रोहित की चोट को लेकर भारतीय टीम प्रबंधन और चयनकर्ताओं पर बरसे गंभीर, कहा-शास्त्री को उसके बारे में कोहली को बताना चाहिए था

रोहित की चोट को लेकर भारतीय टीम प्रबंधन और चयनकर्ताओं पर बरसे गंभीर, कहा-शास्त्री को उसके बारे में कोहली को बताना चाहिए था

रोहित की चोट को लेकर भारतीय टीम प्रबंधन और चयनकर्ताओं पर बरसे गंभीर, कहा-शास्त्री को उसके बारे में कोहली को बताना चाहिए था

नई दिल्ली: भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का मानना है कि रोहित शर्मा की चोट को लेकर भारतीय टीम प्रबंधन और चयनकर्ताओं के बीच संवादहीनता ‘दुर्भाग्यपूर्ण ’ है और मुख्य कोच रवि शास्त्री को इस बारे में कप्तान विराट कोहली को बताना चाहिये था.

कोहली ने कहा था कि तस्वीर स्पष्ट नहीं होने और गलतफहमी की वजह से टीम प्रबंधन उनकी उपलब्धता को लेकर ‘बस इंतजार’ ही करता रह गयाः
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे श्रृंखला शुरू होने से पहले कोहली ने रोहित की चोट को लेकर लग रही अटकलबाजियों पर नाराजगी जताते हुए कहा कि ‘तस्वीर स्पष्ट नहीं होने और गलतफहमी’ की वजह से टीम प्रबंधन उनकी उपलब्धता को लेकर ‘बस इंतजार’ ही करता रह गया.

गंभीर ने कहा कि रोहित भारतीय बल्लेबाजी क्रम का अभिन्न अंग है और ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उनकी जरूरत थीः
गंभीर ने कहा कि सभी पक्ष इस स्थिति से बेहतर तरीके से निपट सकते थे. उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि कप्तान कह रहा है कि उसे इस बारे में पता नहीं है. इस पूरे मामले में सबसे अहम तीन व्यक्ति मुख्य फिजियो, मुख्य कोच और चयन समिति के अध्यक्ष हैं. गंभीर ने स्टार स्पोटर्स के शो ‘ क्रिकेट कनेक्टेड’ पर कहा कि इन लोगों को एकमत होना चाहिए था. मुख्य कोच को चाहिए था कि वह रोहित शर्मा के बारे में विराट कोहली को ताजा जानकारी दे. गंभीर ने कहा कि रोहित भारतीय बल्लेबाजी क्रम का अभिन्न अंग है और ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उनकी जरूरत थी. उन्होंने कहा कि आप प्रेस कॉन्फ्रेंस में जा रहे हैं और कह रहे हैं कि रोहित शर्मा की चोट को लेकर कोई ताजा जानकारी नहीं है जो काफी दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि वह अहम खिलाड़ी है. उन्होंने कहा कि इस मसले पर बेहतर संवाद और समन्वय हो सकता था जिसकी कमी दिखी. 

वीवीएस लक्ष्मण ने गंभीर से सहमति जताते हुए कहा- रोहित को टीम का हिस्सा होना चाहिए थाः
भारत के पूर्व स्टायलिश बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने भी गंभीर से सहमति जताते हुए कहा कि रोहित को टीम का हिस्सा होना चाहिए था. उन्होंने कहा कि रोहित को चुना जाना चाहिए था. यह संवाद की कमी निराशाजनक है. मैं हैरान हूं कि वाट्सअप समूहों और संचार के इस दौर में ऐसी स्थिति है. उन्होंने कहा कि टीम प्रबंधन, चयन समिति और बोर्ड की मेडिकल टीम के बीच जरूर कोई वाट्सअप ग्रुप होगा. आम तौर पर सब कुछ टीम प्रबंधन को बताया जाता है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें