French Open को दूसरा झटका, डेढ़ साल से घुटने की चोट से जूझ रहे फेडरर…

French Open को दूसरा झटका, डेढ़ साल से घुटने की चोट से जूझ रहे फेडरर…

French Open को दूसरा झटका,  डेढ़ साल से घुटने की चोट से जूझ रहे फेडरर…

पेरिस: महिलाओं में वर्ल्ड नंबर-2 नाओमी ओसाका (Naomi Osaka) के फ्रेंच ओपन टूर्नामेंट (French Open Tournament) छोड़ने के बाद अब टूर्नामेंट को एक और झटका लगा है. 20 बार के ग्रैंड स्लैम चैंपियन रोजर फेडरर (Grand Slam Champion Roger Federer) ने टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया है. उन्होंने सोशल मीडिया (Social Media) पर पोस्ट कर खुद इसकी जानकारी दी. शनिवार को तीसरे दौर के मैच के बाद वे काफी थके हुए दिख रहे थे और उनके घुटनों में तकलीफ थी. पिछले डेढ़ साल से वे इस परेशानी से जूझ रहे हैं और इस दौरान उन्होंने 2 बार सर्जरी भी कराई थी.

घुटने की 2 सर्जरी के बाद शरीर को आराम देना जरूरी: फेडरर
फेडरर ने लिखा है कि अपनी टीम से बातचीत करने के बाद ही मैंने हटने का फैसला लिया. घुटने की 2 सर्जरी के बाद शरीर को आराम देना जरूरी है. मुझे रिकवरी (Recovery) के दौरान खुद पर ज्यादा प्रेशर डालने की जरूरत नहीं है. मैं इस टूर्नामेंट में 3 मैच जीतकर खुश हूं. कोर्ट पर वापसी करने से ज्यादा खुशी किसी बात में नहीं है. आपसे जल्द मिलूंगा.

pic.twitter.com/70C8RYr69J

— Roger Federer (@rogerfederer) June 6, 2021

साढ़े 3 घंटे चला कोएपफर और फेडरर का मैच:
दरअसल शनिवार को डोमिनिक कोएपफर (Dominic Koepfer) के खिलाफ उन्हें काफी जूझना पड़ा था. साढ़े 3 घंटे चले इस मैच को फेडरर ने 7-6, 6-7, 7-6, 7-5 से अपने नाम किया था. पर इससे उनके सर्जरी वाले घुटने पर भी काफी प्रेशर पड़ा. मैच के बाद फेडरर ने कहा था कि मुझे नहीं पता मैं आगे खेल पाऊंगा या नहीं. मुझे जल्द से जल्द इस पर फैसला लेना है. क्या यह रिस्की नहीं है कि मैं अपने चोटिल घुटने पर प्रेशर डाल रहा हूं? क्या यह आराम करने का सही समय नहीं है? मैं टूर्नामेंट को लेकर कन्फ्यूज हूं.

अगले राउंड में 9वीं वरीयता प्राप्त मातियो से मैच था:
फेडरर का सामना प्री-क्वार्टरफाइनल (pre Quarterfinals) में 9वीं वरीयता प्राप्त इटली के मातियो बैरेतिनी से होना था. सोमवार को होने वाले इस मैच से पहले फेडरर को 24 घंटे से भी कम समय का आराम मिलता. न्यूज एजेंसी के मुताबिक फेडरर विम्बलडन (Federer Wimbledon) की तैयारी में जुटेंगे, क्योंकि यह उनका फेवरेट टूर्नामेंट रहा है. उन्होंने करियर के 20 में से 8 बार विम्बलडन जीता है. इसके अलावा 6 ऑस्ट्रेलियन ओपन, 5 यूएस ओपन और 1 बार फ्रेंच ओपन टाइटल अपने नाम किया है. विम्बलडन 28 जून से खेला जाएगा. यह उनका आखिरी टूर्नामेंट भी हो सकता है.

पिछले डेढ़ साल में फेडरर का तीसरा टूर्नामेंट:
पिछले साल यानी 2020 में ऑस्ट्रेलियन ओपन के बाद उन्होंने 2 बार घुटने की सर्जरी कराई थी. उनकी नजर फिलहाल अपने 21वें ग्रैंड स्लैम पर है. पिछले डेढ़ साल में फ्रेंच ओपन 2021 फेडरर का सिर्फ तीसरा टूर्नामेंट है. उन्होंने इसी साल कतर ओपन और जिनेवा ओपन में हिस्सा लिया था. पर दोनों में शुरुआती राउंड में ही हार गए थे.

जोकोविच और नडाल के जीतने का रास्ता खुला:
पिछले साल उनके प्रतिद्वंद्वी राफेल नडाल ने भी फ्रेंच ओपन जीतकर 20 ग्रैंड स्लैम की बराबरी की थी. अब नडाल और वर्ल्ड नंबर-1 नोवाक जोकोविच के टूर्नामेंट जीतने का रास्ता खुल गया है. हालांकि, दोनों में से कोई एक ही खिलाड़ी फाइनल में पहुंच पाएगा. नडाल और जोकोविच की भिड़ंत सेमीफाइनल में हो सकती है.

नडाल के नाम 13 फ्रेंच ओपन टाइटल:
नडाल के नाम 13 फ्रेंच ओपन खिताब हैं. इसके अलावा उन्होंने 4 बार यूएस ओपन, 2 बार विम्बलडन और 1 बार ऑस्ट्रेलियन ओपन टाइटल जीता है. जबकि, जोकोविच ने करियर में सिर्फ 1 फ्रेंच ओपन खिताब 2016 में जीता था. इसके अलावा वे 9 ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब, 5 विम्बलडन खिताब और 3 बार यूएस ओपन खिताब समेत 18 ग्रैंड स्लैम टाइटल जीत चुके हैं.

ओसाका ने नाम वापस लिया:
इससे पहले 30 मई को जापान की स्टार टेनिस प्लेयर और 4 बार की ग्रैंड स्लैम विजेता नाओमी ओसाका ने एक मैच के बाद टूर्नामेंट से हटने का फैसला लिया था. उन पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल नहीं होने को लेकर करीब 10 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया था. इसके बाद उन्होंने मेंटल हेल्थ को लेकर नाम वापस ले लिया. ओसाका ने इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब अपने नाम किया था.

खबरें और भी हैं...

और पढ़ें