Live News »

माउंट आबू में जमी बर्फ की परत, अठखेलियां करते नजर आए पर्यटक

माउंट आबू में जमी बर्फ की परत, अठखेलियां करते नजर आए पर्यटक

माउंट आबू(सिरोही): जहां आज प्रदेश में कई शहरों में तापमान नीचे रहा है तो वहीं प्रदेश की सबसे ऊंची पर्वतीय पर्यटन नगरी माउंट आबू में भी सर्दी का सितम देखने को मिला और न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु के नजदीक पहुंच गया, जिसकी वजह से शहर के मैदानी इलाकों एवं कारों की छतों पर बर्फ की परत देखने को मिली बर्फ जमने का सिलसिला आज माउंट आबू के मैदानी इलाकों में भी देखा गया. 

घरों के बाहर रखे बर्तनों में भी जमा पानी: 
वहीं घरों के बाहर रखें बर्तनों में भी बर्फ जमी हुई दिखाई दी जमी बर्फ को देखकर माउंट आबू आने वाला पर्यटक काफी उत्साहित नजर आ रहा है और इसी बर्फ को देखने के लिए पर्यटक माउंट आबू का रुख कर रहे हैं. आज माउंट आबू में जहां सुबह के समय बर्फ जमी थी जिसे देखने के लिए पर्यटक सुबह के समय ही मैदानी इलाकों एवं कारों के पास पहुंचे और सुबह के समय इस बर्फ के साथ अठखेलियां करते हुए नजर आए तो वही माउंट आबू में इन दिनों सर्दी की वजह से पर्यटन फलता फूलता हुआ नजर आ रहा है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

गुजरात जा रही 40 लाख की शराब बरामद, रीको पुलिस को मावल चौकी पर मिली सफलता

गुजरात जा रही 40 लाख की शराब बरामद, रीको पुलिस को मावल चौकी पर मिली सफलता

आबुरोड़: राजस्थान के अंतिम छोर पर गुजरात से सटी मावल सरहद के पास मावल चौकी पर रीको पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. ट्रक में भरकर गुजरात ले जाई जा रही शराब की खेप बरामद की. प्लास्टिक के कट्टों की गांठों के पीछे छिपाकर ले जाई जा रही अंग्रेजी शराब की विभिन्न ब्रांड की 470 पेटियां बरामद की गई. ट्रक चालक को गिरफ्तार किया गया. बरामद की गई शराब का मूल्य 40 लाख रुपए आंका गया है.

अमित शाह ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा के सीएम से की फोन पर बात, अम्फान से निपटने के लिए मदद का आश्वासन दिया

ट्रक से शराब परिवहन की सूचना मिली:
मावल बॉर्डर से सटी रीको पुलिस की चौकी शराब तस्करों के लिए डेथ प्वाइंट साबित हो रही है. राज्य के विभिन्न जिलों से होकर पहुंचे शराब तस्करों का नेटवर्क मावल चौकी आकर तार-तार हो रहा है. पुलिस का मुखबिर तंत्र शराब माफियाओं के मुखबिर तंत्र पर भारी पड़ता नजर आ रहा है. इसी की बानगी मावल चौकी पर देखने को मिली. पुलिस को ट्रक से शराब परिवहन की सूचना मिली. इस पर एसपी कल्याणमल मीणा के निर्देश पर रीको थानाधिकारी राणसिंह सोढा ने पुलिसकर्मियों के साथ मोर्चा संभाल लिया.

पंजाब-हरियाणा निर्मित शराब की 470 पेटियां बरामद:
वाहनों को रोककर जांच की जाने लगी. इसी दौरान संदेह होने पर ट्रक को रोका गया. जांच करने पर प्लास्टिक के कट्टों की गांठो के नीचे छुपाकर ले जाई जा रही शराब की खेंप नजर आई. रीको थाना अधिकारी ने तत्परता दिखाते हुए चालक मध्य प्रदेश निवासी देशराज को दबोच लिया. ट्रक में मैकडॉनल्ड और 555 ब्रांड की हरियाणा, पंजाब निर्मित अंग्रेजी शराब की 470 पेटियां पाई गई. बरामद की गई शराब का मूल्य 40 लाख रुपए आंका गया है. फिलहाल, पुलिस चालक से पूछताछ में जुटी हुई है.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 5 हजार 757 कोरोना संक्रमित, डूंगरपुर में 70 और पाली में 69 पॉजिटिव केस आए सामने 

