जनरल वीके सिंह ने किया गलवान घाटी में झड़प पर बड़ा खुलासा, चीनी सेना के तंबू में आग लगने से भड़की थी हिंसा

जनरल वीके सिंह ने किया गलवान घाटी में झड़प पर बड़ा खुलासा, चीनी सेना के तंबू में आग लगने से भड़की थी हिंसा

नई दिल्ली: 15 जून की रात गलवान घाटी में भारत-तीन सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प को लेकर मोदी सरकार में मंत्री और पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने बताया कि गलवान घाटी में भारत-चीन सैनिकों के बीच एक रहस्यमय आग की वजह से हिंसक झड़प हुई. ये आग चीनी सैनिकों के टेंटों में लग गई थी. वीके सिंह ने कहा कि हमारे जवान चीनी सेना के पोजिशन देखने गए थे.

1 दिन की शांति के बाद फिर बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमत, जानिए क्या हो गए हैं भाव  

सैनिक तंबू हटा रहे थे, तभी अचानक आग लग गई: 
पूर्व सेनाध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा कि 15 जून की शाम कमांडिंग ऑफिसर बॉर्डर पर चेक करने गए तो देखा कि चीन के सभी लोग वापस नहीं गए थे. वहां चीनी सैनिकों का तंबू मौजूद था. कमांडिंग ऑफिसर ने तंबू हटाने के लिए कहा. इस बीच जब चीनी सैनिक तंबू हटा रहे थे, तभी अचानक आग लग गई. आग लगने के बाद दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प हो गई. दोनों देशों ने अपने और लोग बुलाए. हिंसक झड़प के दौरान चीन के 40 से ज्यादा सैनिक मारे गए. ये बात सही है.

जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर, इस महीने 36 का हुआ सफाया

हमारे लोग चीनी सेना के उपर हावी हो गए:
केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने बताया कि झड़प के दौरान हमारे लोग चीनी सेना के उपर हावी हो गए. चीन ने अपने और लोग बुलाए और हमारे लोगों ने भी अपने और लोग बुलाए. चीन के लोग जल्दी आ गए, फिर हमारे लोग आए. अंधेरे में 500 से 600 लोगों के बीच झड़प हुई. पहले हमारे तीन लोग हताहत हुए थे. फिर हमारे और चीनी सैनिक नदी में गिर गए थे. चोट और नदी में गिर जाने के कारण हमारे और 17 जवान शहीद हो गए. 70 के करीब घायल हो गए थे.
 

और पढ़ें