मंत्री जी की अच्छी पहल; कोविड सेंटर के लिए निकाली चिकित्सक की पोस्ट, अपनी जेब से देंगे सैलरी

मंत्री जी की अच्छी पहल; कोविड सेंटर के लिए निकाली चिकित्सक की पोस्ट, अपनी जेब से देंगे सैलरी

 मंत्री जी की अच्छी पहल; कोविड सेंटर के लिए निकाली चिकित्सक की पोस्ट, अपनी जेब से देंगे सैलरी

भोपाल: देश इस समय कोरोना के बहुत भरी संकट से जूझ रहा है ऐसे में देश में ऑक्सीजन की भी भारी कमी सामने आ रहे है. मध्य प्रदेश के एक मंत्री जी ने दरियादिली (Generously) दिखाई है और आमजन की सहायता करने के लिए एक नया कदम उठाया है जिसकी हर जगह तारीफ़ हो रही है. 

कोविड सेंटर के लिए निकली डॉक्टर की वैकेंसी, सैलरी अपनी जेब से देंगे:
मध्यप्रदेश के अस्पतालों में स्टाफ की कमी होने लगी है. प्रदेश सरकार के मंत्री गोपाल भार्गव (Minister Gopal Bhargava) ने अपने क्षेत्र गढ़ाकोटा (Gadhakota) में कोविड सेंटर के लिए विशेषज्ञ डाॅक्टर (Specialist Doctor) के लिए वैकेंसी निकाली है. दो लाख रुपए खुद सैलरी देने की बात कही है. उधर, प्रदेश में बेड, ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन (Oxygen and Remadecivir Injection) की कमी पूरी नहीं हो पा रही है. लगातार बढ़ते संक्रमण से व्यवस्थाएं चरमरा गई हैं.  इंदौर और जबलपुर में रेमडेसिविर बेचते 3 डाॅक्टरों को गिरफ्तार किया गया है.

प्रदेश के 4 बड़े शहरों में 24 घंटे का कोरोना आंकड़ा:
प्रदेश के 4 बड़े शहरों में 24 घंटे में 5,537 नए केस आए हैं. 26 मरीजों की मौत हुई है. इंदौर में सबसे ज्यादा 1,782 नए केस आए हैं, जबकि 6 ने दम तोड़ दिया.  भोपाल में भोपाल 1,753 संक्रमित सामने आए, 5 की मौत हुई है. ग्वालियर में सबसे ज्यादा संक्रमण दर 39% पर है. यहां 24 घंटे में 1,196 संक्रमित आए और 7 की मौत हुई. जबलपुर में 806 नए संक्रमित मिले और सबसे ज्यादा सरकारी रिकाॅर्ड में यहां 8 मौतें हुईं.

भेल में ऑक्सीजन के लिए लंबी लाइन:
भोपाल के भेल के गेट नंबर-6 पर गुरुवार को सैकड़ों वाहन (Hundreds of vehicles) ऑक्सीजन सिलेंडर भरवाने खड़े रहे. दोपहर में तो टैंकरों की एक किलोमीटर लंबी लाइन लग गई. एक व्यक्ति को सिर्फ 10 सिलेंडर भरकर दिए गए. कई को खाली हाथ भी लौटना पड़ा. यहां सिलेंडर भरवाने पहुंचे लोगों में कुछ इटारसी और शाजापुर से भी आए थे. इनमें सिर्फ अस्पताल के कर्मचारी ही नहीं, मरीजों के रिश्तेदार, बहन और बेटी शामिल थीं. भेल का ये प्लांट 24 घंटे काम कर रहा है और रोज 2 से 2.5 टन ऑक्सीजन सप्लाई कर रहा है.

भोपाल: 1753 नए संक्रमित आए, साढ़े 4 हजार बेड पर ऑक्सीजन वाले मरीज:
यहां 24 घंटे में 1,753 नए संक्रमित आए और 5 की मौत हुई है. लगातार आंकड़े बढ़ने से इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कमी बनी हुई है. शहर के अलग-अलग अस्पतालों के ICU (Intensive Care Unit) और ऑक्सीजन सपोर्ट वाले 4,771 से ज्यादा बेड पर मरीज भर्ती हैं. 100 टन ऑक्सीजन रोज की जरूरत है, लेकिन 80 टन ही सप्लाई हो पा रही है.

और पढ़ें