युवती को शादी के लिए भगाकर ले जाने पर दो गुटों में चली तलवारें, पिता-पुत्र की मौत, पांच घायल

युवती को शादी के लिए भगाकर ले जाने पर दो गुटों में चली तलवारें, पिता-पुत्र की मौत, पांच घायल

आबूरोड(सिरोही): आबूरोड के मानपुर के ऋषिकेश उमरनी मार्ग पर पुरानी रंजिश के चलते दो गुटों में विवाद हो गया. आपस में भिड़े दोनों गुटों में तलवारें निकल आई. तलवार के हमले से सात लोग घायल हो गए. घायलों को उपचार के लिए राजकीय चिकित्सालय ले जाया गया. जहां उपचार के दौरान एक युवक ने दम तोड़ दिया. गंभीर रुप से घायल दो लोगों को सिरोही रेफर किया गया. सिरोही चिकित्सालय में घायल वृद्ध ने दम तोड़ दिया. वहीं एक अन्य घायल का उपचार जारी है. मौके पर पहुंची सदर पुलिस ने आवश्यक कार्यवाही को अंजाम दिया. पुलिसे ने पुलिस ने तीन लोगों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया.

VIDEO: कोरोना की जंग के बीच इबादत का महिना, सियासी दलों की अपील घर में रहकर करे इबादत 

शादी की नियत से युवती को भगाकर ले जाने हुआ विवाद:
मानपुर ऋषिकेश मार्ग के रहवासी युवती भारती को दो माह पहले शादी की नियत से भगाकर ले जाने की बात के चलते दो गुटों में रंजिश थी. इसी रंजिश के तहत दोनों गुटों में विवाद हो गया. तलवार व धारदार हथियार से मारपीट शुरु हो गई. तलवार के हमले में समाराम (55) मूंगिया बावरी, शांतिलाल मूंगिया बावरी, ताराराम मूंगिया वागरी, हेमा मंगिया वागरी, बसंती मूंगिया वागरी गम्भीर घायल हो गए. दूसरे गुट के गोविंद व सुनिता घायल हो गए. घायलों को उपचार के लिए आकराभट्टा राजकीय चिकित्सालय ले जाया गया. जहां उपचार के दौरान शांतिलाल ने दम तोड़ दिया. समाराम व ताराराम को सिरोही रेफर कर दिया गया. जहां समाराम ने दम तोड़ दिया. पुलिस ने वेलकम पुत्र रूपाराम, देवाराम पुत्र उमाराम व गोविंद पुत्र रूपाराम के खिलाफ मारपीट करने समेत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया. साथ ही दोनों शवों को मोर्चरी में रखवाया. फिलहाल पुलिस जांच में जुटी है.

आईडीबीआई एटीएम लूट का असफल प्रयास, एटीएम में था 19 लाख का कैश

आईडीबीआई एटीएम लूट का असफल प्रयास, एटीएम में था 19 लाख का कैश

आबूरोड: लुटेरो ने शहर के शांति कुंज पार्क के आगे स्थित आईडीबीआई बैंक के एटीएम को लूटने का असफल प्रयास किया. एटीएम की प्लेट को उखाडऩे का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हुए. 19 लाख की केश से भरें एटीएम के लूटने की असफल वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. ब्रांच मैनेजर की ओर से शहर कोतवाली में रिपोर्ट दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले. फिलहाल, पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है. शहर में शांति कुंज पार्क के आगे स्थित आईडीबीआई बैंक का एटीएम लगा हुआ है.

एटीएम के आगे की प्लेट उखाडऩे का प्रयास:
लुटेरे एटीएम में पहुंचे. एटीएम के आगे की प्लेट उखाडऩे का प्रयास किया, लेकिन, नाकाम रहे. मंसूबों में सफल नहीं होने पर लुटेरे मौके से रफूचक्कर हो गए. लुटेरों के असफल रहने से एटीएम में रखे रखी 19 लाख की नगदी बच गई. बैंक के शाखा प्रबंधक अमित सोमानी की ओर से शहर कोतवाली में रिपोर्ट दी गई है. मौके पर पहुंची शहर पुलिस ने मौका मुआयना किया. साथ ही लुटेरों की तलाश में जुट गई.

