Live News »

बायोमेट्रिक हाजिरी का पहला दिन, स्वास्थ्य निदेशालय में हाजिरी की "भागदौड़"

बायोमेट्रिक हाजिरी का पहला दिन, स्वास्थ्य निदेशालय में हाजिरी की

जयपुर। नए साल पर स्वास्थ्य विभाग में एक बड़ी सकारात्मक पहल की गई। एनएचएम निदेशक डॉ. समित शर्मा के निर्देश पर स्वास्थ्य निदेशालय समेत प्रदेश भर के अस्पातलों में बॉयोमेट्रिक हाजिरी शुरू की गई। 

पहले दिन निदेशालय में बॉयोमेट्रिक हाजिरी का असर कर्मचारियों की भागदौड़ के रूप में देखा गया, हालांकि इस दौरान अधिकांश कर्मचारियों ने समय पर अटेंडेंस लगाई और काम भी संभाला। 

और पढ़ें

Most Related Stories

जेलों को लेकर हाईकोर्ट का आदेश, कैदियों की भीड़ कम करने के लिए जरूरी कदम उठाये राज्य सरकार

जेलों को लेकर हाईकोर्ट का आदेश, कैदियों की भीड़ कम करने के लिए जरूरी कदम उठाये राज्य सरकार

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोेकने के लिए जेलों से भीड कम करने के सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के आदेश की पालना के आदेश दिये है. हाईकोर्ट ने सरकार जल्द से जल्द आवश्यक कदम उठाने को कहा है. मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति और न्यायाधीश एस.के.शर्मा की बैंच ने यह अंतरिम निर्देश दर्पण गोयल की जनहित याचिका पर दिए.

निश्चित अवधि के लिए रिहा करने के दिए थे निर्देश:
कोर्ट ने लॉक डाउन के कारण अंतरिम जमानत और पैरोल की अवधि भी उचित समय के लिए बढाने और हालात के अनुसार समय समय पर इसे रिव्यू करने को भी कहा है. एडवोकेट अनिता अग्रवाल ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए जेलों में कैदियों की भीड कम करने के लिए सरकार को सात साल तक की सजा भुगत रहे और अंडर ट्रायल बंदियों को अंतरिम जमानत या पैरोल पर निश्चित अवधि के लिए रिहा करने के निर्देश दिए थे.

Coronavirus Updates: जीवन रक्षक, चिकित्सा उपकरण बनाने के लिए छूट, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने आदेश किए जारी 

9 अप्रैल को होगी अगली सुनवाई: 
सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए हर केस का अध्ययन कर निर्णय करने के लिए राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण चेयरमैन,गृह सचिव और डीजी जेल की कमेटी बनाने के निर्देश दिए थे. राज्य सरकार ने अब तक उक्त निर्देश की पालना नहीं की है जबकि कई जेलों में क्षमता से अधिक बंदी मौजूद हैं. कोर्ट ने सरकार को आदेश की पालना के लिए जल्द से जल्द आवश्यक कदम उठाने और 9 अप्रैल तक स्टेटस रिपोर्ट पेश करने के निर्देश देते हुए अगली सुनवाई 9 अप्रैल को तय की है.  

Coronavirus Updates: हिमाचल सरकार का फैसला, 30 प्रतिशत होगी विधायकों की सैलरी में कटौती

Coronavirus Updates: जीवन रक्षक, चिकित्सा उपकरण बनाने के लिए छूट, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने आदेश किए जारी 

जयपुर: प्रदेश में कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखते हुए जीवनरक्षी चिकित्सा उपकरण, वेंटिलेटर, स्ट्रेचर, व्हील चेयर्स सुरक्षा उपकरणों के निर्माण के लिए स्थापना एवं संचालन सम्मति प्राप्त करने के लिए 31 जुलाई 2020 तक छूट प्रदान करने के आदेश जारी किए गए है. यह आदेश राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिए.

