैक्सीन के लिए जी-जान से जुटे हैं. भारत में कोरोना की एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन वैक्सीन्स इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं. जैसे ही वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलेगी, देश की तैयारी उन वैक्सीन्स की बड़े पैमाने पर Production की भी तैयारी है.

नेशनल हेल्थ मिशन की शुरूआत:
पीएम मोदी ने कहा कि आपके हर टेस्ट, हर बीमारी, आपको किस डॉक्टर ने कौन सी दवा दी, कब दी, आपकी रिपोर्ट्स क्या थीं, ये सारी जानकारी इसी एक Health ID में समाहित होगी. नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन के माध्यम से लोगों को तमाम दिक्कतों से मुक्ति मिलेगी. आज से देश में एक और बहुत बड़ा अभियान शुरू होने जा रहा है. नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की शुरुआत आज हो रही है. नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, भारत के हेल्थ सेक्टर में नई क्रांति लेकर आएगा. 

PHOTOS: राज्य स्तरीय समारोह में सीएम गहलोत ने फहराया तिरंगा, प्रदेशवासियों को दी स्वाधीनता दिवस की बधाई

कोरोना काल में हुई ऑन लाइन पढ़ाई की शुरुआत: 
तकनीक के माध्यम से लोगों की परेशानियां कम होंगी. कोरोना के कालखंड में आत्मनिर्भर भारत की सबसे बड़ी सीख स्वास्थ्य क्षेत्र ने सिखाई है. जब कोरोना शुरू हुआ था तब हमारे देश में कोरोना टेस्टिंग के लिए सिर्फ एक Lab थी. आज देश में 1,400 से ज्यादा Labs हैं. कोरोना काल में ऑन लाइन पढ़ाई की शुरुआत हुई है. कोरोना के समय में हमने देख लिया है कि डिजिटल भारत अभियान की क्या भूमिका रही है.

भारत दूसरे देशों की मदद के लिए भी आगे आया:
पीएम मोदी ने कहा कि पिछले महीने ही करीब-करीब 3 लाख करोड़ रुपए का ट्रांजेक्शन अकेले BHIM UPI से हुआ है. कोरोना संकट में हमारे देश के लोगों ने बीड़ा उठाया और सिर्फ कुछ महीना पहले तक जहां N-95 मास्क, PPE किट, वेंटिलेटर, ये सब हम विदेशों से मंगाते थे. आज इन सभी में भारत, न सिर्फ अपनी जरूरतें खुद पूरी कर रहा है, बल्कि दूसरे देशों की मदद के लिए भी आगे आया.

सभी कोरोना वॉरियर्स को किया नमन:
कोरोना महामारी के बीच 130 करोड़ देशवासियों ने आत्मनिर्भर बनने का संकल्प लिया. आत्मनिर्भर भारत देशवासियों के मन-मस्तिष्क में छाया है. ये आज सिर्फ शब्द नहीं रहा, बल्कि 130 करोड़ देशवासियों के लिए मंत्र बन गया है. कोरोना के समय में, अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर्स, नर्से, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, अनेकों लोग, चौबीसों घंटे लगातार काम कर रहे हैं.ऐसे सभी कोरोना वॉरियर्स को भी मैं आज नमन करता हूं.

बारां के शाहाबाद में नदी में बहे तीन लोग, संतुलन बिगड़ने की वजह से हुआ हादसा, एक की मौत

Independence Day 2020: लाल किले से पीएम मोदी बोले- भारत को आत्मनिर्भर बनना ही है

Independence Day 2020: लाल किले से पीएम मोदी बोले- भारत को आत्मनिर्भर बनना ही है

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लाल किले पर 74वें स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराया. तिरंगा फहराने के बाद राष्ट्र को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज जो हम स्वतंत्र भारत में सांस ले रहे हैं, उसके पीछे मां भारती के लाखों बेटे-बेटियों का त्याग, बलिदान और मां भारती को आजाद कराने के लिए समर्पण है. आज ऐसे सभी स्वतंत्रता सेनानियों को, वीर शहीदों को नमन करने का ये पर्व है. 

