Live News »

VIDEO: प्रदेश के रूफटॉप रेस्टोरेंट्स को गहलोत सरकार ने दी बड़ी राहत, बाइलॉज जारी 

जयपुर: प्रदेश के प्रमुख शहरों में चल रहे रूफ टॉप रेस्टोरेंट्स को प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार ने बड़ी राहत दी है. इन रेस्टोरेंट्स के संचालन का अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए नगरीय विकास विभाग व स्वायत्त शासन विभाग ने बाइलॉज जारी कर दिए हैं. आखिर किन मापदंडों के आधार पर रूफ टाॅप रेस्टोरेंट्स का संचालन हो सकेगा, खास रिपोर्ट:

वर्तमान में कोई नियम-कायदे नहीं:
प्रदेश के कई प्रमुख व पर्यटक शहरों में इमारतों की छतों पर रूफ टॉप रेस्टोरेंट्स चल रह हैं. इन रेस्टोरेंट्स के संचालन के लिए वर्तमान में कोई नियम-कायदे नहीं हैं. बिना नियम कायदों के मनमर्जी से इन रेस्टोरेंट्स का संचालन किया जा रहा है. इसके चलते कई रेस्टोरेंट्स में अग्निशमन के प्रावधान नहीं किए गए. वहीं आपदा के समय बचाव के लिए सुरक्षित निकास भी नहीं हैं. रेस्टोरेंट्स में आपदा के दौरान किसी प्रकार की जनहानि नहीं हो,अग्निशमन के पुख्ता प्रबंध हो,पार्किंग के लिए पर्याप्त स्थान मौजूद हो, इसे सुनिश्चित करने के लिए नगरीय विकास विभाग और स्वायत्त शासन विभाग ने आज नगरीय विकास विभाग और स्वायत्त शासन विभाग बाइलॉज जारी किए. नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल की अध्यक्षता में 22 नवम्बर को बैठक हुई थी. इस बैठक में लिए फैसलों के आधार पर ही ये बाइलॉज जारी किए गए हैं आपको बताते हैं कि इन बाइलॉज में क्या मापदंड तय किए गए हैं. 

रूफ टॉप रेस्टोरेंट्स को पूरे करने होंगे ये तकनीकी मापदंड:
—रूफ टॉप रेस्टोरेंट्स संस्थानिक व व्यावसायिक इमारतों और व्यावसायिक सड़कों पर स्थित इमारतों में संचालित किए सकेंगे
—छत का अधिकतम 25 प्रतिशत क्षेत्र स्टील या एल्युमिनय के ढांचे से कवर किया जा सकेगा
—इस अस्थायी निर्माण की ऊंचाई 4 मीटर से अधिक नहीं होगी  
—रेस्टोरेंट्स के लिए चार सीट्स पर एक कार के हिसाब से अलग से पार्किंग रखनी होगी 
—छत पर रेलिंग की ऊंचाई कम से कम डेढ़ मीटर होगी
—फायर सेफ्टी नॉर्म्स की पालना करते हुए फायर एनओसी लेनी होगी

रूफ टॉप रेस्टोरेंट्स के इन तकनीकी मापदंडों के अलावा और भी मापदंड इन बाइलॉज में तय किए गए हैं. इनके तहत रेस्टोरेंट्स में आने वाले लोगों की सुरक्षा को लेकर किस तरह के प्रावधान किए जाने चाहिए हैं, वह भी इसमें बताया गया है. 

