जयपुर VIDEO: जयपुर और जोधपुर वासियों के लिए अच्छी खबर, गहलोत सरकार ने पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू की ‘ई मित्र एट होम’ योजना, देखिये ये ख़ास रिपोर्ट

VIDEO: जयपुर और जोधपुर वासियों के लिए अच्छी खबर, गहलोत सरकार ने पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू की ‘ई मित्र एट होम’ योजना, देखिये ये ख़ास रिपोर्ट

जयपुर: जयपुर और जोधपुर वासियों के लिए अच्छी खबर है. अब 40 से ज्यादा सेवाएं लेकर अब ई-मित्र आपके घर पहुंचेगा. घर बैठे जन्म-मृत्यु से लेकर मैरिज सर्टिफिकेट और ई- मित्र से जुड़े अन्य काम कराए जा सकेंगे. इसके लिए 73 रुपये शुल्क देना होगा. इसे लेकर राज्य सरकार ने प्रदेश में ई-मित्र एट होम (डोर स्टेप डिलीवरी) सेवा शुरू की है.

यदि आपको घर बैठे जन्म-मृत्यु, मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना हो तो सिर्फ टोल फ्री नम्बर 180018106127 पर कॉल करना होगा. फिर पास का ई-मित्र संचालक घर आएगा, जरूरी दस्तावेज अपलोड करेगा. अगले दिन कार्ड या संबंधित दस्तावेज तैयार कर घर देकर जाएगा. राज्य सरकार ने दिल्ली की तर्ज पर जोधपुर और जयपुर में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में ‘ई मित्र एट होम’ योजना शुरू की हैं. इसके लिए कंज्यूमर को 73 रुपये शुल्क देना होगा. योजना को लागू करने की जिम्मेदारी एक निजी कंपनी को सौंपी गई है. इस योजना के तहत जन्म, मृत्यु, जाति, मूल निवासी प्रमाण पत्र और विवाह पंजीकरण जैसे करीब 40 सेवाओं का कार्य घर बैठे आसानी से किए जा सकेंगे. कंपनी की तरफ से नियुक्त ई सहायक घर आकर सभी प्रक्रिया पूर्ण करेगा. इसके लिए आवेदनकर्ता अपनी पसंद से टाइम स्लॉट तय कर सकेगा. डीओआईटी आयुक्त संदेश नायक का कहना है कि पहले चरण में जयपुर और जोधपुर को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसकी सौगात दी हैं और इसका अच्छा रिस्पांस भी मिल रहा हैं. अभी तक करीब 586 लोगों ने इस सेवा की जानकारी ली है और 177 ने अपने-अपने काम के लिए स्लॉट बुक किए है. प्रदेश में 85 हजार ई-मित्र केंद्र 500 से ज्यादा सेवाएं दे रहे हैं. इनमें 25 हजार शहरी और 60 हजार ई-मित्र गांवों में हैं. ई मित्र के जरिए आधार, जनाधार से लेकर ट्रांजेक्शन, बैंकिंग, बर्थ, डेथ, मैरिज सर्टिफिकेट, बिल पेमेंट और अन्य कई काम होते हैं. नायक ने बताया की ई-सहायक द्वारा प्रार्थी से आवेदन फार्म भरने और आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करने के लिए पूर्ण सहायता की जाएगी. ई-सहायक को प्रदान की गई पॉश मशीन के माध्यम से आवेदन फार्म भरके, आवश्यक दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड किया जाएगा.

