Good News : हृदय रोगियों के लिए गहलोत सरकार का बड़ा कदम, अब मुफ्त में होगा इलाज

Vikas Sharma Published Date 2019/05/28 04:00

जयपुर: प्रदेश में हृदय रोगियों के लिए बड़ी राहत की खबर है. राजस्थान में हार्ट की विभिन्न बीमारियों से पीडित लोगों को अब न सिर्फ निशुल्क चिकित्सा सुविधा मिलेगी, बल्कि राज्य सरकार ऐसे सभी मरीज और उनके परिजनों के परिजन का खर्च भी खुद वहन करेगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर इसके लिए चिकित्सा विभाग ने आज गुजरात के प्रशांती मेडिकल सर्विसेज रिसर्च फाउण्डेशन के साथ नि:शुल्क चिकित्सा और परिवहन खर्च का एमओयू करार किया। एक रिपोर्ट:

चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा की मौजूदगी में हुआ MOU:
प्रशांती मेडिकल सर्विसेज रिसर्च फाउण्डेशन का श्री सत्य साई सेवा अस्पताल. एक ऐसी जगह, जहां पिछले कई सालों में हार्ट के मरीजों का निशुल्क उपचार किया जा रहा है. फिर चाहे वो ओपन हार्ट सर्जरी हो या फिर बायपास सर्जरी. पिछले एक साल से संस्था राजस्थान में काम कर रही है. जिससे प्रभावित होकर सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संस्था के काम को एक विधिपूर्वक संचालित करना तय किया. चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा की मौजूदगी में चिकित्सा विभाग के निदेशक वी के माथुर और श्री सत्य साई हार्ट हास्पिटल राजकोट के मैनेजिंग ट्रस्टी मनोज भिमानी ने एमओयू पर साइन किए. चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने एमओयू को हार्ट पेंशेट के लिए बड़ी सौगात बताया और कहा कि राजस्थान सरकार चिकित्सा के क्षेत्र में लगातार मरीजों के लिए हितकारी फैसले ले रही है.

आखिर कितने मरीज होंगे लाभान्वित:
—देश में हर साल डेढ लाख से अधिक बच्चे हार्ट की दिक्कत लेकर पैदा होते है
—इसमें से अधिकांश के दिल में छेद की बीमारी होती है 
—महंगे इलाज का खर्च नहीं उठा पाने के चलते 80 हजार बच्चे तोड़ देते है दम 
—इन्हीं बच्चों की पीड़ा को समझा सीएम अशोक गहलोत ने और हार्ट पेशेंट की निशुल्क चिकित्सा के लिए उठाया विधिवत कदम 
—राज्य सरकार प्रति मरीज व उसके एक रिश्तेदार का देगी परिवहन व्यय
—अधिकतम 5 हजार रूपये का परिवहन व्यय का खर्च करेगी सरकार

हार्ट कैम्प 2 जून को:
प्रशांती मेडिकल सर्विसेज रिसर्च फाउण्डेशन के अहमदाबाद और राजकोट में श्री सत्य साई सेवा अस्पताल संचालित किए जा रहे हैं. अस्पताल में स्थापना के बाद से अब तक देशभर के करीब 16 लाख लोगों को निशुल्क जांच की गई है. वहीं 18 साल में करीब 16 हजार ह्दयरोगियों के निशुल्क आपरेशन किये गये हैं. वर्ष 2018 से अब तक राजस्थान के करीब 250 से अधिक ह्दयरोग से पीड़ित लोगों का निशुल्क उपचार किया जा चुका है. राज्य सरकार के साथ एमओयू साइन होते ही संस्थान ने जयपुर में निशुल्क हार्ट कैम्प 2 जून को आयोजित करने जा रहा है. ऐसे ही शिविर दूसरे जिलों में भी आयोजित किए जाएंगे, जहां से मरीजों को चिन्हित मरीजों में से बच्चों की अहमदाबाद और बड़े मरीजों की राजकोट में निशुल्क सर्जरी होगी.

बच्चों से लेकर 60 साल तक के मरीजों के निशुल्क चिकित्सा:
सरकार के साथ हुए दो साल के एमओयू के तहत संस्थान हर साल एक हजार मरीजों का निशुल्क ऑपरेशन करेगी. इसमें शर्ते ये रहेगी कि मरीज की उम्र 60 साल से कम हो और परिवार की आमदनी हर माह 20 हजार तक ही हो. यानी गरीब ही नहीं मध्यम वर्ग तक के परिवार सरकार की इस कवायद से निशुल्क हार्ट ऑपरेशन करा सकेंगे.

... संवाददाता विकास शर्मा की रिपोर्ट 


First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in