अमेरिका में थमने का नाम नहीं ले रही फायरिंग की घटनाएं, ऑस्टिन के शॉपिंग सेंटर के पास गोलीबारी, 3 लोगों की मौत

अमेरिका में थमने का नाम नहीं ले रही फायरिंग की घटनाएं, ऑस्टिन के शॉपिंग सेंटर के पास गोलीबारी, 3 लोगों की मौत

अमेरिका में थमने का नाम नहीं ले रही फायरिंग की घटनाएं, ऑस्टिन के शॉपिंग सेंटर के पास गोलीबारी, 3 लोगों की मौत

न्यूयॉर्क: अमेरिका में फायरिंग की घटनाएं थमने का नाम नही ले रही है. पिछले दिनों राष्ट्रपति बाइडेन (President Biden) ने इस पर चिंता भी जाहिर की थी और बंदूक खरीदने के लिए सख्त कानून (Strict Laws) भी बना  थे. किंतु बावजूद इसके अमेरिका में ऑस्टिन के शॉपिंग सेंटर (Austin's Shopping Center) के पास गोलीबारी हुई है. घटना में 3 लोगों के मारे जाने की खबर है.

आतंकी घटना से पुलिस का इनकार:
अमेरिका में एक बार फिर खुलेआम फायरिंग की घटना सामने आई है. इस बार फायरिंग टेक्सास (Texas) के ऑस्टिन में हुई है. यहां ग्रेट हिल्स ट्रेल एंड रेन क्रीक पार्कवे (Great Hills Trail & Rain Creek Parkway) के चौराहे पर एक शॉपिंग सेंटर के पास हुई गोलीबारी में कम से कम तीन लोगों के मारे जाने की खबर है. ऑस्टिन पुलिस डिपार्टमेंट के मुताबिक, अभी किसी संदिग्ध (Doubtful) को गिरफ्तार नहीं किया गया है. पुलिस ने आतंकी घटना से इनकार करते हुए बताया कि घटना से आम लोगों को कोई खतरा नहीं है.

3 दिन पहले हुई थी अंधाधुंध फायरिंग:
इससे 3 दिन पहले इंडियानापोलिस शहर (Indianapolis City) में अंधाधुंध फायरिंग (Indiscriminate Firing) हुई थी. इसमें 8 लोगों की मौत हुई थी, जबकि कई घायल भी हुए थे. इंडियानापोलिस मेट्रोपोलिटन पुलिस डिपार्टमेंट IMPD (Indianapolis Metropolitan Police Department) की प्रवक्ता जेनी कुक (Genie Cook) ने बताया था कि यह घटना इंडियानापोलिस में एयरपोर्ट के पास मिराबेल रोड 8951 स्थित फेड एक्स कंपनी के वेयरहाउस में गुरुवार रात हुई. इस घटना के बाद गुस्साए लोगों ने सड़कों पर प्रदर्शन शुरू कर दिया था.

दक्षिणी कैलिफोर्निया में हुई थी फायरिंग, 4 लोगों की गई थी जान:
अमेरिका में आए दिन फायरिंग की घटनाएं होती रहती हैं. लेकिन इन दिनों में इन घटनाओं में वृद्धि हुई है. यह बीते 20 दिन में चौथी घटना है. इससे पहले 31 मार्च को दक्षिणी कैलिफोर्निया (Southern California) में फायरिंग की घटना में 4 लोगों की मौत हो गई. इसमें एक बच्चा भी शामिल था. वहीं, 22 मार्च को बाउल्डर (The Boulder) में हमलावर ने सुपर मार्केट (Super Market) में अंधाधुंध गोलियां बरसाईं थी. इस घटना में 10 लोग मारे गए थे. इसमें एक लोकल पुलिस ऑफिसर (Local Police Officer) भी शामिल था.

बाइडेन ने लोगों से किया था समस्या से निपटने का वादा:
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बंदूक हिंसा को सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट बताया था. उन्होने कहा था कि इसकी कीमत देश को हर साल अरबों डॉलर के रूप में चुकानी पड़ती है. उन्होंने कहा कि उनका प्रशासन बदलाव के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है. बाइडेन ने बंदूक से होने वाली हिंसा (Gun Violence) के पीड़ितों और उनके परिवार के सदस्यों को उनके साहस के लिए धन्यवाद किया था. उन्होंने लोगों से समस्या से निपटने का वादा किया था. कार्यक्रम में उपस्थित लोगों से बाइडेन ने कहा था कि राष्ट्रपति के रूप में उनकी जिम्मेदारी है कि वे कार्यवाई करे और वह इस समस्या से निपटने के लिए अपनी शक्ति का भरपूर इस्तेमाल करेंगे, चाहे कांग्रेस ना भी करे तो.

पिछले दिनों बंदूकों नियंत्रण को लेकर बाइडेन की थी घोषणाएं:
राष्ट्रपति ने छह कार्यकारी आदेशों (Six Executive Orders) की एक सूची पेश की थी जिसपर तुरंत हस्ताक्षर किए थ. उनके अनुसार उन्होने कार्यकारी आदेश जिन मुद्दों को संबोधित किया था उनमें 'घोस्ट गन्स' ('Ghost Guns') था. बाइडेन ने कहा था कि घर पर असेंबली गन किट (Assembly Gun Kit) खरीदने वाले व्यक्तियों को पृष्ठभूमि की जांच से गुजरना होगा और साथ ही निर्माताओं को सीरियल नंबरों के साथ प्रमुख घटकों को चिह्नित करने की जरूरत होगी ताकि इनका पता लगाया जा सके. फिलहाल इसके लिए देश में कोई कानून नहीं था.

और पढ़ें