उत्पादन सर्वोच्च प्राथमिकता से बड़े स्तर पर:
राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष पवन कुमार गोयल ने बताया कि इस अत्यंत गंभीर कोविड-19 महामारी को देखते हुए चिकित्सा उपकरण, ड्रग्स कन्ट्रोलर जनरल ऑफ इण्डिया, इण्डियन कॉउन्सिल ऑफ मेडिकल रिसर्च, चिकित्सा विभाग, राजस्थान सरकार अथवा अन्य सक्षम प्रधिकारी द्वारा चिन्हित जीवनरक्षक दवाइयों का फॉर्म्युलेशन, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण जैसे की मास्क आदि, सेनिटाइजर का उत्पादन, फॉर्म्युलेशन एवं बाटलिंग, आक्सीजन गैस का उत्पादन एवं बाटलिंग आदि का उत्पादन सर्वोच्च प्राथमिकता से बड़े स्तर पर करने की अत्यंत आवश्यकता है.

Coronavirus Updates: हिमाचल सरकार का फैसला, 30 प्रतिशत होगी विधायकों की सैलरी में कटौती

जुलाई माह तक शिथिलता प्रदान:
उन्होंने बताया कि बोर्ड द्वारा इनके उत्पादन संबंधी निर्माण इकाईयों को जल एवं वायु अधिनियम के अन्तर्गत स्थापना एवं संचालन सम्मति प्राप्त करने के लिए जुलाई माह तक शिथिलता प्रदान की गई है. इस दौरान इकाईयों को जल एवं वायु प्रदूषण की रोकथाम एवं नियन्त्रण के लिए समुचित व्यवस्था करनी होगी. उन्होंने बताया कि यह एक बारगी छूट 31 जुलाई 2020 तक है एवं सभी इकाईयों को स्थापना एवं संचालन सम्मति प्राप्त के लिए छूट की अवधि समाप्ति के बाद उचित सहमति प्राप्त करने के लिए आवेदन करना होगा.  

Coronavirus Updates: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 328, तो जयपुर के परकोटे में कर्फ्यू के साथ सख्ती

 

Coronavirus Updates: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 328, तो जयपुर के परकोटे में कर्फ्यू के साथ सख्ती

Coronavirus Updates: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 328, तो जयपुर के परकोटे में कर्फ्यू के साथ सख्ती

जयपुर: प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 328 हो गई है. बांसवाड़ा जिले में मंगलवार को 3 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. पिछले 24 घंटे में 27 पॉजिटिव केस सामने आये है. बांसवाड़ा जिले से सात पॉजिटिव मिले है. चूरू जिले से एक, जयपुर से तीन पॉजिटिव केस सामने आये है. जैसलमेर से सात पॉजिटिव, जोधपुर जिले से 9 पॉजिटिव केस मिले है. 

जयपुर के परकोटे में सख्ती:
जयपुर के रामगंज इलाके में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 100 पहुंचने पर परकोटे में सख्ती बरती जा रही है. अब परकोटे में कर्फ्यू के साथ सख्ती है. अतिआवश्यक कार्य के लिए बाहर निकलने पर भी पाबंदी लगाई गई है. पुलिस अधिकारियों का बयान, आवश्यक कार्य से बढ़कर मानव जीवन की रक्षा, ऐसे में लोग करें पुलिस का सहयोग. मंगलवार सुबह से परकोटे में पुलिस का अतिरिक्त जाब्ता तैनात है. नाकाबंदी पॉइंट्स पर हर व्यक्ति और वाहन को रोका जा रहा है. परकोटे के अंदर आने और बाहर जाने पर पूर्ण रूप से पाबंदी है. 