Independence Day 2020: पीएम मोदी ने लगातार 7वीं बार लाल किले पर तिरंगा फहराकर बनाया अनोखा रिकॉर्ड

सभी कोरोना वॉरियर्स को भी मैं आज नमन करता हूं: 
उन्होंने कहा कि कोरोना के समय में, अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर्स, नर्से, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, अनेकों लोग, चौबीसों घंटे लगातार काम कर रहे हैं. ऐसे सभी कोरोना वॉरियर्स को भी मैं आज नमन करता हूं.

नए संकल्पों की ऊर्जा का एक अवसर: 
प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे विश्वास है कि 130 करोड़ देशवासियों की इच्छाशक्ति, संकल्पशक्ति हमें कोरोना पर भी विजय दिलाएगी. पीएम ने कहा कि आजादी का पर्व हमारे लिए आजादी के वीरों को याद करके नए संकल्पों की ऊर्जा का एक अवसर होता है. ये हमारे लिए नई उमंग, उत्साह और प्रेरणा लेकर आता है. अगला आजादी का पर्व जब हम मनाएंगे, तो आजादी के 75 वें वर्ष में प्रवेश करेंगे. तो ये हमारे लिए बहुत बड़ा अवसर है.

भारत ने हमेशा माना है कि पूरी दुनिया एक परिवार: 
पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने हमेशा माना है कि पूरी दुनिया एक परिवार है. जब हम आर्थिक विकास और विकास पर ध्यान केंद्रित करते हैं, मानवता को इस प्रक्रिया और हमारी यात्रा में एक केंद्रीय भूमिका बनाए रखना चाहिए. उन्होंने कहा कि एक समय था, जब हमारी कृषि व्यवस्था बहुत पिछड़ी हुई थी. तब सबसे बड़ी चिंता थी कि देशवासियों का पेट कैसे भरे. आज जब हम सिर्फ भारत ही नहीं, दुनिया के कई देशों का पेट भर सकते हैं.

दुनिया की बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियां भारत का रुख कर रही: 
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज दुनिया की बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियां भारत का रुख कर रही हैं. हमें Make in India के साथ-साथ Make for World के मंत्र के साथ आगे बढ़ना है. भारत को आधुनिकता की तरफ, तेज गति से ले जाने के लिए, देश के Overall Infrastructure Development को एक नई दिशा देने की जरूरत है. ये जरूरत National Infrastructure Pipeline Project से पूरी होगी.

विकास के मामले में देश के कई क्षेत्र भी पीछे रह गए: 
पीएम ने कहा कि विकास के मामले में देश के कई क्षेत्र भी पीछे रह गए हैं. ऐसे 110 से ज्यादा आकांक्षी जिलों को चुनकर, वहां पर विशेष प्रयास किए जा रहे हैं ताकि वहां के लोगों को बेहतर शिक्षा मिले, बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलें, रोजगार के बेहतर अवसर मिलें. उन्होंने कहा कि देश के किसानों को आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर देने के लिए कुछ दिन पहले ही एक लाख करोड़ रुपए का ‘एग्रीकल्चर इनफ्रास्ट्रक्चर फंड’ बनाया गया है.

भारत में महिलाएं अंडरग्राउंड कोयला खदानों में काम कर रही: 
पीएम ने कहा कि आज भारत में महिलाएं अंडरग्राउंड कोयला खदानों में काम कर रही हैं तो लड़ाकू विमानों से आसमान की बुलंदियों को भी छू रही हैं: PM देश के जो 40 करोड़ जनधन खाते खुले हैं, उसमें से लगभग 22 करोड़ खाते महिलाओं के ही हैं.कोरोना के समय में अप्रैल-मई-जून, इन तीन महीनों में महिलाओं के खातों में करीब-करीब 30 हजार करोड़ रुपए सीधे ट्रांसफर किए गए हैं.

