जयपुर ग्रेटर नगर निगम की साधारण सभा की बैठक, वार्डों के विकास कार्य के लिए अब 50 से बढ़ाकर 80 लाख रुपए किए

ग्रेटर नगर निगम की साधारण सभा की बैठक, वार्डों के विकास कार्य के लिए अब 50 से बढ़ाकर 80 लाख रुपए किए

ग्रेटर नगर निगम की साधारण सभा की बैठक, वार्डों के विकास कार्य के लिए अब 50 से बढ़ाकर 80 लाख रुपए किए

जयपुर: विकास के कार्यों और आम जनता को राहत पहुंचाने के लिए हुए ग्रेटर नगर निगम की बैठक हंगामे के साथ हाथापाई तक पहुंच गई. हालांकि यह कोई पहली ऐसी तस्वीर नहीं है जिसमें इस तरह की घटना हुई है इससे पहले भी साधारण सभा की बैठक में खूब हाथापाई भी हुई है, लेकिन इस हंगामे के बीच वार्डों में अब 80 लाख रुपए के विकास कार्यों पर मुहर लग गई. 11 बजे शुरू हुई साधारण सभा की बैठक में तीन एजेडें शामिल थे लेकिन इन सब में सबसे अहम एजेडा विन्दु नम्बर तीन था जो कि आमजनता के विकास कार्यों से जुड़ा हुआ था सदन में वार्डों में विकास कार्यों के लिए पार्षदों ने 2022-23 वित्तीय वर्ष के लिए 1 करो़ड़ रुपए की मांग की लेकिन सदन में 80 लाख रूपए विकास कार्य के लिए मिलेंगे जिसमें से 75 लाख रुपए विकास कार्य और 5 लाख रुपए मेंटीनेस पर खर्च किए जाएगे. 

इस बार की साधारण सभा की बैठक मे हंगामा तब हुआ जब कांग्रेस के पार्षद अपना पक्ष रखते हुए सदन में बोल रहे थे. इसी दौरान भाजपा के पार्षद ने उन्हे बीच में टोक दिया इस पर कांग्रेस के पार्षद ने उन्हे बीच में चपड़-चपड़ नहीं करने की बात बोल दी फिर क्या था भाजपा पार्सद आगबबूला हो गए और कांग्रेस के पार्सद को मारने के लिए दौड़े इस बीच अन्य साथी पार्षदों ने उन्हे रोका इस बात पर भाजपा पार्षद बेल में आ गए और मांफी मांगने की मांग करने लगे इस पर महापौर ने सभी से शांत रहने की अपील की लेकिन उसके बाद भी पार्षद शांत नहीं हुए जिस पर महापौर सौम्या ने सदन की कार्यवाही को 10 मिनट के लिए स्थिगित कर दिया.

साधारण सभा की बैठक में विद्युत शाखा का मामला बेहद चर्चाओ में रहा. विद्युत समिति की चैयरमेन सुखप्रीत बंसल आज सदन में पूरी तैयारी के साथ पहूंची और उन्होंने लाइट कंपनियों द्वारा की जा रही लापरवाही से सदन को अबगत कराया. सुखप्रीत बंसल ने कहा कि मानसरोवर के अंदर लाइट कंपनी की लापरवाही से मारे गए 11 वर्षीय बच्चे के मामले को अधिकारी भूल गए है और फिर से उसी कंपनी को ब्लैकलिस्ट करने की बजाय उसी को फिर से टेंडर दे दिया गया. यहीं नहीं सुखप्रीत बंसल ने हिंगौनिया गोशाला में लगाई गई 270 लाइटों का ज्रिक करते हुए कहा कि मेयर ने हिंगौनिया गोशाला का दौरा किया हाथ लगाते ही लाइटों के पोल हिल गए थे 270 लाइटों में से 70 लाइटें खराब हो गए 50 लाइटें जल गई और कुछ लाइटें मेंटीनेंस नहीं हो ने के चलते बंद पड़ी है, लेकिन अभी तक संबधित कंपनी पर कोई कार्यवाही नहीं की गई इसके बाद पार्षदों ने विद्युत शाखा के एसई को एपीओ करने की बात कही, जिस पर कमिश्नर ने सदन में कहा कि 7 दिन के अंदर कार्यवाही की जाएगी.

साधारण सभा की बैठक में आज अवैध निर्माण पर भी जमकर बहस हुई दोनों ही पक्षों के पार्षदों ने अवैध निर्माण को लेकर निगम के अधिकारियों को जमकर हाशिए पर लिया और कहा कि अधिकारियों की शह पर ही सारे अवैध निर्माण किए जा रहे है अवैध निर्माण की जानकारी पार्सदों के संज्ञान में आनी चाहिए और इन पर प्रभावी मॉनिटरिंग करवाई जानी चाहिए जिस पर महापौर सौम्या गुर्जर ने भी सदन में आदेश दिए गए कि अवैध निर्माण को लेकर जल्द कमेटी बनाई जाएगी. साधारण सभा की बैठक में विकास कार्यों को लेकर पार्षदों ने मोर्चा खोल दिया दोनों ही दलों के कई पार्सदों ने अपने अपने वार्डों में विकास कार्य नहीं होने की बात कही वार्ड 44 से पार्षद सुशीला बारी ने तो यहां तक कह दिया कि 18 माह में मेरे बार्ड में 18 रुपए के भी काम नहीं हो पाए तो आखिर कैसे जनता के बीच जाएंगे पार्षद सुशीला बारी ने ये भी कहा कि अगर हम जनता के बीच गए तो चप्पलें पडेगी मेयर साहिबा आप भी वार्ड में आओ तो सोच समझकर आना.

और पढ़ें