डीओआईटी के एसीपी रितेश शर्मा ने बताया कि ई मित्र एट होम सेवाएं प्राप्त करने के लिए प्रार्थी का टेाल फ्री नम्बर 180018106127 पर कॉल करना होगा. इसके बाद की सेवा लेने के लिए फोन की पेड से 1 दबाना होगा. 1 दबाने के बाद प्रार्थी को चयनित सेवा के लिए आवश्यक सूचना, दस्तावेज एवं आवेदन के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी प्रदान की जाएगी. इस सूचना एवं दस्तावेजों की उपलब्धता एवं पात्रता के होने पर प्रार्थी को रिक्त टाइम स्लॉट के बारे में जानकारी दी जाएगी. प्रार्थी के समयानुसार आवेदन का टाइम स्लॉट बुक कर दिया जाएगा. टाइम स्लॉट बुक होते ही प्रार्थी के पास मोबाइल पर एक वेरिफिकेशन कोड भेजा जायेगा, जिसे प्रार्थी द्वारा आवेदन के लिए घर आये ई-सहायक को बताना होगा, जिसके ई सहायक की पुष्टि हो सके. 

रजिस्ट्रर्ड कॉल को विभाग द्वारा चयनित ई सहायक को आवंटित की जाएगी. इसके बाद ई सहायक द्वारा तय समय से दो घंटे पूर्व प्रार्थी को कॉल करके उसके घर पर होने की पुष्टि करके ही प्रार्थी के घर जाएगा. प्रार्थी द्वारा घर पर नहीं होने पर प्रार्थी द्वारा पुनः टाइम स्लॉट में संशोधन के लिए आवेदन किया जाएगा. ई-सहायक को प्रार्थी द्वारा रजिस्ट्रड कॉल में बताए गए मोबाइल नम्बर से वेरीफिकेशन कोड बताया जाएगा, जो प्रार्थी द्वारा कॉल रजिस्टर करने पर उपलब्ध करवाया जाएगा. इससे प्रार्थी को पहचाना जा सके. संबंधित सेवा शुल्क की सेवाओं के लिए 50 रुपये है. ई सहायक द्वारा इसके लिए ई मित्र एट होम की रसीद दी जाएगी. ई मित्र कियोस्क की सहायता से ई सहायक द्वारा स्कैंनड दस्तावेजों को ई मित्र एट होम पोर्टल से ई मित्र पोर्टल अपलोड कर आवेदन किया जाएगा. आवेदित दस्तावेजों को वरियता के साथ संबंधित अधिकारी एसडीएम, तहसीलदार को फारवर्ड कर दिया जाएगा..संबंधित अधिकारी द्वारा उस आवेदन की जांच कर एप्रुव किया जाएगा. एप्रुव होने के बाद राज्य सरकार द्वारा निर्धारित शुल्क लेकर प्रिटेंड स्टेशनरी पर आवेदित प्रमाण पत्र ई-सहायक द्वारा प्रिंट कर प्रार्थी तक पहुंचाया जाएगा.
यह सुविधायें की गईं हैं ई मित्र में शामिल
अब जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र विवाह रजिस्ट्रेशन, 

जाति एवं मूल निवास प्रमाण पत्र के आवेदनों के अतिरिक्त राशन कार्ड संबंधी आवेदन

बिजनेस रजिस्टर, 

रोजगार विभाग

जन आधार संबंधी आवेदन

सूचना का अधिकार से संबंधी आवेदन,

पुलिस वेरीफिकेशन,

चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना EWS प्रमाण पत्र संबंधी कृषि विभाग संबंधी छात्रवृत्ति पालनहार, 

दिव्यांग प्रमाण पत्र, 

पेंशन संबंधी RTO विभाग से संबंधी, 

राजस्व विभाग की सीमाज्ञान संबंधी

श्रम विभाग संबंधी, नवीन विद्युत संबंध

दिल्ली की डोर-स्टेप सर्विस को देख राजस्थान में यह योजना लॉन्च की हैं. ई मित्र एट होम योजना के संबंध में प्रशासन के अधिकारी कंपनी के अधिकारियों के साथ बैठक कर चुके है. योजना के बारे में शहर में मुख्य स्थानों पर होर्डिंग भी लगवाए जाएंगे जिससे लोगों को ‘ई मित्र एट होम’ योजना के बारे में पूरी जानकारी मिल सके. 

....फर्स्ट इंडिया से शिवेंद्र परमार की रिपोर्ट
 

और पढ़ें