राजस्थान: गहलोत सरकार ने हासिल किया विधानसभा में विश्वास मत, 21 अगस्त तक सदन की कार्यवाही स्थगित

देश में डेढ़ लाख ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा गया:
उन्होंने कहा कि कोरोना के समय में हमने देख लिया है कि डिजिटल भारत अभियान की क्या भूमिका रही है. अभी पिछले महीने ही करीब-करीब 3 लाख करोड़ रुपए का ट्रांजेक्शन अकेले BHIM UPI से हुआ है. साल 2014 से पहले देश की सिर्फ 5 दर्जन पंचायतें ऑप्टिल फाइबर से जुड़ी थीं. बीते पांच साल में देश में डेढ़ लाख ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा गया है. पीएम ने कहा कि आने वाले एक हजार दिन में इस लक्ष्य को पूरा किया जाएगा. आने वाले 1000 दिन में देश के हर गांव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जाएगा.


 

Independence Day 2020: पीएम मोदी ने लगातार 7वीं बार लाल किले पर तिरंगा फहराकर बनाया अनोखा रिकॉर्ड

Independence Day 2020: पीएम मोदी ने लगातार 7वीं बार लाल किले पर तिरंगा फहराकर बनाया अनोखा रिकॉर्ड

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कोरोना वायरस संकट के बीच लाल किले पर 74वें स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराया. इसी के साथ एक नया एक अनोखा रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया है. प्रधानमंत्री मोदी लगातार सातवीं बार लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फरहराने वाले देश के चौथे प्रधानमंत्री और पहले गैर-कांग्रेसी पीएम बन गए हैं. इससे पहले सात या उससे ज्यादा बार लाल किले पर तिरंगा फहराने वाले प्रधानमंत्रियों में जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी और मनमोहन सिंह शामिल हैं.

देश के नाम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का संबो​धन,कहा-गलवान घाटी के वीरों पर देश को गर्व

पीएम को ‘राष्ट्रीय-गार्ड’ नेशनल-सैल्यूट दिया गया: 
राष्ट्रीय ध्वज फहराने के तुरंत बाद ही पीएम को ‘राष्ट्रीय-गार्ड’ नेशनल-सैल्यूट दिया गया. राष्ट्रीय-गार्ड में तीनों सेनाओं और दिल्ली पुलिस के कुल 32 जवान हैं. थलसेना के ग्रेनेडियर रेजीमेंटल सेंटर के बैंड ने राष्ट्रगान की धुन बजाई. इस बैंड का नेतृत्व सूबेदार-मेजर अब्दुल गनी ने किया. इसके तुंरत बाद 21 तोपों की सलामी दी गई. थलसेना की फील्ड-बैटरी ने ये सलामी दी. कोरोना के चलते इस साल स्कूली बच्चे स्वतंत्रता दिवस समारोह का हिस्सा नहीं लिया. स्वतंत्रता दिवस को लेकर सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. कोरोना को लेकर भी कई सावधानियां भी बरती जा रही हैं.

सरकार के विश्वास मत हासिल करने के बाद बोले सचिन पायलट, जो भी अटकलें लगाई जा रही थी उन पर आज लग गया विराम

सभी भारतीयों के योगदान को श्रद्धांजलि अर्पित की:
इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन सभी भारतीयों के योगदान को श्रद्धांजलि अर्पित की, जिन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में योगदान दिया। साथ ही सशस्त्र बलों के सभी सदस्यों और कर्मियों का भी अभिवादन किया, जो हमें सुरक्षित रखते हैं. पीएम ने लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए कहा, कोरोना के इस असाधारण समय में सेवा परमो धर्म: की भावना के साथ अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर्स, नर्से, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, अनेको लोग चौबीसों घंटे लगातार काम कर रहे हैं. 