रूफ टॉप रेस्टोरेंट्स के लिए अन्य महत्वपूर्ण मापदंड:
—रेस्टोरेंट्स के बिल्डिंग प्लान की संबंधित निकाय से स्वीकृति लेनी होगी
—संबंधित निकाय से रेस्टोरेंट के लिए एनओसी लेना जरूरी होगा
—आपदा के समय सुरक्षित निकास के लिए ले आउट प्लान प्रदर्शित करना जरूरी होगा
—वर्ष में कम से कम एक बार रेस्टोरेंट्स की थर्ड पार्टी ऑडिट कराई जाएगी
—हर रेस्टोरेंट्स में एक फायर एक्सपर्ट की नियुक्ति की जाएगी, जो स्टाफ को फायर सेफ्टी के लिए प्रशिक्षित करेगा
—यह फायर एक्स्पर्ट समय-समय पर फायर सेफ्टी चैक के लिए मॉक ड्रिल भी करेगा
—एलपीजी स्टोव व काेयले के चूल्हे का इस्तेमाल करना प्रतिबंधित होगा
—स्ट्रक्चरल इंजीनियर से अस्थायी निर्माण व पूरी इमारत का सेफ्टी सर्टिफिकेट लेना जरूरी होगा
—अस्थायी निर्माण के लिए नेशनल बिल्डिंग कोड की पालना की जाएगी
—सभी मापदंडों की पालना सुनिश्चित करने के उद्देश्य से निकाय में एक कमेटी का गठन हाेगा
—यह कमेटी समय-समय पर रेस्टोरेंट्स का निरीक्षण करेगी
—रेस्टोरेंट्स की स्वीकृति के लिए 100 रुपए प्रति वर्गफीट के हिसाब से निकाय को शुल्क देना होगा
—आवेदन शुल्क 300 रुपए, निरीक्षण शुल्क 30 रुपए प्रति वर्गफीट, 100 रुपए प्रति वर्गफीट स्वीकृति शुल्क रेस्टोरेंट्स संचालक को देना होगा
—हर वर्ष इस अनापत्ति प्रमाण पत्र के नवीनीकरण के लिए स्वीकृति शुल्क की पांच प्रतिशत राशि देनी होगी

ये बाइलॉज जारी कर प्रदेश की रूफ टॉप रेस्टोरेंट्स की इंडस्ट्रीज को संजीवनी दी गई है. साथ ही यहां आने वाले लोगों की सुरक्षा के लिहाज से भी माकूल प्रावधान किए गए हैं. जरूरत है तो बस इन प्रावधानों की कड़ी पालना की. 

... संवाददाता अभिषेक श्रीवास्तव की रिपोर्ट 
 

और पढ़ें

Most Related Stories

कोरोना संकट को लेकर मंत्रिपरिषद में अहम निर्णय, मार्च माह के वेतन का हिस्सा स्थगित

कोरोना संकट को लेकर मंत्रिपरिषद में अहम निर्णय, मार्च माह के वेतन का हिस्सा स्थगित

जयपुर: कोरोना संकट को लेकर मंगलवार को सीएमआर में मंत्रिपरिषद की बैठक हुई. जिसमें कोरोना संकट को लेकर अहम निर्णय​ लिया गया. बैठक में CM से लेकर अधिकारी-कर्मचारियों के मार्च माह के वेतन का हिस्सा स्थगित किया गया है. इस राशि से जरूरतमंदों को 1500 रुपए अनुग्रह राशि मिलेगी. मंत्रिपरिषद की बैठक में यह अहम निर्णय लिया गया. 

मंत्रिपरिषद की बैठक में हुआ निर्णय:
मंत्रिपरिषद ने यह निर्णय किया कि मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री, मंत्रीगण, विधानसभा अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष, मुख्य सचेतक, उप मुख्य सचेतक, समस्त विधायकगण के मार्च महिने के सकल वेतन (ग्रोस सैलेरी) का 75 फीसदी  हिस्सा स्थगित (डेफर) रखा जाएगा. इसी तरह अखिल भारतीय सेवा के अधिकारियों का मार्च माह का 60 प्रतिशत वेतन, राज्य सेवा एवं अधीनस्थ सेवा के अधिकारियों एवं कर्मचारियों का 50 प्रतिशत वेतन तथा चतुर्थ श्रेणी कार्मिकों को छोड़कर अन्य कार्मिकों का मार्च माह के सकल वेतन (ग्रोस सैलेरी) का 30 प्रतिशत वेतन स्थगित रखा जाएगा.