श्री खोले के हनुमान मंदिर में कोरोना वायरस उन्मूलन यज्ञ

सीसीटी कैमरे में कैद:
एटीएम तोडऩे की पूरी वारदात सीसीटी कैमरे में कैद हो गई. फुटेज में देर रात दो युवक एटीएम में प्रवेश करते दिखाई दे रहे हैं. इसके बाद वह आधे घंटे की अवधि के बाद में एटीएम से बाहर निकलते हुए नजर आ रहे हैं. मौके पर पहुंची पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज को अपने कब्जे में लिया. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने में जुट गई है.

कोरोना रोकथाम के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर कोर ग्रुप का गठन, मुख्य सचिव ने दिए आदेश

पुलिस जवान तैनात:
लॉक डाउन के चलते शहर के प्रमुख चौराहों व प्रमुख स्थानों पर पुलिस जवान तैनात किए गए हैं, लेकिन, माउंट आबू मार्ग पर शांतिकुंज के समीप स्थित एटीएम लूट की असफल वारदात ने खाकी की मुस्तैदी को आइना दिखा दिया है. मुख्य मार्ग पर हुई असफल वारदात से पुलिस के साख और गश्ती पर बटटा लग रहा है.

बहू ने निभाया पुत्र धर्म, सास को दी मुखाग्नि

बहू ने निभाया पुत्र धर्म, सास को दी मुखाग्नि

आबूरोड(सिरोही): आबूरोड की पूनम कॉलोनी निवासी बहू ने पुत्र धर्म का निर्वहन किया. सास की अर्थी को कांधा दिया. श्मशान में अंतिम संस्कार के रिवाजों के साथ धार्मिक संस्कारों को अंजाम दिया. इसके बाद सास की पार्थिव देह को मुखाग्नि दी. 

Coronavirus Updates:. पूरे विश्व में अब तक 47 हजार से ज्यादा लोगों की मौत, 9 लाख 35 हजार से ज्यादा संक्रमित  

घर में पुरुष सदस्य नहीं होने के बावजूद श्रीमती गुप्ता ने संबल व धैर्य बनाए रखा:
बदलते परिवेश में सामाजिक सरोकारों में भी परिवर्तन आ रहा है. आधी दुनिया पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रही है. नित नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है. साथ ही अनुकरणीय कार्यो को अंजाम देकर समाज में एक मिसाल कायम कर रही है. इसी की बानगी पूनम कॉलोनी में देखने को मिली. कॉलोनी निवासी पूनम गुप्ता के 88 वर्षीय सास रुकमणी देवी की अक्समात मृत्यु हो गई. लॉक डाउन के चलते सूचना मिलने पर समाजबंधु व कुछ लोग मौके पर पहुंचे. लोगों ने उन्हें दिलासा दी. घर में पुरुष सदस्य नहीं होने के बावजूद श्रीमती गुप्ता ने संबल व धैर्य बनाए रखा. घर पर अंतिम संस्कार की तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया. श्रीमती गुप्ता ने अपनी सास की अर्थी को कांधा दिया. शव यात्रा के साथ अमरापुरी श्मशान घाट पहुंची जहां अंतिम संस्कारों को अंजाम दिया. इसके बाद सास की पार्थिव देह को मुखाग्नि दी. इस अवसर पर सुनील मंगला, महेंद्र समेत चुनिंदा लोग मौजूद थे.

VIDEO- Rajasthan Corona Update: कोरोना वायरस से जुड़ी आज की सबसे बड़ी खबर, अलवर के पॉजिटिव मरीज की जयपुर में हुई मौत 

श्रीमती गुप्ता के पति विनोद गुप्ता का 25 वर्ष पूर्व देहांत हो चुका:
एसबीआई में सीनियर असिस्टेंट कम हेड कैशियर के पद पर कार्यरत श्रीमती गुप्ता के पति विनोद गुप्ता का 25 वर्ष पूर्व देहांत हो चुका है. पति के देहांत से पहले इनके ससुर मांगीलाल की भी मृत्यु हो चुकी है. ऐसे में बीते 25 वर्षों से श्रीमती गुप्ता उनकी सास की देखभाल सेवा-सुश्रुषा कर रही थी. श्रीमती गुप्ता के भी दो पुत्रियां कीर्ति व पूर्वी है. दोनों का विवाह हो चुका है. दोनों नोएडा में है. ऐसे में घर में पुरुष सदस्य के नहीं होने के बावजूद भी वह बखूबी अपने कर्तव्यों का निर्वहन करती रही. सास की पुत्रवृत ना केवल सेवा की, बल्कि पूरे परिवार को एक सूत्र में बांधे रखा. 

