Live News »

उदयपुर में स्वर्ण शिल्पी इकबाल सक्का ने बनाई सोने और चांदी की पतंगें, जिनियस बुक ऑफ वर्ड रिकॉर्ड में शामिल
उदयपुर में स्वर्ण शिल्पी इकबाल सक्का ने बनाई सोने और चांदी की पतंगें, जिनियस बुक ऑफ वर्ड रिकॉर्ड में शामिल

उदयपुर: मंकर संक्रान्ति के पर्व पर जहां एक ओर पूरा आसमान रंग बिरंगी पतंगों की अठखेलियों से सराबोर है तो वही लेकसिटी उदयपुर के स्वर्ण शिल्पी इकबाल सक्का ने इस मौके को और ज्यादा खास बनाते हुए सोने और चांदी की सूक्ष्म पतंगें बनाई है. सोने की सूक्ष्म शिल्पकारी के फन के जादूगर सक्का ने सोने चांदी की सूक्ष्म पतंगों के साथ ही चरखी, गिल्ली-डंडा और सूक्ष्म गेंद का भी निर्माण किया है. यही नहीं सक्का की इस सूक्ष्म शिल्पकारी को जीनीयस बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉड में भी दर्ज किया गया हैं. 

सोने और चांदी की ऐसी पतंगों को नग्न में देखना मुश्किल:
मकर संक्रान्ति का पर्व यानि आसमान में अठेखेलियां खाती रंगी बिरंगी पतंगें और वो काटा,वो मारा के शोर से गूंजायमान पूरा माहौल. लेकिन क्या आपने कभी कागज के बजाए सोने और चांदी की ऐसी पतंगों को देखा हैं जो बेहद की सूक्ष्म हैं और नग्न ऑखों से बमुश्किल नजर आती हैं. तो आइए आज हम आपको दिखाते है लेकसिटी उदयपुर के स्वर्ण शिल्पी इकबाल सक्का द्धारा बनाई गई सूक्ष्म पतंगें, बेहद ही सूक्ष्म चखरी और गिल्ली डंडा. दरअसल सोने की सूक्ष्म शिल्पकारी के फन से दुनियाभर में नाम कमाने वाले इकबाल सक्का नें 1*1 मिलीमीटर की पंतगे, 3*2 मिलीमीटर की चरखी, 1*1 मिलीमीटर के गिल्ली डंडा सोने और चांदी से बनाये हैं. इन पतंगों की सूक्ष्मता अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता हैं कि इन पतंगों को सबसे छोटी सुई के छेद से भी निकाला जा सकता हैं. 

जिनियस बुक ऑफ वर्ड रिकॉर्ड में शामिल: 
सोने की सूक्ष्म शिल्पकारी के जादूगर इकबाल सक्का के इस कारनामें को जिनियस बुक ऑफ वर्ड रिकॉर्ड में भी शामिल किया गया हैं. दरअसल इकबाल सक्का इससे पहले भी सोने की सूक्ष्म शिल्पकारी की विधा में ऐसे ही कई नायाब नमूने बना चुके हैं. भारत के कभी सोने की चिड़िया होने का गौरव वाली बात से प्रभावित इकबाल सक्का चाहते हैं वे इतने सारे विश्व रिकॉर्ड कायम करे की पूरी दुनिया में सूक्ष्म शिल्पकारी के रिकॉर्डस में भारत का नाम शामिल हो. 

दुनियाभर में हो रही मशहूर:
बहरहाल इकबाल सक्का की यह चाहत कब पूरी होती हैं यह तो ऊपर वाले की इनायत पर निर्भर करता हैं लेकिन मकर संक्रान्ति के पावन मौके पर कागज की पंतगों के साथ ही सोने चांदी की ये सूक्ष्म पतंगें दुनियाभर में भारत की रंग बिरंगी फनकारी को साकार करने वाली जरुर साबित हो रही हैं. 

...रवि कुमार शर्मा, फस्ट इंडिया न्यूज, उदयपुर

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in