अजमेर CORONA EFFECT: गणेश चतुर्थी पर घर-घर होगी गणपति बप्पा की पूजा, इस बार पंडाल में नहीं विराजंगे गणपति

CORONA EFFECT: गणेश चतुर्थी पर घर-घर होगी गणपति बप्पा की पूजा, इस बार पंडाल में नहीं विराजंगे गणपति

CORONA EFFECT:  गणेश चतुर्थी पर घर-घर होगी गणपति बप्पा की पूजा, इस बार पंडाल में नहीं विराजंगे गणपति

अजमेर: राजस्थान के अजमेर जिले में शनिवार को गणेश चतुर्थी मनाई जाएगी. कोरोना संक्रमण के चलते इस बार मोहल्लों और सार्वजनिक स्थानों पर गणपति की प्रतिमाओं की स्थापना-महोत्सव नहीं होंगे. लोग घरों में प्रथम पूज्य को स्थापित कर पूजन करेंगे. गणेश चतुर्थी पर शनिवार को सिद्धि विनायक का श्रंगार किया जाएगा. कोरोना संक्रमण के चलते मंदिरों में पुजारी ही गणपति का पूजन-श्रंगार, भोग लगाकर आरती करेंगे.

विधि-विधान से गणेश प्रतिमाओं की स्थापना:
शहर में कई स्थानों पर विधि-विधान से गणेश प्रतिमाओं की स्थापना की जाती है. कोरोना संक्रमण के चलते इस बार पारम्परिक मेले और सार्वजनिक गणेश महोत्सव नहीं होंगे. कुछ स्थानीय कलाकारों ने गणपति की मूर्तियां बनाई हैं. मार्टिंडल ब्रिज और आसपास के इलाकों में प्रतिमाएं बिक्री के लिए पहुंची हैं. आनासागर चौपाटी-गौरव पथ पर भी गणेश प्रतिमाओं की बिक्री होती है. कोरोना संक्रमण के कारण मूर्तियां ज्यादा नहीं दिखी हैं. लोग मिट्टी के गणेश अथवा फोटो लगाकर पूजन करेंगे.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 695 नए केस, 5 मरीजों की मौत,  सीकर में मिले 173 पॉजिटिव

पंडाल लगाकर नहीं किए जाएंगे गणेश जी विराजमान:
वहीं अजमेर नगर निगम के द्वारा मूर्ति कारों को मूर्ति बेचने के लिए संदेश जारी किए गए हैं शहर में इस बार पंडाल लगाकर गणेश जी विराजमान नहीं किए जाएंगे जिस कारण से बड़ी मूर्तियों को लेकर के भी पाबंदी लगाई गई है, वहीं मूर्तियों को प्लास्टर की बजाय मिट्टी के बनाने के निर्देश दिए गए हैं.

मंदिर में श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं:
मंदिर के पुजारी घनश्याम आचार्य ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते मंदिर में श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. सुबह 5 बजे आरती, 8 बजे गणपति अथर्वशीष, 11 बजे पंचामृत अभिषेक और दोपहर 12 बजे महाआरती होगी. शाम को गणपति का फूलों से श्रंगार और आरती होगी.

15वीं विधानसभा का पांचवां सत्र: कालीचरण के आरोप के बाद सदन में जमकर हंगामा, कार्यवाही आधे घंटे के लिए स्थगित

और पढ़ें