...1st इंडिया न्यूज़ के लिए आबूरोड से मनोज चौरसिया की रिपोर्ट 

Rajasthan Lockdown: राहत के मसीहा बने भामाशाह और समाजसेवी, प्रवासी यात्रियों को मिली राहत

Rajasthan Lockdown: राहत के मसीहा बने भामाशाह और समाजसेवी, प्रवासी यात्रियों को मिली राहत

आबूरोड: कोरोना वायरस के संक्रमण के बचाव के तहत केंद्र सरकार की ओर से तीन सप्ताह का लॉक डाउन किया गया. जिसके चलते मावल और छापरी बॉर्डर पर गुजरात की तरफ से लोगों के आने का सिलसिला जारी है. लेकिन, बॉर्डर सील होने के चलते आने वाले प्रवासी लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. वहीं परेशान लोगों के लिए भामाशाह व समाजसेवी पूरे मनोयोग से जुटे हैं. मावल बॉर्डर पर लोगों को भोजन, अल्पाहार, पेयजल उपलब्ध करवाया जा रहा है. साथ ही शहरी क्षेत्र में भी समाजसेवी और भामाशाह राहत के मसीहा बने हुए है. वहीं आईजी व कमिश्नर ने मावल बॉर्डर पर व्यवस्थाओं का जायजा लिया.

India Corona Updates: देश में कोरोना का कहर बरकरार , पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 1005 तो 26 लोगों की मौत

बेहाल यात्रियों के लिए आगे आये भामाशाह: 
लॉकडाउन के चलते गुजरात से सटी मावल और छापरी बॉर्डर सील की जा चुकी है. लेकिन, गुजरात की तरफ से प्रवासी यात्रियों का आना लगातार जारी है. बड़ी तादाद में  यात्री दिन-रात पैदल चलकर और वाहनों से पहुंच रहे हैं. बॉर्डर सील होने के चलते उन्हें वहीं रोक दिया गया है. ऐसे में भूखे प्यासे और बेहाल यात्रियों के लिए भामाशाह और  समाजसेवी राहत के मसीहा बने हुए हैं. यात्रियों के लिए अल्पाहार भोजन और पेयजल की व्यवस्था की गई है. लगातार समाजसेवी और भामाशाह बॉर्डर पर भोजन, अल्पाहार और पेयजल की आपूर्ति में चौबीस घंटे जुटे हुए हैं. वहीं जीआरपी की ओर से भी भोजन व्यवस्था की गई. कलक्टर, एसडीएम, यूआईटी  सचिव ने बॉर्डर से दूरी बनाए रखी. आईजी नवज्योति गोगोई, संभागीय आयुकत बीएल कोठारी और एसपी कल्याणमल मीणा, डीएसपी प्रवीण कुमार ने जरुर एक बॉर्डर का जायजा लिया.

फंसे यात्रियों के आगे का मार्ग प्रशस्त:
देर रात को बॉर्डर सील होने से गुजरात और मावल बॉर्डर के बीच यात्री फुटबॉल बन गए. राजस्थान में उन्हें घुसने नहीं दिया गया. गुजरात बॉर्डर वाले उन्हें आगे जाने नहीं दे रहे थे. ऐसे में दोनों बॉर्डर के बीच में फंसे यात्रियो को समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर हो जाए तो जाए कहां. वहीं मौके पर तैनात अधिकारियों और कार्मिकों का व्यवहार उनके प्रति कड़वाहट भरा रहा. बनासकांठा के एडीएम भी मावल बॉर्डर पहुंचे. मौके पर मौजूद अधिकारियों से चर्चा की. इसके बाद ही फंसे यात्रियों के आगे का मार्ग प्रशस्त हो सका. रोडवेज की बसों सेे उन्हें गंतव्य के लिए भेजा गया. वहीं भामाशाह व समाजसेवी राहत की कमान संभाले हुए हैं.