Coronavirus Updates: कोरोना वायरस का कहर, हरियाणा में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 98

लॉकडॉउन का उल्लंघन करने वाले बने सिरदर्द:
प्रदेश के भीलवाड़ा जिले में लॉकडॉउन का उल्लंघन करने वाले सिरदर्द बने हुए है. लोग चोरी छुपे बाहर से आ रहे है, जो पुलिस की परेड करवा रहे है. भीलवाड़ा में एक दर्जन लोग देर रात ऑटो में पहुंचे थे. अहमदाबाद के कबाडी व्यवसायी के साथ भीलवाडा पहुंचे थे. लॉकडाउन में भी 18 जिलों की सीमाओं को पार करके कपड़ा नगरी में पहुंचे.  कबाड़ी व्यापारी जगदीश माली की पुलिस तलाश कर रही है. यह मामला भीमगंज थाना खेत्र का है.

सीएम गहलोत का बड़ा बयान, राजस्थान में लॉकडाउन नहीं खोलने के दिए संकेत, कहा-जिंदगी बचाना जरूरी

जोधपुर में 7 थाना क्षेत्र में कर्फ्यू जारी:
प्रदेश के जोधपुर जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने पर पुलिस कमिश्नरेट के 7 थाना क्षेत्र में कर्फ्यू जारी है. पूर्व थाना क्षेत्र में थाना उदयमंदिर, सदर कोतवाली, सदर बाजार थाने में कर्फ्यू लगाया गया है. नागौर गेट थाने में पहले से ही कर्फ्यू लगा हुआ है. पश्चिम थाना क्षेत्र के तीन थानों में अभी भी कर्फ्यू जारी है. पश्चिम थाना क्षेत्र थाना कुड़ी थाना देव नगर और थाना प्रताप नगर में कर्फ्यू जारी है. कोरोना वायरस के चलते पुलिस ने अलग-अलग इलाकों में कर्फ्यू लगाया है. कुछ इलाके हाई रिस्क जॉन वाले घोषित है. 

सीएम गहलोत ने दिए संकेत, राजस्थान में अभी नहीं खुलेगा लॉकडाउन, कहा-जिंदगी बचाना जरूरी

जयपुर: प्रदेश में कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन है, वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रेस कॉन्फ्रेंस की. प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम गहलोत ने लॉकडाउन को लेकर बड़ा बयान दिया. राजस्थान में लॉकडाउन नहीं खोलने के संकेत दिए. कहा जिंदगी बचाना जरूरी है, हम खतरा नहीं मोल लेना चाहते है. 

गहलोत की प्रेस कॉन्फ्रेंस 
प्रदेश के सीएम गहलोत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि डॉक्टरों,नर्सिंग स्टाफ को पता है उन्हें सोसायटी का सहयोग मिल रहा है. राजस्थान में सभी वर्ग के लोग मिलकर काम कर रहे है. जनता को मुकाबले के लिए आगे आकर सहयोग देना चाहिए. केन्द्र ने जीएसटी सहित अन्य ग्रांट रोक रखी है. केन्द्र के पास RBI है, राज्य के पास क्या है, कुछ भी नहीं है, ऐसे में केन्द्र को मदद करनी चाहिए. सीएम गहलोत ने कहा कि RBI से बिना ब्याज के ऋण राज्यों को मिलना चाहिए. 

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, कोरोना से निपटने के लिए सरकार कर रही है काम, सभी मेडिकल कॉलेज में होगी टेस्टिंग सुविधा मुहैया

तब्लीगी जमात का मामला गंभीर बात:
सीएम गहलोत ने एक सवाल के जवाब में कहा तब्लीगी जमात का मामला गंभीर बात है,  किसी ने गलती की है तो उसे सजा मिलनी चाहिए. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के जज या रिटायर जज को जांच करनी चाहिए. आज जबकि सभी धर्म के लोग मिलकर कोरोना की लड़ाई लड़ रहे है. ऐसे में खराब माहौल बनाना ठीक नहीं है.

