महामारी में Gehlot सरकार का सहारा: Earned Member खोने वाले परिवारों की करेगी मदद, हर माह मिलेगा पैसा

महामारी में Gehlot सरकार का सहारा: Earned Member खोने वाले परिवारों की करेगी मदद, हर माह मिलेगा पैसा

महामारी में Gehlot सरकार का सहारा: Earned Member खोने वाले परिवारों की करेगी मदद, हर माह मिलेगा पैसा

जयपुर: कोरोना की दूसरी लहर (Second Wave) ने देश में जमकर कहर बरपा रखा है. ऐसे में कई परिवारों ने एक अकेले कमाने वाले को भी खोया है. किंतु राजस्थान सरकार (Government of Rajasthan) ने उन पर भी ध्यान दिया है और उनके सामने आर्थिक समस्या (Financial Problem) नहीं आए इसके लिए प्रयास किया है. कोरोना से जान गंवाने वालों के आश्रितों के लिए राजस्थान सरकार नई योजना लेकर आ रही है. 

सोशल सिक्योरिटी स्कीम लाएगी गहलोत सरकार:
जिन परिवारों के कमाने वाले सदस्य की कोरोना से मौत हुई है, उनके लिए गहलोत सरकार ने सोशल सिक्योरिटी स्कीम (Social Security Scheme) लाने का फैसला किया है. इस सोशल सिक्योरिटी पॉलिसी का खाका तैयार किया जा रहा है. मृतक आश्रितों के लिए सोशल सिक्योरिटी पॉलिसी पर मंत्रिपरिषद की बैठक (Council of Ministers Meeting) में चर्चा हो चुकी है. इसके बाद मुख्यमंत्री ने पॉलिसी लाने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने आश्रितों के लिए सोशल सिक्योरिटी नीति लाने के लिए विभागों को टास्क दे दिया है.

क्या है सोशल सिक्योरिटी पॉलिसी:
सोशल सिक्योरिटी पॉलिसी के तहत घर के कमाऊ सदस्य (Earning Member) की मौत होने और बच्चों के अनाथ होने की स्थिति में उस परिवार की मदद की जाएगी. कई विभाग मिलकर इस नीति को तैयार करेंगे, जिसमें अलग अलग विभागों की योजनाओं और कार्यक्रमोंं को मिलाकर प्रभावित परिवारों को सहायता दी जाएगी. सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग (Social Justice and Empowerment Department) सहित सभी संबंधित विभाग मिलकर नई योजना का खाका तैयार करेंगे. 

अब तक 7500 मौतें हुई:
सरकारी आंकड़ों के अनुसार, कोरोना से प्रदेश में अब तक 7500 मौतें हो चुकी हैं. हालांकि, बताया जा रहा है कि हकीकत में यह आंकड़ा इससे कहीं ज्यादा है. मृतक के परिवार को सस्ता राशन, विधवा पेंशन, बच्चों को पालनहार योजना (Cheap Rations, Widow Pension, Child Rearing Scheme) के तहत हर महीने पैसा देने सहित व्यक्तिगत लाभ की योजनाओं का पैकेज देने पर काम चल रहा है.

पालनहार योजना का लाभ:
कोरोना मृतकों के 18 साल से कम उम्र तक के बच्चे को पालनहार योजना (Palanhar Scheme) का लाभ दिया जाएगा. पालनहार योजना में 5 साल तक के बच्चों को हर माह 500 रुपए की सहायता देने का प्रावधान है. इसके बाद स्कूल जाने पर बच्चों को 18 साल तक की उम्र तक हर माह 1000 रुपए देने का प्रावधान है.

सरकार ने सर्वे शुरू करवाया:
पालनहार योजना का लाभ देने के लिए सरकार ने कोरोना से मरने वालों के परिवारों का सर्वे शुरू करवा दिया है. सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग ने सर्वे कराकर उनके पालनहार योजना के आवेदन तैयार करने के लिए जिलों को टास्क दिया है. आवेदन आने के एक महीने के भीतर सहायता राशि का भुगतान (Payment) शुरू करने की डेडलाइन (Deadline) भी तय कर दी है.

 
 

और पढ़ें