Live News »

मैट मेकअप के साथ अपने लुक को दें नया अंदाज 

मैट मेकअप के साथ अपने लुक को दें नया अंदाज 

नई दिल्ली। जब ब्यूटी ट्रेंड की बात आती है, तो मैट मेकअप लंबे समय से यूजर्स की पहली पसंद बना हुआ है। ब्यूटी ट्रेंड बदलते रहते हैं, लेकिन किसी भी मौके के लिए तैयार होने पर मैट मेकअप को सदाबहार के रूप में देखा जाता है। लड़कियां भी इस विकल्प को सबसे अधिक पसंद कर रही हैं, क्योंकि बोल्ड ह्यू कलर्स इसमें कवर किए गए हैं। बोल्ड और इम्पावर्ड लुक महिलाओं को शिमरी मेकअप के ऊपर इसे पसंद करने का एक और आधार देता है।
 
गौरतलब है कि मैट मेकअप किसी भी अवसर के लिए एक बेहतरीन विकल्प के रूप में कार्य करता है। पार्टी हो या कोई अन्य फंक्शन, मैट हमेशा अपने विभिन्न शेड्स और डायमेन्शंस के साथ उपलब्ध रहती है। मैट मेकअप लुक ने नो मेकअप मेकअप लुक को मूल रूप दिया है जो कि आजकल काफी पसंद किया जा रहा है। इसे ऐसे तत्वों से बनाया जाता है जिनमें लो रिफलेक्टिव प्वाइंट होता है।

लुक को देता है एक बोल्ड और खूबसूरत फिनिश

Mattlook कॉस्मेटिक्स के यशु जैन बताते हैं कि ज्यादातर महिलाओं को मैट मेकअप क्यों पसंद होता है। मैट लुक मिनिमल मेकअप लुक के साथ स्किन को ग्लोइंग, फ्रेश और नैचुरल बनाने पर फोकस करता है। इस प्रकार, ये आपके लुक को एक बोल्ड और खूबसूरत फिनिश प्रदान करता है। जीरो शिमर के साथ और ऑयली स्किन वालों के लिए मैट मेकअप सूट सबसे अच्छा लगता है। फाउंडेशन से लेकर लिपस्टिक तक के इस मेकअप के लिए मेकअप उत्पादों की एक पूरी रेंज है। नैचुरल और शानदार लुक बनाने के लिए मैट मेकअप चेहरे पर कंटूरिंग होता है। इनर आई कॉर्नर पर लगाया गया एक अलग शेड भी चलन में है।

नहीं है ड्राई मेकअप

बता दें कि लोग अक्सर मैट मेकअप को ड्राई मेकअप के रूप में मानते हैं, जो आपकी त्वचा को काफी खुष्क दिखाता है, लेकिन यह वास्तव में मैट फिनिश के बारे में है। जिसका उद्देश्य त्वचा की सभी खामियों को कवर करना है और त्वचा को स्पष्ट और नैचुरल दिखाना है। ऐसे उत्पाद उपलब्ध हैं जो सुपर हाइड्रेटिंग हैं और शाइन-फ्री फिनिश प्रदान करते हैं। ऐसे उत्पादों को विशेष रूप से ड्राई स्किन वाले लोगों द्वारा चुना जाता है। ऑयली स्किन वाले लोगों को मैट मेकअप बेहद पसंद आता है। मैट फ़ाउंडेशन को लगाने से उन्हें पूरा दिन आयल-फ्री लुक मिलता है।

40 प्लस महिलाओं के लिए एक बढ़िया विकल्प

जैन ने कहा कि प्रमुख हस्तियों ने अवाॅर्ड शो में मैट मेकअप किया और तब से यह बहुत प्रचलित है। यह न केवल बोल्ड लुक देता है, बल्कि शिमरी या डेवी की तुलना में लंबे समय तक चलने वाला है। यह ऑयली स्किन के लिए आदर्श है और झुर्रियों से भी ध्यान हटाता है। इसलिए, यह 40 के दशक में पहुंच चुकी महिलाओं के लिए एक बढ़िया विकल्प है। शाइन-फ्री लुक भी नए शेड को आजमाने का एक महीन तरीका है।

मैट मेकअप उत्पादों का विस्तार बहुत सारी मेकअप रेंज को कवर करने के लिए किया जाता है। फाउंडेशन, ब्लश, आई शैडो, लिप कलर या नेल कलर हो, मैट मेकअप पूरे मेकअप इंडस्ट्री पर अपना प्रभाव जमा चुका है। मैट हाइलाइटर की भी काफी अधिक मांग है क्योंकि यह शानदार प्रभाव प्रदान करता है जिससे चेहरे के नैन-नक्श और फीचर्स काफी शार्पर दिखते हैं। इसलिए इस नए मेकअप ट्रेंड को अपनाएं और अपनी सुंदरता को निखारें।

और पढ़ें

Most Related Stories

अगर घंटों कंप्यूटर के सामने बैठकर करते हो काम, तो कीजिए इन आहार का सेवन, नहीं होगी कोई परेशानी!

 अगर घंटों कंप्यूटर के सामने बैठकर करते हो काम, तो कीजिए इन आहार का सेवन, नहीं होगी कोई परेशानी!

जयपुर: आज की जीवनशैली बिल्कुल बदल गई है, जिसकी वजह से हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियां घर कर लेती है. इन बीमारियों का पता तब चलता है, जब हमारे शरीर के किसी भी अंग में परेशानी होने लगती है.फिर हम डॉक्टरों के चक्कर लगाते लगाते परेशान हो जाते है. इसलिए बदलती जीवनशैली के साथ-साथ हमें शरीर का भी ध्यान रखना जरूरी है. आपको बता दें कि आज के इस डिजिटल युग में ज़्यादातर काम कंप्यूटर पर ही हो रहा है. लंबे समय तक कंप्यूटर पर काम करने की वजह से आँखों में जलन, खुजली, आंखों से पानी गिरना जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. इसके अलावा कुछ समय बाद धुँधला दिखाई देने लगता है. साथ ही कई घंटों तक लगातार कंप्यूटर पर बैठ कर काम करने से बहुत थकावट हो जाती है. इससे पीठ दर्द की परेशानी भी होने लगती है. इसके लिए अपने खान-पान का खास ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है. आप भी घंटों कंप्यूटर पर काम करते हैं तो अपने आहार में ये चीजें जरूर शामिल कीजिए...

-कंप्यूटर पर काम करने से आंखों पर भी असर पड़ता है. इसके लिए अपने खाने में हरा धनिया शामिल कीजिए. धनिए में कैरोटेनॉइड होता है जो आंखों के लिए बहुत लाभदायक है.

-आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए विटामिन ए बहुत मददगार है. अंड़े में ये विटामिन भरपूर मात्रा में पाया जाता है. इस लिए खाने में इसे जरूर शामिल कीजिए.

{related}

-ग्रीन टी हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होती है. ग्रीन टी पीने से मेटाबॉलिज्म तेज होता है जो मोटापा कम करने में मददगार है.

-दूध में प्रोटीन होता है जो शरीर के लिए बहुत जरूरी है. 

-डार्क चॉकलेट इम्युनिटी बढ़ाने में सहायक है. कंप्यूटर पर लगातार बैठे रहने से कमर में दर्द की शिकायत भी हो जाती है.  डार्क चॉकलेट के सेवन से दर्द को राहत मिलती है लेकिन इसका जरूरत से अधिक सेवन करने से नुकसान भी हो सकता है. 

-ओट्स में प्रोटीन और फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है. इससे वजन भी कंट्रोल रहता है और शरीर को एनर्जी भी मिलती है. 

-दही में प्रोबायोटिक्स बैक्टीरिया पाए जाते हैं जो पाचन प्रक्रिया को ठीक करने में मददगार है. इसे अपने आहार में जरूर शामिल करे. इससे पेट की गैस की समस्या नहीं होती.