चिह्नित लोगों की संख्या के आधार पर हम आगे बढ़े:
VC के माध्यम से सीएम गहलोत मीडिया के सवालों के जवाब में बोले, चिह्नित लोगों की संख्या के आधार पर हम आगे बढ़े है. 950 लोग अस्पताल में क्वारंटाइन है, जबकि 7620 लोग होम क्वारंटाइन में है. राजस्थान में लोग साथ दे रहे है,घरों में बंद है. 2500 करोड़ का पैकेज दे रहे है. 33 लाख लोगों को चिह्नित कर हमने 2500 रुपए दिए है. 1 करोड़ 11 लाख परिवारों को 10 किलो गेहूं, 1 किलो दाल फ्री दे रहे हैं. गर्भवती महिलाओं को कोई तकलीफ नहीं हो यह सुनश्चित किया है. राजस्थान में कोई व्यक्ति भूखा नहीं सोएगा. सरकार, प्रशासनिक अधिकारी, तमाम पार्टी के लोग मिलकर मुकाबला कर रहे है.

सीएम गहलोत के निर्देश, कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर करें काम, जयपुर के रामगंज में स्थिति नाजुक

पहला केस आते ही इसको गंभीरता से लिया:
सीएम गहलोत ने एक सवाल के जबाव में कहा कि राजस्थान में कोरोना का पहला मामला आते ही राज्य ने इसको गंभीरता से लिया. साथ ही इसपर लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है. कोरोना वायरस से निपटने के लिए जिला प्रशासन के साथ कोर ग्रुप बनाकर मॉनिटरिंग कर रहे हैं. 15 हजार टेस्ट किए है जो केरल के बाद सबसे ज्यादा है. सोशल डिस्टेसिंग जरूरी है, उसको मानना पड़ेगा. लगातार काम कर रहे है, जिससे लोगों के अंदर विश्वास बढ़ा है. हम सब के साथ मिलकर बात कर रहे हैं. भीलवाड़ा और रामगंज में घर-घर टीम बनाकर की स्क्रीनिंग की गई. 

कोविड-19 संकट के बीच रेलवे की बड़ी पहल, रेलवे प्रशासन संचालित करेगा स्पेशल ट्रेन

कोविड-19 संकट के बीच रेलवे की बड़ी पहल, रेलवे प्रशासन संचालित करेगा स्पेशल ट्रेन

जयपुर: कोरोना वैश्विक महामारी के संकट के बीच रेलवे प्रशासन ने बड़ी पहल करते हुए आमजन को एक राहत दी है. जरूरी सामग्रियों का परिवहन करने के लिए रेलवे प्रशासन मंगलवार से 14 अप्रैल तक गुड्स पार्सल स्पेशल ट्रेन संचालित करेगा. रेलवे सीपीआरओ अभय शर्मा ने बताया कि कोविड-19 के मद्देनजर आवश्यक सामग्रियों के परिवहन के लिए यह ट्रेन चलाई जा रही है. 

Coronavirus Updates: राजस्थान में 24 नए पॉजिटिव केस मिले, कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 325

- 7 अप्रैल से 14 अप्रैल तक संचालित होगी पार्सल स्पेशल ट्रेन
- ट्रेन 00951 जयपुर से 7, 9, 11 और 13 अप्रैल को चलेगी
- ट्रेन 00953 जयपुर से 8,10, 12 और 14 अप्रैल को चलेगी
- आमजन करा सकते हैं स्टेशनों पर पार्सल की बुकिंग

सीएम गहलोत के निर्देश, कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर करें काम, जयपुर के रामगंज में स्थिति नाजुक

हर रोज दोपहर 3 बजे होगी रवाना:
ट्रेन जयपुर से हर रोज दोपहर 3 बजे रवाना होगी. रास्ते में अलवर, रेवाड़ी, भिवानी, हिसार, सिरसा, हनुमानगढ़, सूरतगढ़, बीकानेर, नागौर, मेड़ता रोड, जोधपुर, पाली मारवाड़, मारवाड़ जंक्शन, अजमेर, किशनगढ़ होते हुए अगले दिन शाम 7:15 बजे वापस जयपुर लौटेगी. इन सभी स्टेशनों पर पार्सल की लोडिंग-अनलोडिंग की जा सकेगी. ट्रेन में दवाइयां खाद्य सामग्री और अन्य आवश्यक सामग्री भेजी जा सकती है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

