जयपुर कोरोना से अटकी विदेश यात्रा! इस साल 16 हजार कम पासपोर्ट आवेदन मिले विभाग को

कोरोना से अटकी विदेश यात्रा! इस साल 16 हजार कम पासपोर्ट आवेदन मिले विभाग को

कोरोना से अटकी विदेश यात्रा! इस साल 16 हजार कम पासपोर्ट आवेदन मिले विभाग को

जयपुर: कोरोना महामारी के चलते पिछले चार माह से अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स का संचालन नहीं हो रहा है. केवल विदेशों में फंसे प्रवासी भारतीयों को ही भारत लाने के लिए फ्लाइट चलाई जा रही हैं. इस कारण पासपोर्ट बनवाने वालों की संख्या में भी भारी कमी आई है. विदेश यात्रा टलने से प्रदेशवासी अब पासपोर्ट भी नहीं बनवा रहे.  

Rajasthan Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट ने राजस्थान हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगाने से किया इनकार, सोमवार से फिर होगी सुनवाई  

पासपोर्ट के लिए भी आवेदकों ने खासी रुचि नहीं: 
कोरोना महामारी के चलते पूरे विश्व में आर्थिक मंदी छाई हुई है. इसका बड़ा असर टूरिज्म और ट्रांसपोर्ट सेक्टर पर देखने को मिल रहा है. घरेलू हवाई यात्रा 25 मई से शुरू हो चुकी है, लेकिन विदेशों में कोरोना का ज्यादा असर होने के चलते अभी इंटरनेशनल फ्लाइट संचालित नहीं की जा रही हैं. यही वजह रही है कि लॉक डाउन के चलते पासपोर्ट के लिए भी आवेदकों ने खासी रुचि नहीं दिखाई है. पिछले साल की तुलना में इस बार पासपोर्ट कार्यालय के पास 16 हजार कम पासपोर्ट आवेदन आए हैं. पासपोर्ट कार्यालय से पुलिस कमिश्नरेट में सत्यापन के लिए भेजे जाने वाले आवेदनों के आंकड़े दर्शाते हैं कि विदेश यात्रा पर प्रतिबंध लगने के चलते कम लोग ही पासपोर्ट बनवा रहे हैं. जयपुर पुलिस कमिश्नरेट के पास इस साल पासपोर्ट सत्यापन के लिए पिछले साल से 16 हजार 466 आवेदन कम आए हैं. इस साल मार्च में 3232 आवेदन मिले. दरअसल 22 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर प्रतिबंध लग गया था और कोरोना का असर इससे पहले से ही दिखने लगा था. इस कारण लोग अंतरराष्ट्रीय यात्रा करने से बचने लगे थे. यही वजह रही कि पासपोर्ट आवेदनों की संख्या में कमी मार्च माह से ही आना शुरू हो गई थी. अप्रैल माह में महज 23 आवेदन प्राप्त हुए तो वहीं मई में यह आंकड़ा 21 ही रह गया. 

जयपुर कमिश्नरेट में कितने पासपोर्ट आवेदन मिले ?
- मार्च 2019 में 5038 आवेदन मिले
- अप्रैल 2019 में 5327 आवेदन मिले
- मई 2019 में 6022 आवेदन मिले
- जून 2019 में 5275 आवेदन मिले
-----------------
- मार्च 2020 में पासपोर्ट के लिए 3232 आवेदन आए
- अप्रैल 2020 में मात्र 23 आवेदन मिले
- मई 2020 में मात्र 21 आवेदन आए
- जून 2020 में 1920 आवेदन मिले

जोधपुर में एसीबी ग्रामीण टीम ने की कार्रवाई, बीएलओ जसवंत राम को 1300 रुपये की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार 

अप्रैल और मई माह में लॉकडाउन के चलते पासपोर्ट आवेदन कम मिले थे, वहीं जून माह में भी बहुत ज्यादा ग्रोथ नहीं रही है. दरअसल, अभी भी अंतरराष्ट्रीय यात्रा शुरू होने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है. माना जा रहा है कि अगस्त माह से भी नियमित रूप से अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट शुरू नहीं हो सकेंगी. ऐसे में लोग पासपोर्ट बनवाने में भी रुचि नहीं दिखा रहे. अंतरराष्ट्रीय यात्रा फिर से शुरू होने पर पासपोर्ट बनवाने वाले लोगों की संख्या में भी बढ़ोतरी होगी. कम संख्या में आवेदन मिलने से पासपोर्ट विभाग के लिए भी आवेदनों के निस्तारण में सुविधा हो रही है और नियत समय पर लोगों को उनके पासपोर्ट मिल पा रहे हैं. 

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

और पढ़ें