Coronavirus: मोहम्मद साद के खिलाफ मुकदमा दर्ज, निजामुद्दीन मरकज के मौलाना है साद

30 प्रतिशत हिस्सा भी स्थगित:
साथ ही सेवानिवृत्त पेंशनर्स की मार्च माह की सकल पेंशन का 30 प्रतिशत हिस्सा भी स्थगित रखा जाएगा. परन्तु चिकित्सा, स्वास्थ्य सेवाओं के सभी संवर्गों के अधिकारियों-कर्मचारियों, पुलिसकर्मियों, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों,संविदा एवं मानदेय पर कार्यरत कार्मिकों को वेतन स्थगन से मुक्त रखा गया है. 

कोरोना संकट: 20 महिलाओं के साथ थाईलैंड के राजा का जर्मनी पलायन, आइसोलेशन के लिए चुना शाही होटल 

CORONA: महेश जोशी की पहल, सीएम राहत कोष में 1 करोड़ 11 लाख रुपए की अनुशंषा

जयपुर: कोरोना से उत्पन्न असामान्य परिस्थितियों से निपटने के लिए मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी ने अपने विधायक कोष से 1 करोड़ 11 लाख की सहायता राशि सीएम रिलीफ़ फंड के प्रदान करने की अनुशंसा की है.इस बाबत डॉ जोशी ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी को पत्र लिखा है और अपने विधानसभा क्षेत्र हवामहल में आमजन के लिए चिकित्सकीय सामग्री और खाद्य सामग्री क्रय करने के लिए आवश्यकतानुसार उपयोग में लेने का आग्रह किया है.

सीएमआर में मंत्री परिषद की बैठक खत्म, कोरोना मामले में सरकार द्वारा लिए गए फैसले की जानकारी दी

पूरे हवामहल क्षेत्र को करवाएंगे सेनेटाइज:
गौरतलब है कि इससे पहले डॉ जोशी ने 1 लाख की सहायता राशि अपने विधायक कोष से सीएम रिलीफ़ फंड में प्रदान किए जाने का पत्र भी मुख्य कार्यकारी अधिकारी को लिखा था.बता दें कि डॉ जोशी पूरे हवामहल क्षेत्र को सेनेटाइज करने के लिए करीब 40 छोटे स्प्रेयर और 5 मध्यम आकार की जेट मशीनें और 650 लीटर सोडियम हाइपो क्लोराइड केमिकल भी नगर निगम को निजी तौर पर क्रय करके उपलब्ध कर चुके हैं. जयपुर में उनकी सक्रियता देखने लायक है.

Coronavirus: मोहम्मद साद के खिलाफ मुकदमा दर्ज, निजामुद्दीन मरकज के मौलाना है साद

सीएमआर में मंत्री परिषद की बैठक खत्म, कोरोना मामले में सरकार द्वारा लिए गए फैसले की जानकारी दी

सीएमआर में मंत्री परिषद की बैठक खत्म, कोरोना मामले में सरकार द्वारा लिए गए फैसले की जानकारी दी

जयपुर: प्रदेश सरकार कोरोना संकट को लेकर गंभीर है. सीएम अशोक गहलोत हर रोज कोरोना पर फीडबैक ले रहे है. सोमवार को भी कोरोना को लेकर सीएमआर में बैठक हुई थी. वहीं मंगलवार को भी सीएमआर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद की बैठक हुई. जिसमें तमाम मंत्रियों ने शिकरत की. इस बैठक में डिप्टी सीएम सचिन पायलट भी मौजूद रहे. कोरोना के खिलाफ जंग में सीएम गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट की दो दिन में लगातार दूसरी बार मुलाकात है. बैठक में कोरोना सं​कट पर विशेष विचार मंथन किया गया. बैठक में कोरोना मामले में सरकार द्वारा लिए गए फैसले की जानकारी दी गई. इस बैठक में चिकित्सा विभाग ने भी कोरोना पर लिए गए फैसलों की जानकारी दी. ACS होम ने कानून व्यवस्था की स्थिति स्पष्ट की. खाद्य आपूर्ति और आपादा प्रबंधन विभाग के अफसरों ने भी फीडबैक दिया. 