कोरोना पर मन की बात, पीएम मोदी बोले, लॉकडाउन की वजह से जो असुविधा हुई इसके लिए मैं क्षमा मांगता हूं

यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच की:
मावल बॉर्डर पर गुजरात तरफ से आने वाले प्रवासी यात्रियों के स्वास्थ्य जांच के लिए स्वास्थ विभाग की ओर से माकूल इंतजाम किए गए. एम्स के आठ चिकित्सक और अलवर से चार चिकित्सक पहुंचे. किसको नर्सिंग स्टाफ ने यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच की. दूसरी तरफ राजकीय चिकित्सालय की टीम ने आकराभटटा में महाराष्ट्र से आए छह दर्जन से अधिक यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच की. 

माउंट आबू: नहीं रही राजयोगिनी दादी जानकी, 104 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

माउंट आबू: नहीं रही राजयोगिनी दादी जानकी, 104 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

आबूरोड: दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक संगठन ब्रह्माकुमारीज संस्थान की मुख्य प्रशासिका नारी शक्ति की प्रेरणा स्रोत और स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड अम्बेसडर राजयोगिनी दादी जानकी का देहावसान हो गया. वे 104 साल की थी, माउण्ट आबू के ग्लोबल हास्पिटल में 27 मार्च को प्रातः 2 बजे अंतिम सांस ली. राजयोगिनी दादी जानकी दुनिया की एकमात्र महिला थी जिससे मोस्ट स्टेबल माइंड इन वल्र्ड का खिताब था. स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड अम्बेसडर डाॅ. दादी जानकी का अंतिम संस्कार सायं 3.30 बजे ब्रह्माकुमारीज संस्थान के शांतिवन में होगा. 

कोरोना संकट और लॉकडाउन के मद्देनजर RBI की प्रेस कॉन्फ्रेंस, रेपो रेट में 75 बेसिस प्वाइंट की कटौती का एलान

आध्यात्मिक पथ को अपनाया:
दुनिया की दादी के नाम से मशहूर राजयोगिनी दादी जानकी का जन्म 1 जनवरी, 1916 को हैदराबाद सिंध (जो अभी पाकिस्तान में है) में हुआ था. दादी जानकी ने 21 वर्ष की उम्र में ही इस आध्यात्मिक पथ को अपना लिया था. सन् 1970 में भारतीय संस्कृति, मानवीय मूल्यों और राजयोग का संदेश देने के लिए पश्चिमी देशों का रुख किया था.

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में 25 दिन में पॉजिटिव मरीज पहुंचे 45, भीलवाड़ा में दो लोगों की मौत, 2 नये पॉजिटिव केस मिले

दादी जी नारी शक्ति की अनुपम मिसाल थी:
विश्व के 140 देशों में उन्होंने ब्रह्माकुमारीज केन्द्रों की स्थापना कर लाखों लोगों के अन्दर एक सच्चे मानव के संस्कार का बीज बोया था. ब्रह्माकुमारीज संस्थान की पूर्व मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी प्रकाशमणि के देहावसान के पश्चात सन 27 अगस्त, 2007 को वे संस्थान की मुख्य प्रशासिका बनी. दादी जी नारी शक्ति की अनुपम मिसाल थी. उनके सान्निध्य में तकरीबन 46 हजार युवा बहनों ने अपना जीवन ईश्वरीय सेवा में समर्पित किया. वे इन 46 हजार युवा बहनों की अभिभावक थी.