 

देश के नाम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का संबो​धन,कहा-गलवान घाटी के वीरों पर देश को गर्व

देश के नाम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का संबो​धन,कहा-गलवान घाटी के वीरों पर देश को गर्व

नई दिल्ली: 74वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर शुक्रवार को देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देशवासियों को संबोधित किया. सबसे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश-विदेश में रह रहे, भारत के सभी लोगों को स्वतंत्रता दिवस की बहुत-बहुत बधाई और ढेर सारी शुभकामनाएं. इस मौके पर रामनाथ कोविंद ने कहा कि हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के बलिदान को कृतज्ञता के साथ याद करते हैं. उनके बलिदान के बल पर ही, हम सब, आज एक स्वाधीन देश के निवासी हैं. हम सौभाग्यशाली हैं कि महात्मा गांधी हमारे स्वाधीनता आंदोलन के मार्गदर्शक रहे. उनके व्यक्तित्व में एक संत और राजनेता का जो समन्वय दिखाई देता है, वह भारत की मिट्टी में ही संभव था.

सशस्त्र बलों, पुलिस और अर्धसैनिक बलों पर गर्व:
उन्होंने कहा कि हमें अपने सशस्त्र बलों, पुलिस और अर्धसैनिक बलों पर गर्व है जो सीमाओं की रक्षा करते हैं, और हमारी आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं. सीमाओं की रक्षा करते हुए, हमारे बहादुर जवानों ने अपने प्राण न्योछावर कर दिए. भारत माता के वे सपूत, राष्ट्र गौरव के लिए ही जिए और उसी के लिए मर मिटे. पूरा देश गलवान घाटी के बलिदानियों को नमन करता है. हर भारतवासी के हृदय में उनके परिवार के सदस्यों के प्रति कृतज्ञता का भाव है.

जयपुर में आफत की बारिश, कानोता बांध में बोलेरो बहने से 3 लोगों की मौत, बारिश ने पूरे शहर को किया जाम   

स्वतंत्रतादिवस के उत्सवों में नहीं होगी हमेशा की तरह धूम-धाम: 
कोविंद ने कहा कि इस वर्ष स्वतंत्रतादिवस के उत्सवों में हमेशा की तरह धूम-धाम नहीं होगी. इसका कारण स्पष्ट है. पूरी दुनिया एक ऐसे घातक वायरस से जूझ रही है जिसने जन-जीवन को भारी क्षति पहुंचाई है और हर प्रकार की गतिविधियों में बाधा उत्पन्न की है.यह बहुत आश्वस्त करने वाली बात है कि इस चुनौती का सामना करने के लिए, केंद्र सरकार ने पूर्वानुमान करते हुए, समय रहते, प्रभावी कदम उठा‍ लिए थे. इन असाधारण प्रयासों के बल पर, घनी आबादी और विविध परिस्थितियों वाले हमारे विशाल देश में, इस चुनौती का सामना किया जा रहा है. राज्य सरकारों ने स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार कार्रवाई की. जनता ने पूरा सहयोग दिया. इन प्रयासों से हमने वैश्विक महामारी की विकरालता पर नियंत्रण रखने और बहुत बड़ी संख्‍या में लोगों के जीवन की रक्षा करने में सफलता प्राप्त की है. यह पूरे विश्‍व के सामने एक अनुकरणीय उदाहरण है.

राष्ट्र उन सभी डॉक्टरों, नर्सों और अन्य स्वास्थ्य-कर्मियों का ऋणी:
राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि राष्ट्र उन सभी डॉक्टरों, नर्सों और अन्य स्वास्थ्य-कर्मियों का ऋणी है जो कोरोना वायरस के खिलाफ इस लड़ाई में अग्रिम पंक्ति के योद्धा रहे हैं. ये हमारे राष्ट्र के आदर्श सेवा-योद्धा हैं. इन कोरोना-योद्धाओं की जितनी भी सराहना की जाए, वह कम है. ये सभी योद्धा अपने कर्तव्य की सीमाओं से ऊपर उठकर, लोगों की जान बचाते हैं और आवश्यक सेवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करते हैं. उनके शौर्य ने यह दिखा दिया है कि यद्यपि हमारी आस्था शांति में है, फिर भी यदि कोई अशांति उत्पन्न करने की कोशिश करेगा तो उसे माकूल जवाब दिया जाएगा. 

