close ads


आरटीई के लिए गहलोत सरकार बडा फैसला, 1 लाख की जगह अब ढाई लाख होगी आय सीमा

जयपुर: राजस्थान में आरटीई के जरिए प्रवेश पाने वाले बच्चों के अभिभावकों को सीएम अशोक गहलोत ने बड़ी सौगात दी है. अब आरटीई के जरिए स्कूलों में प्रवेश पाने वाले बच्चों के अभिभावकों की आय सीमा बढाकर ढाई लाख रुपए कर दी गई है. पहले यह आय सीमा एक लाख रुपए थी. इस फैसले के बाद तमाम गरीब और मध्यम तबके के लोगों में खुशी है. सीएम गहलोत शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए​ शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की. इस बैठक में इस फैसले पर मुहर लगी.

सचिवालय कंप्यूटर ऑपरेटरों का प्रदर्शन, पिछले 3 महिने से नहीं मिला वेतन, आत्मदाह की दी चेतावनी

पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार ने की थी एक लाख तक की आय:
अब RTE में एडमिशन में इकोनॉमिक वीकर की परिभाषा में बदलाव हो जाएगा. अब आरटीई में 2.5 लाख तक सालाना आय वाला परिवार शामिल होगा. शैक्षिक सुधारों की दृष्टि से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का ऐतिहासिक फैसला है. पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने ढाई लाख से 1 लाख रुपए की सीमा कर दी थी. उस समय गोविंद सिंह डोटासरा ने इस फैसले का सर्वाधिक विरोध किया था.

अब गरीब और मध्य वर्ग को मिलेगा फायदा:
इस फैसले का फायदा निजी स्कूलों को मिल रहा था. गरीब तबके के बच्चे और अभिभावकों के सामने भारी समस्या थी. आखिर सीएम गहलोत ने गरीब-निम्न मध्यमवर्गीय लोगों की बात सुनी और इस बडे फैसले पर मुहर लग गई. इससे पहले शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने सीएम को प्रजेंटेशन दिया था. 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान के 33 जिलों में से 31 में पहुंचा संक्रमण, कुल संक्रमित 3491, जयपुर में सबसे ज्यादा केस 

और पढ़ें