पंचतत्व में विलीन हुई मोहन कंवर, बेटे गजेंद्र सिंह शेखावत ने माता की चिता को दी मुखाग्नि

पंचतत्व में विलीन हुई मोहन कंवर, बेटे गजेंद्र सिंह शेखावत ने माता की चिता को दी मुखाग्नि

पंचतत्व में विलीन हुई मोहन कंवर, बेटे गजेंद्र सिंह शेखावत ने माता की चिता को दी मुखाग्नि

जोधपुर: केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत की माताश्री मोहन कंवर चम्पावतजी की पार्थिव देह पंच तत्वों में विलीन हो गई. सोमवार को दोपहर जोधपुर में नागौरी गेट कागा स्थित राजपूत शमशान गृह में सम्पूर्ण विधि विधान से अन्तिम संस्कार किया गया. इकलौते पुत्र जोधपुर सांसद केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत माताजी के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी. इससे पहले अजीत कॉलोनी स्थित निवास स्थान से श्रीमती मोहन कंवर की अंतिम विदाई की रस्म अदा की गई. इसके बाद शव यात्रा नागौरी गेट स्थित राजपूत शमशान गृह पहुंची, जहां पर विधि विधान से अन्तिम संस्कार किया गया. 

केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत की माताजी मोहन कंवर गत काफी समय से बीमार थीं. उनका काफ़ी समय से श्वास सम्बंधी बीमारी का दिल्ली एम्स में इलाज चल रहा था. सरल सौम्य स्वभाव की धनी धार्मिक प्रवृत्ति की श्रीमती मोहन कंवर चम्पावतजी समाजसेवा से जुड़ी रही. शेखावत की माताश्री ने रविवार रात को दिल्ली एम्स अस्पताल में अन्तिम सांस ली. देर रात श्रीमती मोहन कंवर का पार्थिव शरीर सड़क मार्ग से एंबुलेंस से जोधपुर के लिए रवाना किया गया. मंत्री शेखावत परिवार के सदस्यों के साथ ही सड़क मार्ग से सुबह करीब दस बजे माताश्री का शव के साथ जोधपुर पहुंचे. यहां पर पहुंचते ही मंत्री शेखावत की बहनें और परिवार के सदस्य फूट फूट कर रोने लगे. ऐसे में माहौल गमगीन हो गया. 

मंत्री शेखावत की माताजी मोहन कंवर की शव यात्रा में राज्यसभा सांसद राजेन्द्र गहलोत, पूर्व केंद्रीय मंत्री पीपी चौधरी, पूर्व सांसद सीआर चौधरी, महाराजा सूरवीर सिंह,  प्रदेश उपाध्यक्ष प्रसन्न मेहता, महापौर दक्षिण वनिता सेठ, विधायक पब्वाराम विशोनी, जैतारण विधायक अविनाश गहलोत,  जिला अध्यक्ष देवेन्द्र जोशी, उप महापौर किशन लड्ढा, शेरगढ़ पूर्व विधायक बाबू सिंह राठौड़, लूणी विधायक महेन्द्र विश्नोई,पूर्व महापौर घनश्याम ओझा, पूर्व कैबिनेट मंत्री शंभू सिंह खेतासर ने श्रद्धांजलि अर्पित की.

केन्द्रीय मंत्री शेखावत की माताजी श्रीमती मोहन कंवर की अंतिम विदाई यात्रा अजीत कॉलोनी स्थित निवास से दोपहर करीब एक बजे रवाना हुई जो, सर्किट हाउस कमला नेहरू कॉलेज के सामने से होकर पावटा चौराहा, खेत सिंह का बंगला होते हुए नागौरी गेट स्थित श्री राजपूत शमशान गृह पहुंची. जहां पर दोपहर में सम्पूर्ण विधि विधान से अन्तिम संस्कार किया गया. पिता शंकर सिंह शेखावत, डॉक्टर बी एस जोधा, दुर्गादास सिंह राठौड़, शिवदास सिंह राठौड़, राजेन्द्र सिंह राठौड़, रविन्द्र सिंह मामडोली सहित परिवार के सदस्यों की मौजूदगी में मंत्री गजेंद सिंह शेखावत ने माताश्री मोहन कंवर को मुखाग्नि दी.

और पढ़ें