साल 2020 में हम सबने कई महत्वपूर्ण सबक सीखे:
रामनाथ कोविंद ने कहा कि साल 2020 में हम सबने कई महत्वपूर्ण सबक सीखे हैं. एक अदृश्य वायरस ने इस मिथक को तोड़ दिया है कि प्रकृति मनुष्य के अधीन है. मेरा मानना है कि सही राह पकड़कर, प्रकृति के साथ सामंजस्य पर आधारित जीवन-शैली को अपनाने का अवसर, मानवता के सामने अभी भी मौजूद है. 21वीं सदी को उस सदी के रूप में याद किया जाना चाहिए जब मानवता ने मतभेदों को दरकिनार करके, धरती मां की रक्षा के लिए एकजुट प्रयास किए.

अमित शाह की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव, ट्वीट करके कहा-कुछ दिन घर पर होम क्वारंटीन रहूंगा

अमित शाह की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव, ट्वीट करके कहा-कुछ दिन घर पर होम क्वारंटीन रहूंगा

अमित शाह की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव, ट्वीट करके कहा-कुछ दिन घर पर होम क्वारंटीन रहूंगा

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है. इस बात की जानकारी खुद अमित शाह ने दी. उन्होंने ट्वीट करते हुए बताया कि आज मेरी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है. मैं ईश्वर का धन्यवाद करता हूं. अमित शाह 2 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव हुए थे.

मैं ईश्वर का धन्यवाद करता हूं:
गृह मंत्री शाह ने आद शुक्रवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि आज मेरी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है. मैं ईश्वर का धन्यवाद करता हूं और इस समय जिन लोगों ने मेरे स्वास्थ्य लाभ के लिए शुभकामनाएं देकर मेरा और मेरे परिजनों को ढांढस बंधाया, उन सभी का ह्रदय से आभार व्यक्त करता हूं.

सरकार के विश्वास मत हासिल करने के बाद बोले सचिन पायलट, जो भी अटकलें लगाई जा रही थी उन पर आज लग गया विराम

पैरामेडिकल स्टाफ का आभार व्यक्त:
डॉक्टर्स की सलाह पर अभी कुछ और दिनों तक होम आइसोलेशन में रहूंगा.साथ ही अमित शाह ने कहा कि कोरोना संक्रमण से लड़ने में मेरी मदद करने वाले और मेरा उपचार करने वाले मेदांता अस्पताल के सभी डॉक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाफ का भी आभार व्यक्त करता हूं.

2 अगस्त को आई थी रिपोर्ट पॉजिटिव:
आपको बता दें कि कोरोना पॉजिटिव होने की अमित शाह ने 2 अगस्त को ट्वीट करके जानकारी दी थी. उन्होंने बताया था कि कोरोना के शुरुआती लक्षण दिखने पर मैंने टेस्ट करवाया और रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मेरी तबीयत ठीक है परंतु डॉक्टर्स की सलाह पर अस्पताल में भर्ती हो रहा हूं. मेरा अनुरोध है कि आप में से जो भी लोग गत कुछ दिनों में मेरे संपर्क में आयें हैं, कृपया स्वयं को आइसोलेट कर अपनी जांच करवाएं.

जयपुर में आफत की बारिश, कानोता बांध में बोलेरो बहने से 3 लोगों की मौत, बारिश ने पूरे शहर को किया जाम   

पूर्व आईएएस अशोक सिंघवी की सुप्रीम कोर्ट से जमानत, खान घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में मिली जमानत

पूर्व आईएएस अशोक सिंघवी की सुप्रीम कोर्ट से जमानत, खान घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में मिली जमानत

जयपुर: खान आवंटन महाघूसकांड से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में पूर्व आईएएस अशोक सिंघवी को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिली है.सीजेआई एस ए बोबड़े की अध्यक्षता में तीन सदस्य बैंच ने यह आदेश सिंघवी की ओर से दायर एसएलपी पर दिया है. एक लाख के निजी मुचलके सहित अन्य शर्तो के साथ जमानत दी है.

