Live News »

चीन के सवाल पर विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा- जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाना हमारा आंतरिक मामला

चीन के सवाल पर विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा- जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाना हमारा आंतरिक मामला

बीजिंग: भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर तीन दिवसीय दौरे पर चीन गए हुए है. सोमवार को जयशंकर ने चीनी विदेश मंत्री वांग ली के साथ मुलाकात में कहा चीन और भारत को अपने द्विपक्षीय संबंदों को लेकर मतभेदों के चलते प्रभावित न होंने दें. उन्होंने यह बयान कश्मीर पर चीन की आपत्ति को लेकर दिया. जयशंकर ने कहा कि किसी भी प्रकार के तनाव को कम करने के लिए दोनों पक्षों को सचेत प्रयास करने होंगे, ताकि मतभेदों के चलते द्विपक्षीय संबंध प्रभावित न हों. 

भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव का उल्लेख किया:
इस दौरान एस जयशंकर ने अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले प्रावधानों को समाप्त करने के भारत के कदम का सीधा जिक्र नहीं किया लेकिन भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव का उल्लेख किया. मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की शुरुआत के बाद जयशंकर चीन का दौरा करने वाले पहले भारतीय मंत्री हैं. उनका यह दौरा ऐसे वक्त हो रहा है,जब भारत ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करते हुए उसे दो केंद्रशासित क्षेत्रों में बांट दिया है.

नई दिल्ली चीन को करा चुकी अवगत: 
दोनों देशों की मुलाकात से पहले नई दिल्ली चीन को अवगत करा चुकी है कि अनुच्छेद 370 को रद्द करना और जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेकर लद्दाख को केंद्रीय शासित प्रदेश बनाना पूर्ण रूप से भारत का आंतरिक मामला है. अपनी टिप्पणी में वांग ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बढ़ते तनाव पर वह नजर बनाए हुए हैं और नई दिल्ली से अपील करते हैं कि शांति व स्थिरता बनाए रखे. 

चीन और भारत के बीच कश्मीर मुद्दे पर पर्याप्त संचार होगा: 
विदेश मंत्री वांग से मुलाकात के बाद विदेश मंत्री जयशंकर ने चीन के उप-राष्ट्रपति वांग किशान से बीजिंग में मुलाकात की. सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने सोमवार को कहा कि विदेश मंत्री जयशंकर की यात्रा के दौरान चीन और भारत के बीच कश्मीर मुद्दे पर पर्याप्त संचार होगा.  

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in