-केले हमारी सेहत के लिए गुणकारी होता है. क्यों​कि इसमें पोटेशियम होता है जो बॉडी को एनर्जी प्रदान करता है. अगर आप इसका सेवन करेंगे तो इससे थकावट नहीं होगी.

इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक काढ़े का वितरण, 29 जड़ी बूटियों से तैयार हैं काढ़ा

इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक काढ़े का वितरण, 29 जड़ी बूटियों से तैयार हैं काढ़ा

बूंदी: बूंदी जिला आयुर्वेद अस्पताल द्वारा लगातार 150 दिनों से इम्यूनिटी पावर बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के निर्देशानुसार तैयार आयुर्वेदिक काढ़े का वितरण किया जा रहा है. लगभग 29 जड़ी बूटी से तैयार इस काढ़े को अब कोविड-19 संक्रमित रोगियों पर भी इस्तेमाल किया जा रहा है. जिला कलक्टर से अनुमति के बाद जिला आयुर्वेद अस्पताल की ओर से इस कार्य के लिए टीम गठित की गई है.

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में काफी मददगार:
शनिवार से कोविड-19 केयर सेंटर में भर्ती रोगियों को आयुर्वेदिक काढा पिलाया गया. आयुर्वेदिक चिकित्सकों की माने तो यह काढा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में काफी मददगार है. अब संक्रमित मरीजों पर काढे के सार्थक परिणाम का इंतजार आयुर्वेद विभाग को भी होगा. जिला कलक्टर आशीष गुप्ता ने बताया कि किसान भवन स्थित कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों के लिए आयुर्वेद विभाग द्वारा काढ़ा तैयार कर पिलाया जा रहा है.

उत्तर प्रदेश में सप्ताह में दो दिन रहेगा लॉकडाउन, बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों की वजह से लिया निर्णय  

29 जड़ी बूटियों से तैयार किया गया काढ़ा: 
जिससे की उनकी इम्युनिटी पावर मजबूत हो सके. वहीं कोरोना संक्रमण और अन्य बीमारियों से मरीजों का जीवन बचाया जा सके. जिला आयुर्वेदिक अस्पताल के प्रभारी डाॅ. सुनील कुशवाहा ने बताया कि वर्तमान में सेंटर में 28 मरीज भर्ती है, जिन्हें आज से काढ़ा पिलाना शुरू किया गया है. वहीं होम आइसोलेट एसिंप्टोमेटिक कोरोना संक्रमित को भी चिन्हित कर काढ़ा पिलाया जा रहा है. घर-घर जाकर टीम द्वारा इम्यूनिटी पावर बूस्टर के रूप में काम करने वाले 29 जड़ी बूटियों से तैयार इस काढ़े का वितरण किया जाएगा. पिछले 150 दिनों से आयुर्वेदिक काढा वितरण किया जा रहा है. अब तक 60 हजार से अधिक को यह काढा पिलाया जा चुका है.

एक दूजे के होंगे राणा दग्गुबाती और मिहिका बजाज, आज शादी के बंधन में बंध जाएंगे दोनों 

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीजें

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीजें

जयपुर: कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए आप जितना हेल्दी खाना खाएंगे उतनी आपकी इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग होगी. इम्यूनिटी हमारे खानपान पर ही निर्भर करती है. काढ़े के अलावा ऐसे कई खाद्य पदार्थ हैं जिनके नियमित सेवन से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है. ऐसे में हम आज आपको ऐसे फूड्स के बारे में बता रहे हैं जिनको डाइट में शामिल कर इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है... 

राम जन्मभूमि के पुजारी प्रदीप दास कोरोना पॉजिटिव, सुरक्षा में तैनात 16 पुलिसकर्मी भी संक्रमित 

आंवला: आंवाला में भरपू मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है. यह न सिर्फ इम्यूनिटी को बढ़ावा दे सकता है बल्कि कई स्वास्थ्य समस्याओं से निजात दिलाने में भी काफी लाभकारी माना जाता है.

