जादूगर तो मैं हूं लेकिन जादू कर रहा अमित शाह का बेटा- गहलोत

Nirmal Tiwari Published Date 2018/11/27 05:48

दौसा। पिछले 7 दिन से तूफानी दौरे कर रहे अशोक गहलोत आज सिकराय और दौसा में जबरदस्त फॉर्म में नजर आए। गहलोत ने दोनों जगह अपने आधे घंटे के भाषण में मोदी और राज्य सरकार पर जमकर प्रहार किए साथ ही सरकार की योजनाएं और सरकार की कार्यशैली पर व्यंग भी कैसे। 

पुर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज डीडवाना, नवलगढ़ और कोटपूतली के बाद सिकराय और दौसा में राजे सरकार पर जमकर बरसे। सिकराय से कांग्रेस प्रत्याशी ममता भूपेश और दौसा से मुरारिलाल मीना के समर्थन में सभा करने आये गहलोत ने भाजपा पर जमकर प्रहार किए। गहलोत ने कहा कि लैंड माफिया, बजरी माफिया और लिकर माफिया ये प्रदेश को वसुंधरा सरकार की देन हैं। नीचे से ऊपर तक पैसा पहुंचा है। जानबूझकर ऐसे अधिकारी लगाए गए जो खुद ही मिलीभगत रखे। इन तमाम माफियाओं का संरक्षण सरकार की देखरेख में किया गया। माफियाओं को पनपाने का काम आज तक प्रदेश में किसी सरकार ने नहीं किया। 

यह पहली सरकार है जिसने राजस्थान में माफियाओं को पनपाया। शराब माफिया, बजरी माफिया, लैंड माफिया को पनपाने का काम किया। क्योंकि पैसा ऊपर तक पहुंचा है, ये मेरा आरोप है। गहलोत ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर भी जमकर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि शाह के बेटे ने 50 लाख में बिजनेस शुरू किया लेकिन वह 3 महीने में ही 80 करोड रुपए कमा लिए। गहलोत ने चुटकी ली कि जादूगर तो मैं हूं लेकिन जादू कर रहा अमित शाह का बेटा मैं उससे मिलकर पूछूंगा यह जादू कहां से सीखा। 

गहलोत ने राजे पर भी तंज कसे। वसुंधरा जी की छोटी-मोटी जो भी स्कीमें चल रही हैं हम सरकार में आने के बाद उनको बन्द नहीं करेंगे। हमारी सोच सकारात्मक है इनकी नकारात्मक। कांग्रेस विकास की राजनीति करती है। हमने प्रदेश के घर-घर के अंदर पेंशन पहुंचा दी और संख्या 50 लाख बढ़ाई। बुजुर्ग थे, महिलाऐं, पुरुष, निशक्तजन थे, विधवाऐं थी, उन सबको पेंशन दी।  दोहिता-दोहिती आ जाए, बहन-बेटी आ जाए तो बुजुर्ग चुपचाप निकाल कर भी 50 रूपये का नोट उनको दे देते हैं घर में किसी से मांगना नहीं पड़ता है।कांग्रेस की जीत जनता ने सुनिश्चित कर दी है। मुझे इस बात की बहुत ख़ुशी है कि सभी जगह माहौल जो है अंडर करंट की तरह है और राजस्थान में कांग्रेस बहुत भारी बहुमत से जीतने जा रही है। 

वसुंधरा जी ने 15 लाख नौकरियां दूंगी कहकर वोट तो ले लिए, दी नौकरियां? जो थी वो और छिन गई। उन्होंने युवाओं के साथ बड़ा धोखा किया। बेरोजगार युवा पूरे 5 साल भटकते रहे और जब उन्होंने नौकरियों की मांग की इस सरकार से उन्हें लाठियां और अपमान ही मिला। साढ़े चार साल पहले मोदी जी जहां भी जाते थे 15 लाख, 2 करोड़ नौकरियां, किसानों को सही दाम और प्रधानमंत्री नहीं चौकीदार बनाने की बात करते थे। अब उनके भाषण सुनो तो न रोजगार, न सही दाम की बात होती है। 15 लाख की बात तो छोड़ दो... गहलोत ने कहा कि हम तो जनता के ट्रस्टी, मुनीम, गुमाश्ते हैं जनता का जनता को लौटाना ही सरकार का फर्ज होता है लेकिन राजे सरकार में कुछ और ही चलता रहा सरकार में कुछ और ही चलता रहा। गहलोत के भाषणों पर जनता ने जमकर तालियां बजाई।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in