कांग्रेस विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत का बड़ा बयान, कहा-हम खुद विश्वास प्रस्ताव लाएंगे

याचिका पेश कर हाईकोर्ट के फैसले को दी थी चनौती:
सिंघवी की ओर से याचिका पेश कर हाईकोर्ट के उस फैसले को चनौती दी थी जिसमें अदालत ने खान आवंटन के घूसकांड से जुड़े मनी लान्ड्रिंग केस में उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी थी. सिंघवी की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दलील दी कि मामले में सह आरोपियों की जमानत हो चुकी है और उसका केस बेहतर स्थिति में है.

आरोपियों से बरामद हुई थी रिश्वत की राशि:
इसके अलावा खान घोटाले से जुड़ी रिश्वत राशि 2.55 करोड़ रुपए अन्य आरोपियों से बरामद हुई थी और प्रार्थी से कोई रिकवरी नहीं हुई है. इसलिए उसे भी मामले में जमानत दी जाए. वहीं इस मामले में केन्द्र सरकार की ओर से सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने पक्ष रखा. सर्वोच्च अदालत ने दोनों पक्षों को सुनकर अशोक सिंघवी की एसएलपी निस्तारित करते हुए उन्हें जमानत दे दी.

राज्यपाल कलराज मिश्र ने बढ़ते कोरोना मामलों पर जताई चिंता, कहा-राज्य में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना के केस

16 अगस्त से शुरू होने वाली माता वैष्णो देवी यात्रा पर संशय, 8 पुजारी मिले कोरोना संक्रमित!

16 अगस्त से शुरू होने वाली माता वैष्णो देवी यात्रा पर संशय, 8 पुजारी मिले कोरोना संक्रमित!

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच जम्मू कश्मीर में माता वैष्णो देवी यात्रा दोबारा शुरू की जाएगी. ये फैसला जम्मू कश्मीर प्रशासन ने लिया. खबरों की माने तो अब ये यात्रा 16 अगस्त से शुरू होनी है. माता वैष्णो देवी की यात्रा शुरू होने से पहले यहां पर कोरोना वायरस ने दस्तक दी है. 

12 पॉजिटिव मिले:
श्री माता वैष्णो देवी भवन के 8 और पुजारी कोरोना पॉजिटिव पाये गए हैं. अब यहां कुल 12 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है. ऐसे हालात में माता वैष्णो देवी यात्रा पर संशय पैदा हो गया है. खबरों के मुताबिक माता वैष्णो देवी के भवन पर मंगलवार को 3 भजन गायक और 1 जवान के पॉजिटिव मिलने की पुष्टि हुई थी. इसके बाद बुधवार को 2 कथा पुजारी और 6 अन्य पुजारी संक्रमित पाये गए. इन्हें सभी को आइसोलेशन वार्ड में रेफर कर दिया गया है.

भूलो और माफ करो और आगे बढ़ो की भावना के साथ डेमोक्रेसी को बचाने की लड़ाई में लगना है- सीएम गहलोत

16 अगस्त से शुरू होनी है माता वैष्णो देवी की यात्रा:
आपको बता दें कि माता वैष्णो देवी की यात्रा 16 अगस्त से शुरू होनी है. ऐसे में यहां पर हर रोज 5000 श्रद्धालुओं को दर्शनों की अनुमति होगी, जिसमें 500 यात्री राज्य के बाहर के हो सकते हैं. श्रद्धालुओं की भीड़ एकत्रित ना हो, इसलिए इन यात्रियों का पंजीकरण ऑनलाइन किया जाएगा. राज्य के बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं और जम्मू-कश्मीर में घोषित रेड जोन के यात्रियों के लिए कोरोना टेस्ट अनिवार्य किया गया है और ये टेस्ट निगेटिव आने पर ही यात्रा की अनुमति होगी. साथ ही कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा.