दही: दही एक ऐसा खाद्य आहार है, जो लगभग सभी लोगों के लिए फायदेमंद है. दही के सेवन से भी इम्यून पावर बढ़ती है. इसके साथ ही यह पाचन तंत्र को भी बेहतर रखने में मददगार होती है. 

अलसी: शाकाहार करने वालों के लिए ओमेगा3 और फैटी एसिड सबसे अच्छा स्त्रोत है.

अंजीर: यह शरीर के पीएच के स्तर को भी नियंत्रित करने में मदद करता है. इसमें मौजूद फाइबर ब्लड में शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है. 

कीवी: कीवी में विटामिन ई और एंटी ऑक्सीडेंट्स की मात्रा ज्यादा होती है इससे रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाई जा सकती है.

ओट्स: ओट्स में पर्याप्त मात्रा में फाइबर्स पाए जाते हैं. साथ ही इसमें एंटी-माइक्राबियल गुण भी होता है. हर रोज ओट्स का सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है. 

कच्चा लहसुन: कच्चा लहसुन खाना भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बूस्ट करने में सहायक होता है. इसमें पर्याप्त मात्रा में एलिसिन, जिंक, सल्फर, सेलेनियम और विटामिन ए व ई पाए जाते हैं. 
 

इन बीमारियों का जड़ से सफाया करती है लौंग, जानिए बेजोड़ गुण

इन बीमारियों का जड़ से सफाया करती है लौंग, जानिए बेजोड़ गुण

जयपुर: भारतीय खाने में लोग की एक खास जगह है. सदियों से मसाले के रूप में इस्‍तेमाल होने वाला लौंग औषधीय गुणों का खजाना है. इसका उपयोग  तेल व एंटीसेप्टिक रुप में किया जाता है. लौंग में आपके स्वास्थ्य को दुरुस्त रखने के कई गुण होते हैं. ऐसे में आज हम आपको इससे होने वाले कुछ फायदों के बारे में बता रहे हैं.

- सुबह खाली पेट 1 ग्लास पानी में कुछ बूंदें लौंग के तेल की डालकर पीने से पाचन, गैस, कांस्टीपेशन की समस्या से पीड़ित लोगों काफी आराम मिलता है. 

- मुंह से बदबू आने पर लौंगे बहुत ही फायदेमंद होती है. कुछ दिनों तक रोज सुबह मुंह में साबुत लौंग का सेवन करने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.  

- दांतों में होने वाले दर्द में लौंग के इस्तेमाल से निजात मिलती है. इसी के चलते टूथपेस्ट में होने वाले पदार्थो की लिस्ट में लौंग खासतौर पर शामिल होती है. 

- लौंग के उपयोग से उलटी आने की समस्या, जी घबराना और मॉर्निंग सिकनेस में आराम मिलता है.

- सामान्य तौर पर होने वाली सर्दी को लौंग से दुरुस्त किया जा सकता है. 

- लौंग के तेल को किसी जहरीले कीड़े के काटने पर, कट लग जाने पर, घाव पर और फंगल इंफेशन पर भी इस्तेमाल किया जाता है. 

- चहरे के दाग-धब्बों या फिर सांवली त्वचा को निखारने के लिए भी लौंग फायदेमंद है. 


 

अगर इन फलों का करेंगे सेवन, तो कभी कम नहीं होगी शरीर में इम्यूनिटी

अगर इन फलों का करेंगे सेवन, तो कभी कम नहीं होगी शरीर में इम्यूनिटी

जयपुर: फल हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते है. अगर आप ऐसे फलों का सेवन करेंगे, जिनमें विटामिन सी पाया जाता है. तो आपके शरीर में कभी इम्यूनिटी पावर कम नहीं होगा. आप भी इम्यूनिटी बढ़ाना चाहते है. तो आप ऐसे फलों का सेवन कर सकते है. विटामिन सी ऐसा पोषक तत्व है जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है. कोरोना महामारी से बचने के लिए भी आपको अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बनाना होगा. चलिए जानते है ऐसे फलों के बारे में जिनमें विटामिन सी पाया जाता है. 