कोरोना के लॉकडाउन में ऑनलाइन शादी, वीडियो कॉल से किया निकाह

कोरोना के लॉकडाउन में ऑनलाइन शादी, वीडियो कॉल से किया निकाह

आबूरोड(सिरोही):कोरोना वायरस जहां लोगों को घरों में बंद रहने के लिए मजबूर कर रहा हैं, तो वहीं शादी समारोह के आयोजन भी प्रभावित हो रहे हैं. ऐसे में कई जोड़े शादी की रस्मे अब डिजिटल अंदाज में निभा रहे हैं. ऐसा ही एक मामला आबूरोड में भी सामने आया है. आबूरोड डूबनगर बस्ती निवासी मोहम्मद इरफान खान ने पालनपुर निवासी मिनाज बानो के साथ वीडियो कॉलिंग के जरिए निकाह किया. वैसे तो परिवार ने तीनों भाई-बहन की एक साथ विवाह करने व आयोजन में सभी मेहमानों को न्यौता दिया था. लेकिन, कोरोना वायरस के कारण आयोजनों को स्थगित करना पड़ा.

India Lock Down: केन्द्र सरकार का फैसला, अब देश के 80 करोड़ लोगों को 2 रुपए प्रति किलो के हिसाब से मिलेगा गेहूं

लॉकडाउन से आयोजन की अनुमति नहीं मिल रही थी:
शहर के लुनियापुरा डूबनगर निवासी अहमद खान पठान के पुत्र इरफान खान पठान, पुत्री रूबिना बानो व तब्बसुम बानों की शादी पालनपुर में तय की गई थी. शादी समारोह का आयोजन मंगलवार व बुधवार को होना था. लेकिन कोरोना वायरस के कारण किए गए लॉकडाउन से आयोजन की अनुमति नहीं मिल रही थी. ऐसे में दोनों परिवार ने अहमद खान पठान व मिनाज बानो का निकाह ऑनलाइन वीडियो कॉल के जरिए किया. मौलाना ने रस्मों रिवाज के साथ निकाह करवाया. अहमद खान पठान ने बताया कि प्रशासन की ओर से धारा 144 लगाए जाने से आयोजनों की अनुमति नहीं मिल रही थी. आयोजन में भीड़भाड़ होने की आशंका के चलते वीडियो कॉलिंग के माध्यम से निकाह की रस्म अदा की गई. दो बेटियों का निकाह कोरोना वायरस को लेकर किए गए लॉकडाउन के बाद करवाएंगे.

राज्यपाल कलराज मिश्र ने आमजन को दी वरीयता, राजभवन के चिकित्सा दल को किया रिलीव
 

स्वर्ण प्राशन आयुर्वेद टीकाकरण कार्यक्रम, 16 वर्ष तक के बच्चों को लगाया टीका

स्वर्ण प्राशन आयुर्वेद टीकाकरण कार्यक्रम, 16 वर्ष तक के बच्चों को लगाया टीका

माउंटआबू: पुष्य नक्षत्र के मौके पर राजस्थान आयुर्वेद विभाग द्वारा नन्हे बच्चों के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए इन दिनों कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें स्वर्ण प्राशन एक आयुर्वेदिक रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का उपाय है. जिसमें शुद्ध स्वर्ण भस्म वह दूध शहद ब्राह्मी शंखपुष्पी आदि औषधि का मिश्रण होता है. बच्चों को पिलाने पर यह विशेष उपयोगी होता है वही प्रतिमाह पुष्प नक्षत्र के दिन इसे पिलाने से विशेष लाभ होता है. 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जुड़े सवाल पर विधानसभा में हुआ जोरदार हंगामा

टीकाकरण अभियान का आगाज:
इसी कड़ी में आज माउंट आबू के अंबेडकर कॉलोनी स्थित राजकीय विद्यालय में टीकाकरण अभियान का आगाज किया गया, जिसमें प्रधान चिकित्सा प्रभारी अंजू वाधवा के अनुसार चिकित्सा बैंक में पद स्थापित चिकित्सा अधिकारी कांतिलाल माली एवं अन्य कर्मचारियों ने मिलकर माउंट आबू के इस विद्यालय में शिविर का आयोजन किया गया. 

जैसलमेर के जवाहर अस्पताल में एक संदिग्ध मौत, सर्दी जुकाम से पीड़ित था मरीज

बच्चों को पिलाई औषधि:
कार्यक्रम में बच्चों को औषधि पिलाई गई, वहीं राजकीय चिकित्सालय में भामाशाह मणि भाई एवं भामाशाह के सहयोग से आज सुवर्णप्राशन टीकाकरण औषधि पिलाई जिससे बच्चों का बौद्धिक विकास हो सके इसी उद्देश्य के साथ इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया. 

Open Covid-19