Coronavirus: मोहम्मद साद के खिलाफ मुकदमा दर्ज, निजामुद्दीन मरकज के मौलाना है साद

प्रवासी मजूदरों के लिए किए प्रयासों की स्टेटस रिपोर्ट पेश करे सरकार: हाईकोर्ट

प्रवासी मजूदरों के लिए किए प्रयासों की स्टेटस रिपोर्ट पेश करे सरकार: हाईकोर्ट

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने राज्य में प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार द्वारा किए गए प्रयासों के प्रति संतुष्टी जतायी है. हाईकोर्ट ने अधिवक्ता जेम्स बेदी के लिखे पत्र को जनहित याचिका मानते राज्य सरकार से इस मामले में जवाब मांगा है. बेदी ने 24 मार्च को राष्ट्रीय लॉकडाउन के बाद हजारों प्रवासी मजदूरों के पलायन के दौरान हुई परेशानी को पत्र के जरिए न्यायालय के सामने रखा था. बेदी ने पत्र में कहा कि अभी भी हजारों मजदूर रास्ते में फंसे हुए है जिनके पास ना खाना है ना पानी और परिवहन सुविधा नहीं होने से पैदल चल रहे हैं उनके रहने का भी कोई इंतजाम नहीं है. 

कोरोना संकट: 20 महिलाओं के साथ थाईलैंड के राजा का जर्मनी पलायन, आइसोलेशन के लिए चुना शाही होटल

भोजन, परिवहन और आश्रय देने की कोशिश की:
जस्टिस जी आर मूलचंदानी और जस्टिस एन एस ढड्डा की खण्डपीठ ने सुनवाई के दौरान एडवोकेट जेम्स बेदी को आडियो कॉलिंग के जरिए सुनी. एडवोकेट ने कहा कि राज्य में मजदूरों के मानवीय अधिकारों के संरक्षण करने की जरूरत है.जिस पर अदालत ने कहा कि उन्होंने भी कई खबरों और वीडियों में इस बात को देखा है वैसे सरकार ने भोजन, परिवहन और आश्रय देने की कोशिश की है. लेकिन मजदूरों में भय की वजह से ऐसी परिस्थितियां बनी. सरकार ने इस दौरान क्या कदम उठाए इस संबंध में अदालत ने 7 अप्रैल को 11-45 बजे स्टेटस रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिये है. 

VIDEO- Rajasthan Corona Update: जयपुर का चारदीवारी इलाका रहेगा पूरी तरह सीज

VIDEO- Rajasthan Corona Update: जयपुर का चारदीवारी इलाका रहेगा पूरी तरह सीज

जयपुर: राजधानी जयपुर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलेत जयपुर का चारदीवारी इलाका पूरी तरह से सीज किया जाएगा. ACS होम राजीव स्वरूप ने प्रेसवार्ता कर इसका ऐलान किया है. प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि अतिआवश्यक काम के लिए लोग पास ले सकते हैं. चिकित्सा टीम परकोटा में सर्वे करेगी उसका सहयोग करें. परिवार के हर सदस्य की पूर्ण और सही जानकारी दें. सिर्फ और सिर्फ चिकित्सकीय टीम ही सर्वे कर रही है. 