Coronavirus Updates: राजस्थान में 24 नए पॉजिटिव केस मिले, कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 325

Coronavirus Updates: राजस्थान में 24 नए पॉजिटिव केस मिले, कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 325

जयपुर: प्रदेशभर में कोरोना वायरस के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे है. राजस्थान में पॉजिटिव मामले बढकर 325 हो गए है. मंगलवार सुबह 9 बजे तक 24 पॉजिटिव केस सामने आये है. बांसवाड़ा जिले से चार पॉजिटिव केस मिले है. चूरू जिले से एक, जयपुर से तीन पॉजिटिव मिले है. वहीं बात करे जैसलमेर की तो यहां पर 7 मामले सामने आये है. जोधपुर जिले में 9 पॉजिटिव मिले मिले है. प्रदेश में कोरोना की वजह से अब तक 6 लोगों की मौत हो चुकी है.

सीएम गहलोत के निर्देश, कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर करें काम, जयपुर के रामगंज में स्थिति नाजुक

लॉकडॉउन का उल्लंघन करने वाले बने सिरदर्द:
प्रदेश के भीलवाड़ा जिले में लॉकडॉउन का उल्लंघन करने वाले सिरदर्द बने हुए है. लोग चोरी छुपे बाहर से आ रहे है, जो पुलिस की परेड करवा रहे है. भीलवाड़ा में एक दर्जन लोग देर रात ऑटो में पहुंचे थे. अहमदाबाद के कबाडी व्यवसायी के साथ भीलवाडा पहुंचे थे. लॉकडाउन में भी 18 जिलों की सीमाओं को पार करके कपड़ा नगरी में पहुंचे.  कबाड़ी व्यापारी जगदीश माली की पुलिस तलाश कर रही है. यह मामला भीमगंज थाना खेत्र का है. 

Coronavirus Updates: ट्रंप का बयान- भारत दवा की सप्लाई नहीं करता तो फिर दिया जाता उसका करारा जवाब

जोधपुर में 7 थाना क्षेत्र में कर्फ्यू जारी
प्रदेश के जोधपुर जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने पर पुलिस कमिश्नरेट के 7 थाना क्षेत्र में कर्फ्यू जारी है. पूर्व थाना क्षेत्र में थाना उदयमंदिर, सदर कोतवाली, सदर बाजार थाने में कर्फ्यू लगाया गया है. नागौर गेट थाने में पहले से ही  कर्फ्यू लगा हुआ है. पश्चिम थाना क्षेत्र के तीन थानों में अभी भी कर्फ्यू जारी है. पश्चिम थाना क्षेत्र थाना कुड़ी थाना देव नगर और थाना प्रताप नगर में कर्फ्यू जारी है. कोरोना वायरस के चलते पुलिस ने अलग-अलग इलाकों में कर्फ्यू लगाया है. कुछ इलाके हाई रिस्क जॉन वाले घोषित है.

एसएमएस के बाद अब आरयूएचएस में कोरोना की जांच! प्रदेश में कोरोना की जांच का जल्द बढ़ेगा दायरा

एसएमएस के बाद अब आरयूएचएस में कोरोना की जांच! प्रदेश में कोरोना की जांच का जल्द बढ़ेगा दायरा

जयपुर: प्रदेश में एसएमएस के बाद अब जल्द ही प्रताप नगर स्थित राजस्थान स्वास्थ्य एवं विज्ञान विश्वविद्यालय के संघटक कॉलेज में कोरोना की जांच शुरू हो सकेंगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर सरकार ने आरयूएचएस कॉलेज को दो करोड़ रुपए स्वीकृत किए हैं. कोरोना जांच के लिए एनएचएम को प्रपोजल भेजा गया था,जिसे स्वीकृत कर लिया गया है.

