अजमेर: पाक जायरीन जत्थे के साथ मीडिया की बातचीत पर पूरी तरह से पांबदी, वीडियो लेने की भी मनाही

अजमेर: पाक जायरीन जत्थे के साथ मीडिया की बातचीत पर पूरी तरह से पांबदी, वीडियो लेने की भी मनाही

अजमेर: पाक जायरीन जत्थे के साथ मीडिया की बातचीत पर पूरी तरह से पांबदी, वीडियो लेने की भी मनाही

अजमेर: ख्वाजा गरीब नवाज के 808वें उर्स में दो साल बाद आ रहे पाकिस्तानी जायरीन जत्थे की सुरक्षा को लेकर अजमेर पुलिस और प्रशासन ज्यादा चिंतित है. मौजूदा हालातों और जत्थे के विरोध की संभावनाओं को देखते हुए सुरक्षा के लिहाज से इस बार मीडिया कवरेज को लेकर भी कुछ सावधानियां बरती जा रही है.

VIDEO: पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव से जुड़ी बड़ी खबर, 15 मार्च को होंगे 707 ग्राम पंचायतों के चुनाव 

मीडिया की बातचीत पर पूरी तरह से पांबदी रहेगी: 
इसी को लेकर आज कलेक्टर विश्वमोहन शर्मा और एसपी कुवंर राष्ट्रदीप ने मीडियाकर्मियों के साथ बैठक कर उन्हें जरूरी सावधानियों के बारे में बताया. एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा कि पाकिस्तान के आने वाले जत्थे के सदस्यों के साथ मीडिया की बातचीत पर पूरी तरह से पांबदी रहेगी. इसके साथ ही पाक जत्थे के अजमेर में रूकने के दौरान उनके मूवमेंट की जानकारियां भी साझा नही होगी. साथ ही जत्थे के सदस्यों की क्लोजअप तस्वीरें और वीडियो लेने की भी मनाही होगी. 

VIDEO: बूंदी का मेज नदी बस हादसा मामला, हर मृतक के परिजनों को मिलेगा ₹5 लाख का मुआवजा 

अजमेर में पिछले तीन दिनों में हुई दो बडी गिरफ्तारियां: 
इस सबके पीछे बडा कारण मौजूदा हालात है जिसमें दिल्ली दंगों के साथ ही अजमेर में पिछले तीन दिनों में हुई दो बडी गिरफ्तारियां है जिसमें एक ने कलेक्टर दफ्तर में पाक जत्थे के आने पर दरगाह को बम से उड़ाने की धमकी दी थी और दूसरा पाक जत्थे को लेकर सोशल मीडिया पर भडकाउ पोस्ट डालने से जुडा था. सुरक्षा के लिहाज से यह फैसला लिया गया है.  

और पढ़ें