Coronavirus Updates: कोरोना से देश में अब तक 45 मौतें, राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ पहुंचा 93 

मीडियाकर्मियों और चिकित्साकर्मियों को ही छूट रहेगी:
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस दौरान सिर्फ मीडियाकर्मियों और चिकित्साकर्मियों को ही छूट रहेगी. साथ ही उन्होंने बताया कि ड्रोन और पुलिस-प्रशासन से पूरी निगरानी की जा रही है. कर्फ्यू के नियम शर्तों का उल्लंघन करने पर गिरफ्तारी होगी. वहीं उन्होंने बताया कि पास लेने के लिए मोबाइल एप का ही उपयोग करना होगा. इसके साथ ही चारदीवारी क्षेत्र से बाहर निकलने वाले लोग-वाहन सैनेटाइज होंगे. 

VIDEO: कोरोना लॉकडाउन में चिकित्सा मंत्री की मानवीय अपील, नवरात्रा की अष्टमी और नवमी पर जरूरतमंदों को खिलवाए भोजन 

रामगंज में अब तक 13 कोरोना पॉजिटिव मरीज:
प्रदेश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. अगर राजधानी जयपुर के रामगंज की बात करें तो यहां अब तक 13 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आ चुके हैं. रामगंज के 60 वर्षीय मरीज की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है. यह बुजुर्ग SMS के इमरजेंसी मेडिकल ICU में भर्ती था. रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर अब केस को कोरोना आइसोलेशन में शिफ्ट किया गया है. 


 

Coronavirus Updates: कोरोना से देश में अब तक 45 मौतें, राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ पहुंचा 93

Coronavirus Updates: कोरोना से देश में अब तक 45 मौतें, राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ पहुंचा 93

जयपुर: देश में जानलेवा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है. अबतक कुल 1400 से अधिक लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं. वहीं संक्रमण से अब तक 45 मौतें हो चुकी हैं. हालांकि 140 से ज्यादा लोग ठीक भी हुए हैं. सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज महाराष्ट्र और केरल में हैं. महाराष्ट्र में 248 संक्रमित मरीज हैं तो केरल में ये संख्या 234 है.

VIDEO: कोरोना लॉकडाउन में चिकित्सा मंत्री की मानवीय अपील, नवरात्रा की अष्टमी और नवमी पर जरूरतमंदों को खिलवाए भोजन 

कोरोना वायरस के चलते देश में आज तीन जान गई:
कोरोना वायरस के चलते देश में आज तीन जान गई है. चंडीगढ़ में मंगलवार को संक्रमण से मौत का पहला मामला सामने आया. यहां 65 साल के बुजुर्ग की मौत हो गई. इसके अलावा केरल के तिरुवनंतपुरम में कोरोना पॉजिटिव 68 साल के व्यक्ति की मौत हो गई. मध्यप्रदेश के इंदौर में भी 49 साल की महिला जरीन बी ने सोमवार देर रात दम तोड़ दिया. 

VIDEO- Rajasthan Corona Update: प्रदेश में पिछले 12 घंटे में 4 नए मरीज और आए सामने, कुल पॉजिटिव संख्या पहुंची 83 

राजस्थान में ईरान से आए 10 और भारतीय पॉजिटिव मिले: 
वहीं अगर राजस्थान की बात करें तो यहां भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. राजस्थान में ईरान से आए 10 और भारतीय पॉजिटिव मिले हैं. इससे पहले आज झुंझुनूं, अजमेर, डूंगरपुर और जयपुर में 4 पॉजिटिव केस मिले थे. ऐसे में अब प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ 93 पहुंच गया है.  