Coronavirus Updates: ट्रंप का बयान- भारत दवा की सप्लाई नहीं करता तो फिर दिया जाता उसका करारा जवाब

जल्द खरीदी जाएगी आरटीपीसीआर मशीन:
कॉलेज प्राचार्य डॉ सुधांशु कक्कड ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि स्वीकृत राशि से जल्द ही आरटीपीसीआर मशीन खरीदी जाएगी. इसके बाद कॉलेज में कोरोना की जांच शुरू होगी. यहां बता दें कि यूनिवर्सिटी में कोरोना जांच शुरू होने के बाद सवाई मानसिंह अस्पताल की वायरोलॉजी लैब में सैम्पल का भार कम होगा. वर्तमान में एसएमएस में रोजाना करीब एक हजार सैम्पल की जांच की जा रही है. इससे रिपोर्ट आने में भी देरी हो रही है.

सीएम गहलोत के निर्देश, कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर करें काम, जयपुर के रामगंज में स्थिति नाजुक

-9.2 करोड़ रुपए में आरयूएचएस की बदलेगी तस्वीर
-कोरोना महामारी के बीच गहलोत सरकार का सुविधा विस्तार पर फोकस
-यूनिवर्सिटी में उपकरणों की कमी के चलते तीन दिन पहले सरकार को भेजा प्रस्ताव
-सीएम गहलोत के निर्देश पर तत्काल 9.2 करोड़ रुपए का प्रपोजल स्वीकृत
-इस राशि से 40 पल्स ऑक्सीमीटर, 40 वेंटीलेटर, बाइपेप मशीन, 20 आईसीयू बैड की बढ़ेगी सुविधा

सीएम गहलोत के निर्देश, कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर करें काम, जयपुर के रामगंज में स्थिति नाजुक

सीएम गहलोत के निर्देश, कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर करें काम, जयपुर के रामगंज में स्थिति नाजुक

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने स्वास्थ्य और प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जयपुर के रामगंज क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर काम करें. इस क्षेत्र में संक्रमण की स्थिति नाजुक है और वायरस के कम्युनिटी स्प्रेडिंग को रोकने के लिए आपात योजना लागू करने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि जयपुर, जोधपुर चुरू, टोंक, झुन्झुनूं आदि जिलों में संक्रमित व्यक्तियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, जिसके लिए तुरन्त सैम्पल कलेक्शन और टेस्टिंग की गति बढ़ाने की जरूरत है.

मुख्यमंत्री निवास पर नियमित वीडियो काॅन्फ्रेंस: 
गहलोत ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास पर नियमित वीडियो काॅन्फ्रेंस ली. वीडियो कान्फ्रेंस के दौरान स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. रघु शर्मा, परिवहन मंत्री  प्रताप सिंह खाचरियावास, मुख्य सचेतक महेश जोशी, विधायक रफीक खान एवं अमीन कागजी, मुख्य सचिव डी.बी. गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह राजीव स्वरूप, अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य रोहित कुमार सिंह, प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा  अजिताभ शर्मा, जयपुर पुलिस आयुक्त आनन्द श्रीवास्तव, शासन सचिव चिकित्सा शिक्षा वैभव गालरिया, राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ. राजाबाबू पंवार, एसएमएस मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सुधीर भण्डारी, जिला कलक्टर जयपुर जोगाराम सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

Coronavirus Updates: ट्रंप का बयान- भारत दवा की सप्लाई नहीं करता तो फिर दिया जाता उसका करारा जवाब

जांच की सुविधाएं बढ़ाई जाएं:
वीसी में कहा कि जयपुर में भीलवाड़ा की तर्ज पर बड़ी संख्या में संदिग्ध लोगों को आइसोलेट करना होगा. इसके लिए तयशुदा प्राटोकोल के अनुसार शहर में स्थित विभिन्न शिक्षा संस्थानों आदि की चिन्हित होस्टल सुविधाओं का उपयोग करें. उन्होंने कहा कि रामगंज में घर-घर सर्वे और पीसीआर टेस्टिंग सहित जांच की सुविधाएं बढ़ाई जाएं, ताकि मौके पर ही रेन्डम टेस्ट के लिए सैम्पल लिये जा सकें. चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने वीसी की जानकारी दी. मुख्यमंत्री ने कहा कि जयपुर के जिन क्षेत्रों में कोरोना के पाॅजिटिव मामले सामने आए हैं, वहां लोगों की आवाजाही को तुरन्त और अधिक सख्ती से रोकने की आवश्यकता है. शहर के दूसरे हिस्सों में भी केवल अतिआवश्यक सेवाओं से जुड़े व्यक्ति ही अपने घरे से बाहर निकलें.

मास्क से ढक कर रखें:
उन्होंने शहर में स्वास्थ्य कर्मियों की अपने घर से कार्यस्थल तक आवाजाही को भी नियंत्रित कर न्यूनतम करने का सुझाव दिया और कहा कि हर व्यक्ति घर से बाहर निकलने पर एहतियात के तौर पर मुंह एवं नाक को हमेशा कपड़े अथवा मास्क से ढक कर रखें. गहलोत ने कहा कि राजस्थान में संक्रमण फैलने की तेज गति सभी के लिए एक चुनौती है. हमें सामूहिक रूप से ऐसे प्रयास करने हैं कि लोगों के जीवन पर आसन्न खतरे को जल्द से जल्द टाला जा सके. इसके लिए आमजन को स्वास्थ्य कर्मियों एवं प्रशासन का सहयोग करना होगा. मानवता की रक्षा के लिए धर्मगुरूओं, मौलवियों, जनप्रतिनिधियों और समुदाय के वरिष्ठ लोगों का कर्तव्य है कि वे लाउडस्पीकर, पर्चे, वीडियो संदेश आदि जारी कर आम लोगों को स्वास्थ्य कर्मियों का सहयोग करने और उन्हें स्वास्थ्य एवं यात्रा संबंधी सही जानकारी देने के लिए प्रेरित करें.

आइसोलेशन जैसे कड़े कदम उठाए गए:
वीडियो काॅन्फ्रेंस के दौरान जयपुर शहर के विधायकों ने कहा कि वे संक्रमण से बचाव के लिए आम लोगों को जागरूक करने और स्वास्थ्य कर्मियों को सर्वे अथवा जांच के दौरान पूरी जानकारी देने और संदिग्ध लोगों के आइसोलेशन में रहने के दौरान स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा बताए गए प्रोटोकोल का पूरी तरह से पालन करने की शिक्षा देने में पूरा सहयोग देंगे. उन्होंने कहा कि आम जनता को विभिन्न प्रचार माध्यमों के जरिए यह समझाने की आवश्यकता है कि राज्य सरकार और प्रशासन द्वारा लोगों का जीवन बचाने के लिए जा रहे प्रयासों में सहयोग करें. सभी को यह बात स्पष्ट हो जानी चाहिए कि कोरोना के मरीजों, संदिग्ध व्यक्तियों और उनके परिजनों की रक्षा के लिए ही हैल्थ सर्वे के साथ-साथ लाॅकडाउन, कर्फ्यू, क्वारंटाइन और आइसोलेशन जैसे कड़े कदम उठाए गए हैं.

कोरोना के कारण सादगी से मना भाजपा का स्थापना दिवस, राजस्थान में सशक्त रहा इतिहास

लाड-प्यार थोड़े समय के लिए छोड़ना होगा:
स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने बताया कि बड़े परिवारों में बुजुर्गों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए छोटे बच्चों का मोह और लाड-प्यार थोड़े समय के लिए छोड़ना होगा. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस सांस से जुड़ी तकलीफें पैदा करता है और वृद्धजनों की दूसरी बीमारियों के खतरों को कई गुना बढ़ा देता है. ऐसे में बुजुर्गों को परिवार के अंदर आइसोलेट करने के साथ-साथ छोटे बच्चों के साथ उनके भावनात्मक संबंधों को भी कुछ समय के लिए छोड़ना होगा. उन्होंने कहा कि इसके लिए परिवार के सदस्यों की समझ बढ़ानी होगी.

Open Covid-19