कीजिए अमरूद का सेवन:
अमरूद स्वाद के साथ साथ आपकी सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है. क्योंकि इसमें विटामिन सी पाया जाता है जो आपकी इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है. इसमें कैलोरी  काफी कम मात्रा में होती है जिससे ये वजन कम करने में भी मददगार है.

हरियाली अमावस्या पर दर्शन को उमड़ा आस्था का जनसैलाब, नहीं दिखा कोरोना का भय

पपीता शरीर के लिए अच्छा:
पपीता हर सीजन में मिलने वाला फल है, पपीता का सेवन करके आप अपनी सेहत को ठीक रख सकते है. क्योंकि यह आपके पाचन तंत्र को ठीक रखता है. अगर पाचन तंत्र ठीक रहेगा तो आपके शरीर के आसपास कोई रोग नहीं भटकेगा. पपीते में विटामिन सी भी काफी मात्रा में पाया जाता है जिससे हमारी रोगप्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है.

अनानास बढ़ाएगा इम्यूनिटी:
आप अनानास का सेवन करके इम्यूनिटी बढ़ा सकते है. अनानास आपकी हड्डियों को भी मजबूत बनाता है. इसमें कई जरूरी खनिज और विटामिन पाए जाते हैं. अनानास में मैंगनीज भी पाया जाता है जो फलों में काफी कम होता है. 

आम बेहद गुणकारी:
अगर आप गर्मियों में आम का सेवन करेंगे तो इससे आपके शरीर को विटामिन सी मिलेगा. जिसका सेवन करके आप इम्यूनिटी बढ़ा सकते है. साथ ही आप सेहत के लिए गुणकारी साबित होता है. इसमें कई तरह के पौषक तत्व पाये जाते है. 

प्रयागराज में बारिश से गर्मी से मिली निजात, यूपी के इन जिलों में झमाझम बारिश की संभावना  

इम्यूनिटी मजबूत करने के साथ अनेक बीमारियां दूर करने में सहायक हैं ये जड़ी-बूटियां

इम्यूनिटी मजबूत करने के साथ अनेक बीमारियां दूर करने में सहायक हैं ये जड़ी-बूटियां

जयपुर: कोरोना महामारी से बचने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की सलाह दी जाती है. ऐसे में हमे कुछ ऐसी जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल करने की आवश्यकता है जिससे कि हमारी इम्युनिटी स्ट्रॉन्ग होने के साथ हम छोटी-मोटी सीजनल बीमारियों से भी जल्दी रिकवर हो सकें. ऐसे में हम आपको स्वास्थ्य के लिए लाभदायक कुछ ऐसी जड़ी-बूटियों के बारे में बता रहे हैं जिसमे से अधिकतर हो हमारी रसोई में ही मिल जाती हैं. 

Rajasthan Political Crisis: ऑडियो में मेरी आवाज नहीं,किसी भी तरह की जांच के लिए तैयार- गजेंद्र सिंह शेखावत 

अदरक: यह पाचन क्रिया में भी सहायक है. जी मिचलाने, उल्टी, मोशन सिकनेस आदि समस्याओं के समाधान में यह सहायक होती है. 
आंवला: ये शरीर की प्रतिरोधी क्षमता बनाए रखते हैं.

तुलसी: इसका उपयोग करने से सर्दी-जुकाम, बुखार, सूखा रोग, निमोनिया, कब्ज, अतिसार जैसी समस्याओं में फायदा मिलता है. 

लौंग: शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ यह एक अच्छी एंटीऑक्सीडेंट और बैक्टीरिया को खत्म करने वाली है.

लहसुन: इसके सेवन से विटामिन ए, बी, सी के साथ आयोडीन, आयरन, पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व पा सकते हैं.

दालचीनी: जिन खाद्य पदार्थों में दालचीनी का प्रयोग होता है, उनमें 99.9 प्रतिशत तक कीटाणु होने की आशंका खत्म हो जाती है. 

अश्वगंधा: अश्वगंधा का इस्तेमाल त्वचा के साथ-साथ कई तरह की बीमारियों में भी लाभकारी है. 