 

VIDEO: कोरोना लॉकडाउन में चिकित्सा मंत्री की मानवीय अपील, नवरात्रा की अष्टमी और नवमी पर जरूरतमंदों को खिलवाए भोजन

जयपुर: कोरोना की रोकथाम के लिए युद्धस्तर पर जुटे प्रदेश के चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने नवरात्रा को लेकर आमजन से बड़ी मानवीय अपील की है. चिकित्सा मंत्री ने कहा है कि हमारी परम्परा रही है कि नवरात्रा की अष्टमी और नवमी पर कन्याओं को भोजन कराया जाता है. लेकिन मौजूदा स्थिति में लोगों को समझना होगा कि यूं कन्याओं को एकसाथ बुलाकर खाना खिलाना बड़े संक्रमण के खतरे की घंटी बन सकता है. ऐसे में लोगों को नवरात्रा की अष्टमी और नवमी को कन्याओं के लिए भोजना जरूर बनाना चाहिए, लेकिन यह खाना घर में कन्याए एकत्र करने के बजाय जरूरतमंदों को खिलवाए.....ताकि सही मायने में मानव सेवा हो सके.

राज्यपाल कलराज मिश्र का प्रदेशवासियों के नाम संदेश, संकट की इस घड़ी में एकजुट होकर देश का साथ दें 

अब चिकित्सा विभाग की टीमें घर-घर स्क्रीनिंग करेगी:
प्रदेश में कोरोना की मौजूदा स्थिति को लेकर भी चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कहा कि अब यह तय किया गया है कि चिकित्सा विभाग की टीमें घर-घर स्क्रीनिंग करेगी. भीलवाड़ा के हालात को चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कंट्रोल में बताया, लेकिन रामगंज में लगातार सामने आ रहे केस पर चिंता भी जाहिर की. चिकित्सा मंत्री ने कहा कि रामगंज के सभी मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग हो रही है. हमारी कोशिश है कि भीलवाड़ा की तर्ज पर रामगंज में भी कोरोना जल्द कंट्रोल में आए. कोरोना की मौजूदा स्थिति और सरकार के एक्शन प्लान को लेकर चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा से खास बातचीत की हमारे संवाददाता विकास शर्मा ने....

VIDEO: कोरोना लेकर आया एयरलाइंस के लिए आर्थिक संकट! भारतीय एयरलाइंस को 3 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका 

राज्यपाल कलराज मिश्र का प्रदेशवासियों के नाम संदेश, संकट की इस घड़ी में एकजुट होकर देश का साथ दें

राज्यपाल कलराज मिश्र का प्रदेशवासियों के नाम संदेश, संकट की इस घड़ी में एकजुट होकर देश का साथ दें

जयपुर: राज्यपाल कलराज मिश्र ने कोरोना महामारी की इस संकट की घड़ी में लोगों से लॉक डाउन का पालन करने और धीरज बनाये रखने हेतु मंगलवार को प्रदेशवासियों के नाम संदेश दिया है. राज्यपाल ने कहा कि संकट की इस घड़ी में सभी को एकजुट होकर देश का साथ देना है. उन्होंने कहा कि इस वक्त घर में रहना ही देश की सच्ची सेवा है. मेरा प्रदेशवासियों से निवेदन है कि किसी भी आपात स्थिति में जरूरत के लिए हेल्पलाइन नम्बरों पर फोन करें ताकि प्रशसन से तुरन्त मदद और चिकित्सा मिल सके.

VIDEO: कोरोना लेकर आया एयरलाइंस के लिए आर्थिक संकट! भारतीय एयरलाइंस को 3 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका 

समाज के किसी भी व्यक्ति से भेदभाव न करें:
राज्यपाल ने कहा कि याद रखिए आप एकांत में है, अकेले नहीं. राज्यपाल ने कहा कि यदि आपके आसपास ऐसे लोग हैं, जिनके पास खाने का सामान नहीं है, तो उनकी मदद अवश्य करें. उन्होंने कहा कि समाज के किसी भी व्यक्ति से भेदभाव न करें. मदद करें लेकिन एक मीटर की दूरी जरूर रखें. साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें. उन्होंने व्यापारियों से अनुरोध किया कि यह समय देश की सेवा का है. इस संकट के दौर में आप लोग कालाबाजारी या जमाखोरी जैसी कोई गतिविधि न करें.

कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जंग के मैदान में उतरे रोहित शर्मा, दान किए इतने रुपये 

Open Covid-19