बसपा विधायकों को बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने स्पीकर के आदेश पर रोक लगाने से किया इनकार

पीएम मोदी ने की नए प्लेटफॉर्म की शुरुआत, कहा- अब ईमानदार का सम्मान होगा

पीएम मोदी ने की नए प्लेटफॉर्म की शुरुआत, कहा- अब ईमानदार का सम्मान होगा

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ईमानदार टैक्सपेयर्स को प्रोत्साहन और कर प्रणाली में पारदर्शिता बढ़ाने के लिए एक नए खास प्लेटफॉर्म की शुरुआत की. इस प्लेटफॉर्म का नाम 'ट्रांसपैरेंट टैक्सेशन: ऑनरिंग द ऑनेस्ट' दिया गया है.  पीएम मोदी ने कहा कि ये प्लेटफॉर्म 21वीं सदी के टैक्स सिस्टम की शुरुआत है, जिसमें फेसलैस असेसमेंट-अपील और टैक्सपेयर्स चार्टर जैसे बड़े रिफॉर्म हैं.

Coronavirus in India: पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 66999 नए मामले सामने आए, अबतक 47 हजार से ज्यादा लोगों की मौत 

एक ईमानदार टैक्सपेयर राष्ट्र निर्माण में भूमिका निभाता है: 
उन्होंने कहा कि इनमें से कुछ सुविधा अभी से लागू हो गई है, जबकि पूरी सुविधा 25 सितंबर से शुरू होगी. पीएम ने कहा कि पिछले कुछ वक्त में हमने इन मसलों पर फोकस किया है, ये नई यात्रा की शुरुआत है. अब ईमानदार का सम्मान होगा, एक ईमानदार टैक्सपेयर राष्ट्र निर्माण में भूमिका निभाता है. इसके साथ ही पीएम ने कहा कि इससे सरकार का दखल कम होगा. 

अब सोच और अप्रोच, दोनों बदल गई: 
पीएम ने आगे कहा कि एक दौर था जब हमारे यहां रिफॉर्म्स की बहुत बातें होती थीं. कभी मजबूरी में कुछ फैसले लिए जाते थे, कभी दबाव में कुछ फैसले हो जाते थे, तो उन्हें रिफॉर्म्स कह दिया जाता था. इस कारण इच्छित परिणाम नहीं मिलते थे. अब ये सोच और अप्रोच, दोनों बदल गई है.

हर किसी को कर्तव्यभाव को आगे रखते हुए काम करना चाहिए:
उन्होंने कहा कि गलत तौर-तरीके सही नहीं है और छोटे रास्ते नहीं अपनाना चाहिए. हर किसी को कर्तव्यभाव को आगे रखते हुए काम करना चाहिए. प्रधानमंत्री ने कहा कि पॉलिसी स्पष्ट होना, ईमानदारी पर भरोसा, सरकारी सिस्टम में टेक्नोलॉजी का प्रयोग, सरकारी मशीनरी का सही उपयोग करना और सम्मान करना. पहले रिफॉर्म की बातें होती थीं, कुछ फैसले मजबूरी-दबाव में लिए जाते थे जिससे परिणाम नहीं मिलता था.

कल ही विश्वास मत हासिल करेगी सरकार! कांग्रेस के रणनीतिकारों ने बनाई रणनीति 

भारत के टैक्स सिस्टम में मौलिक और संरचनात्मक सुधार की जरूरत:
वहीं प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत के टैक्स सिस्टम में मौलिक और संरचनात्मक सुधार की जरूरत इसलिए थी क्योंकि हमारा आज का ये सिस्टम गुलामी के कालखंड में बना और फिर धीरे-धीरे विकसित हुआ है. आजादी के बाद इसमें यहां वहां थोड़े बहुत परिवर्तन किए गए, लेकिन ज्यादातर सिस्टम का स्वरूप वही रहा. 

Open Covid-19