EXCLUSIVE INTERVIEW: कोरोना के बढ़ते मामलों पर बोले चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा, कहा- अब जीवन-जीविकोपार्जन दोनों सरकार के लिए जरूरी

EXCLUSIVE INTERVIEW: कोरोना के बढ़ते मामलों पर बोले चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा, कहा- अब जीवन-जीविकोपार्जन दोनों सरकार के लिए जरूरी

जयपुर: कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर गहलोत सरकार ने जागरूकता के साथ ही अब फिर से सख्ती शुरू कर दी है.प्रदेश में आठ शहरों में जहां नाइट कर्फ्यू लगाया गया है, वहीं दूसरी ओर राजस्थान में एंट्री के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट की अनिवार्यता लागू की गई है.इस फैसले को लेकर चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा का कहना है कि सरकार के लिए अब जीवन बचाना और जीविकोपार्जन दोनों जरूरी है.इसी को ध्यान में रखते हुए सख्ती शुर की गई है.हालांकि, चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने साफ कहा है कि कोरोना की दूसरी वेव से लड़ने के लिए सीएम गहलोत के निर्देशन में पूरा सरकारी अमला तैयार है.कोरोना की नई गाइडलाइन और विभाग की तैयारियों को लेकर चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने खास बातचीत की हमारे संवाददाता विकास शर्मा ने.

राजस्थान में फिर सर्विंलास पर विशेष फोकस:
-मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि राजस्थान समेत देशभर में बढ़ रहे केस
-ऐसे में सरकार ने एक बार फिर कॉन्ट्रेट ट्रेसिंग, पैसिव और
-एक्टिव सर्विलांस पर विशेष फोकस शुरू कर दिया है
-चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने फर्स्ट इंडिया के जरिए की अपील
-जिस तरह पहली वेव में आमजन से पूरे संयम के साथ कोरोना का मुकाबला किया
-वैसे ही आगे भी जनता पूरा सहयोग करें,ताकि कोरोना को समाप्त किया जा सके

कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट नहीं तो 15 दिन का क्वारेंटाइन:
-कोरोना के बढ़ते मामलों पर बोले चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा
-शर्मा ने कहा, महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, गुजरात सहित कई प्रदेशों में बढ़े केस
-इसको देखते हुए सरकार ने सभी राज्यों से आने वाले लोगों की नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है
-रिपोर्ट नहीं लाने वाले लोगों को 15 दिन क्वारंटीन में रखा जाएगा.

पांच लोग पॉजिटिव, तो इलाका बनेगा माइक्रो कंटेनमेंट जोन:
-कोरोना के बढ़ते मामलों पर बोले चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा
-डॉ. शर्मा ने कहा कि कोरोना से बचाने के लिए 8 शहरों में रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू
-नई एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर) को भी किया गया लागू
-इसके तहत 5 व्यक्तियों से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीजों यदि मिले
तो उस क्षेत्र को माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाएगा
-शादी—समारोह में 200 और अंत्येष्टि में 20 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकेंगे

दीपावली पर दिया साथ,अब होली पर भी दिखाएं जागरूकता:
-कोरोना के बढ़ते मामलों पर बोले चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा
-डॉ. शर्मा ने कहा कि आगामी दिनों में होली,गणगौर और नवरात्र जैसे कई त्योहार हैं
-ऐसे में जीवन को सर्वोच्च प्राथमिकता रखते हुए पूरी सावधानी बरतें
-भीड़ से दूर रहने का प्रयास करें
-त्योहार सुरक्षित रहें इसके लिए आवश्यक है कि सभी कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाए
-उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में आमजन का सहयोग पूर्णतया अपेक्षित है
-पूरी सावधानी और सतर्कता से कोरोना को मात देने में सफल हो सकेंगे

चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा का EXCLUSIVE INTERVIEW:
-कोरोना के बढ़ते मामलों पर बोले चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा
-वैक्सीनेशन के बाद भी संक्रमण संभव, मास्क लगाना ना भूलें
-उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के मामले में राजस्थान सिरमौर बना हुआ है
-प्रदेश में व्यापक स्तर पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है
-उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन वाले लाभार्थी समय पर दोनों डोज लगवाएं
-वैक्सीनेशन को लेकर फैलायी जा रही अफवाहों पर ध्यान ना दें
-उन्होंने कहा कि हालांकि दोनों डोज लगने के बाद भी कोरोना से संक्रमित हो सकता है
-लेकिन ऐसे में जनहानि की आशंका नगण्य हैं
-उन्होंने कहा कि मास्क वैक्सीन से ज्यादा प्रभावी है
-इसलिए घर से बाहर निकलते समय मास्क लगाना नहीं भूलें।

चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा का EXCLUSIVE INTERVIEW:
-कोरोना के बढ़ते मामलों पर बोले चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा
-उन्होंने कहा है कि एंटी कोरोना वैक्सीन पूर्ण रुप से सुरक्षित है
-पात्र व्यक्ति अपना क्रम आने पर आवश्यक रुप से वैक्सीनेशन कराएं
-उन्होंने कहा कि राज्य में वैक्सीनेशन ड्राइव सुगमता से संचालित की जा रही है
-21 मार्च तक राजस्थान में 42 लाख से अधिक लोगों को एंटी कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है
-राज्य के सभी वैक्सीनेशन सेंटर पर नियमित रुप से वैक्सीनेशन किया जा रहा है
-उन्होंने कहा कि एंटी कोरोना वैक्सीनेशन की दोनों डोज लगाना अनिवार्य है
-इसलिए जिन लाभार्थियों ने पहली डोज लगवाई है वे 28 दिन बाद आवश्यक रुप से दूसरी डोज लगवाएं.

और पढ़ें