COVID-19: कोरोना से छुटकारा पाने के बाद पित्ताशय में गैंग्रीन की समस्या से पीड़ित हुई पांच लोग

COVID-19: कोरोना से छुटकारा पाने के बाद पित्ताशय में गैंग्रीन की समस्या से पीड़ित हुई पांच लोग

COVID-19: कोरोना से छुटकारा पाने के बाद पित्ताशय में गैंग्रीन की समस्या से पीड़ित हुई पांच लोग

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी से स्वस्थ होने के बाद पांच लोगों को पित्ताशय में गैंग्रीन की समस्या हुई. अंतत: पांचों मरीजों का पित्ताशय लैप्रोस्कोपिक सर्जरी के जरिये निकाल दिया गया. इन पांच मरीजों का जून और अगस्त के बीच सर गंगाराम अस्पताल में सफलतापूर्वक इलाज किया गया. अस्पताल में इंस्टीट्यूट ऑफ लीवर, गैस्ट्रोएन्टेरोलॉजी एंड पैनक्रिएटिकोबाइलरी साइंसेज के अध्यक्ष डॉ. अनिल अरोड़ा ने कहा कि हमने जून और अगस्त के बीच ऐसे पांच मरीजों का सफलतापूर्वक इलाज किया. कोविड-19 से स्वस्थ होने के बाद इन मरीजों के पित्ताशय में पथरी के बिना ही गंभीर सूजन आ गयी थी जिससे पित्ताशय में गैंग्रीन की समस्या पैदा हो गयी. ऐसे में तत्काल सर्जरी की आवश्यकता होती है.

उन्होंने दावा किया कि यह पहली बार है जब कोविड-19 संक्रमण से उबरने के बाद पित्ताशय में गैंग्रीन के मामले सामने आए हैं. इन पांच मरीजों में चार पुरुष और एक महिला है जिनकी आयु 37 से 75 वर्ष के बीच है. गैंग्रीन एक बीमारी है जिसमें शरीर के कुछ हिस्सों में ऊत्तक नष्ट होने लगते हैं जिससे वहां घाव बन जाता है जो लगातार फैलता जाता है. सभी मरीजों ने बुखार, पेट के ऊपरी दाहिने हिस्से में दर्द और उल्टी की शिकायत की थी. इनमें से दो को मधुमेह था तथा एक को दिल की बीमारी थी. इन मरीजों ने कोविड-19 के इलाज में स्टेरॉइड लिए थे. कोविड-19 महामारी के लक्षणों और पित्ताशय में गैंग्रीन की बीमारी के पता चलने की अवधि के बीच दो महीने का अंतर था. पेट के अल्ट्रासाउंड और सीटी स्कैन के जरिए बीमारी का पता चला. डॉ अरोरा ने बताया कि सभी मरीजों की लैप्रोस्कोपिक सर्जरी की गई और पित्ताशय को निकाल दिया गया. सोर्स- भाषा

और पढ़ें