VIDEO: जयपुर में चलती कार में गैंगरेप का खुलासा, एक के बाद एक तीन कारों में शिफ्ट कर युवती से दुष्कर्म

VIDEO: जयपुर में चलती कार में गैंगरेप का खुलासा, एक के बाद एक तीन कारों में शिफ्ट कर युवती से दुष्कर्म

जयपुर: सोशल मीडिया पर चलती कार में एक महिला के साथ दुष्कर्म का वीडियों वायरल होने के बाद पुलिस ने पीड़िता को जयपुर बुलाकर मुकदमा दर्ज कर 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. घटना करीब 6 महीने पहले की बतायी जा रही है. यूपी में सोशल मीडिया पर चलती हुआ कार में गैंग रेप का एक वीडियों वायरल हुआ. वीडियो जब जयपुर पुलिस को मिला तो पता चला तो इसकी जांच की गई. वीडियो में महिला के साथ गैंगरेप होना स्पष्ट हो रहा था. इस वीडियो में एक महिला व पुरुष के साथ अन्य व्यक्तियों की आवाज आ रही थी. साथ ही एक व्यक्ति महिला की पिटाई भी कर रहा था. पुलिस को आवाज जयपुर क्षेत्र के लोगों से मिलती जुलती लगी. पुलिस ने मामले को गभीरता से लेते हुए जांच शुरू की. जांच में पीड़िता की पहचान यूपी निवासी महिला के रुप में हुई. पुलिस ने पीड़िता को जयपुर बुलाकर मानसरोवर थाने में पीड़िता की ओर से मुकदमा दर्ज किया.

कार में बैठे अन्य लोगों ने बना लिया उसका वीडियो:
पीड़िता ने पुलिस में मामला दर्ज कराते हुए बताया कि 19 अक्टूबर 2020 को वह न्यू सांगानेर रोड़ स्थित साईं कृपा होटल में रुकी थी. इस दौरान महिला के जानकार संजू बंगाली ने उसे पैसों का लालच देकर एक लड़के के साथ भेज दिया. उस लड़के ने यश होटल के पास मांग्यावास में एक कार में बैठा लिया. कार में पहले से 4 अन्य लोग सवार थे. कार सवार युवकों ने महिला का मोबाइल छीन लिया और महेन्द्रा सेज की ओर ले जाकर महिला से बलात्कार किया. इस दौरान कार में बेठे अन्य लोगों ने उसका वीडियो बना लिया.

मामले में करीब 12 लोगों को माना जा रहा है आरोपी:
इस दौरान 2 अन्य कार सवार युवक भी आये और दूसरी कार में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया. मामले में करीब 12 लोगों को आरोपी माना जा रहा है जो कि युवती के साथ दुष्कर्म और मारपीट की घटना में शामिल थे. पीड़िता ने बताया कि वह इन लागों में गुलाब और अभिषेक को पहचानती है. गुलाब ने पीड़िता को धमकी दी थी कि अगर उसने इस बारे में किसी को बताया तो वीडियो वायरल करके उसे बदनाम कर देगा.जिसके चलते 6 माह बीत जाने पर भी पीड़िता ने गैंग रेप के बारे में किसी को नही बताया.

पीड़िता ने करवाया मानसरोवर थाने में मामला दर्ज:
एडिश्नल पुलिस कमिश्नर अजयपाल लांबा ने बताया कि मामले में शहर के चारों डीसीपी सहित करीब 10 आईपीएस और 40 सीआई की टीम बनाई गई. टीम में करीब 100 पुलिसकर्मी शामिल थे जो कि पीड़िता और आरोपी युवकों की तलाश कर रहे थे.रविवार सुबह जाकर पुलिस को महिला के उत्तर प्रदेश के हरदोई में रहने की जानकारी मिली जिसके बाद पुलिस ने युवती से संपर्क किया और उसे जयपुर बुलाया. रविवार रात को युवती ने मानसरोवर थाने में मामला दर्ज करवाया. जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए लखनऊ, इंदौर और जयपुर के कई इलाकों में दबिश देकर अभिषेक, मोंटी व संजू बंगाली को गिरफ्तार किया है.

गैंग अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने का करती है काम:
बताया जा रहा है ये गैंग अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने का काम करती है. गैंग उत्तर प्रदेश निवासी एक युवक का भी वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रही थी. युवक को युवती का बनाया गया वीडियो भेजकर धमकी दी थी. उक्त युवक ने आरोपियों को सबक सीखाने के लिए उत्तर प्रदेश में वायरल कर दिया. मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल करवाकर 161 सीआरपीसी के बयान करवा दिए है.पीड़िता के वायरल हो रहे वीडियो को भी आईटी टीम की मदद से रुकवाया गया है.पुलिस अब अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है.

और पढ़ें