VIDEO: माकपा विधायक बलवान पूनिया की प्रेसवार्ता, कहा- चुनी हुई सरकार गिराने का पाप कर रही भाजपा 

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मानसून में इन चीजों को करें आहार में शामिल

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मानसून में इन चीजों को करें आहार में शामिल

जयपुर: मानसून का मौसम आ गया है. इस मौसम में अधिकांश बीमारियां अनजाने में खाने-पीने की लापरवाही की वजह से ही होती हैं. लेकिन अगर आप कुछ चीजों को अपने खान-पान में शामिल कर अपनी रोग प्रतिरोध क्षमता बढ़ा लें तो न सिर्फ इस मौसम की बीमारियों, बल्कि कोरोना वायरस संक्रण से भी बचा जा सकता है. ऐसे में इस बार कोरोना को ध्यान में रखते हुए आपको इस मौसम में अपने खान-पान पर पहले से भी ज्यादा ध्यान देना होगा. 

दुष्कर्म पीड़िता ने एसपी से लगाई न्याय की गुहार, सुनाई आपबीती 

अदरक: रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए यह शानदार चीज है. अदरक विटामिन A, C, E और B-complex का एक अच्छा माध्यम है. साथ ही इसमें मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन, जिंक, कैल्शियम और बीटा-कैरोटीन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. 

शहद का सेवन: सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है.

मौसमी फल: इन दिनों मौसमी फलों का सेवन जरूर करें. ये सभी फल विटामिन सी से भरपूर होते हैं. 

काली मिर्च: खांसी, जुकाम में इसका सेवन बहुत लाभकारी होता है.

हल्दी: हल्दी शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाती है. सर्दी, जुकाम या कफ की शिकायत हो तो हल्दी वाला दूध पीना लाभकारी होता है. 

लहसुन: लहसुन बड़े स्तर पर एक एंटीबायोटिक का काम करता है. यह बैक्टीरिया-रोधी, फफूंद-रोधी, परजीवी-रोधी व वायरस-रोधी है. यह बैक्टीरिया को खत्म करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. 

सूखा अनाज खाएं: मॉनसून के मौसम में सूखा और साबुत अनाज अपने भोजन में शामिल करें. इन दिनों इनके सेवन से रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है.  

अजमेर: क्रूरता की सारी हदें पार कर काटे गाय के चारों पैर, ग्रामीणों में गुस्सा  

सिरदर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय, तुरंत मिलेगा फायदा

सिरदर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय, तुरंत मिलेगा फायदा

जयपुर: थकान और चिंता के कारण सिरदर्द होना एक आम बीमारी है. सिरदर्द होने पर किसी काम में मन नहीं लगता. ऐसे में अगर घर में ही इसका इलाज मिल जाए तो कहना ही क्या? तो आइए आज हम आपको सिरदर्द के कई बेहद आसान और घरेलू इलाज बता रहे हैं....

Rajasthan Corona Updates: आज 199 नए संक्रमित आए सामने, कुल पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 15431 

- कई बार पेट में गैस बढ़ने के कारण सिर दर्द होता है. ऐसे में एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलकर पीने से तुरंत आराम मिलता है. 

- सामान्य खोपरे के तेल से लेकर सरसो के तेल से मालिश या मसाज करने से सिर की मांसपेशियों को आसाम मिलता है. 

- नींद पूरी नहीं होने से सिरदर्द होना बहुत सामान्य है. इसलिए पर्याप्त नींद लेने की कोशिश करें.

- चंदन का पेस्ट सिरदर्द का बहुत पुराना इलाज है. चंदन की लड़की को घिसकर पेस्ट बना लें और माथे पर लगाएं. तत्काल आराम मिलेगा.

- तुलसी को सामान्य तरीके से चबाने से भी सिरदर्द रफूचक्कर हो जाता है.

- सेब में नमक लगाकर खाने से सिरदर्द तुरंत दूर होता है. 

सांप के काटने से महिला हुई अचेत, पति के मृत सांप को अस्पताल लेकर पहुंचने से मचा हड़कंप