नई दिल्ली अयोध्या फैसले पर पूर्व जस्टिस एके गांगुली नाखुश, बोले-अल्पसंख्यकों के साथ नहीं हुआ न्याय

अयोध्या फैसले पर पूर्व जस्टिस एके गांगुली नाखुश, बोले-अल्पसंख्यकों के साथ नहीं हुआ न्याय

अयोध्या फैसले पर पूर्व जस्टिस एके गांगुली नाखुश, बोले-अल्पसंख्यकों के साथ नहीं हुआ न्याय

नई दिल्ली: अयोध्या राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला कल सुना दिया है. वहीं इस फैसले को लेकर तरह तरह की टिप्पणियां भी सामने आ रही हैं. हालांकि ज्यादातर इस फैसले का स्वागत किया जा रहा है, लेकिन पूर्व जस्टिस एके गांगुली इसको लेकर नाखुश हैं. उन्होंने कहा कि कहा कि अल्पसंख्यकों के साथ न्याय नहीं हुआ. 

पूर्व जस्टिस एके गांगुली ने कहा कि पीढ़ियों से अल्पसंख्यकों वहां एक मस्जिद को देखा. साथ ही कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से दुःखी हूं. जस्टिस गांगुली ने कहा कि मस्जिद लगभग 500 सालों से थी. उन्होंने कहा कि कोर्ट ने ये नहीं पाया है कि मस्जिद, मंदिर तोड़कर बनाई गई थी. इसके अलावा इस बात के भी पुरातात्विक सबूत नहीं हैं कि मस्जिद के नीचे मंदिर था. वहां पर कोई ढांचा जरूर था, लेकिन इस ढांचे के हिंदू ढांचा होने के सबूत नहीं हैं. 

बता दें कि कोर्ट ने इस फैसले में विवादित जमीन रामजन्मभूमि न्यास को देने का फैसला किया है, यानी विवादित जमीन पर राम मंदिर बनेगा. जबकि कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही मस्जिद बनाने के लिए अलग जगह पर 5 एकड़ जमीन देने का आदेश दिया है.

और पढ़ें