सैन जोस Google: कंपनी की पूर्व कर्मचारी ने नस्लीय भेदभाव के आरोप लगाते हुए मुकदमा किया दायर

Google: कंपनी की पूर्व कर्मचारी ने नस्लीय भेदभाव के आरोप लगाते हुए मुकदमा किया दायर

Google: कंपनी की पूर्व कर्मचारी ने नस्लीय भेदभाव के आरोप लगाते हुए मुकदमा किया दायर

सैन जोस: गूगल की एक पूर्व कर्मचारी ने प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी पर नस्लीय भेदभाव करने के लिए मुकदमा दायर करते हुए आरोप लगाया कि वह अपने अश्वेत कर्मचारियों के साथ अनुचित व्यवहार करती है.

मुकदमे में दावा किया गया है कि कंपनी अश्वेत कर्मचारियों को निचले स्तर की और कम वेतन वाली नौकरियां देती है और अगर वे इसके खिलाफ आवाज उठाते हैं, तो उनके लिए काम करना बेहद मुश्किल बना दिया जाता.

आवेदकों के खिलाफ गूगल के दोहरे मानदंडों में सुधार का आह्वान किया:

एप्रैल कर्ली को कंपनी के लिए अश्वेत कर्मचारियों की भर्ती करने के लिए 2014 में नौकरी पर रखा गया. उन्होंने सैन जोस में कैलिफोर्निया के नॉर्दन डिस्ट्रिक्ट के लिए यूएस डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में शुक्रवार को अपने मुकदमे में दावा किया कि उन्होंने कंपनी के खिलाफ आवाज उठानी शुरू की और अश्वेत कर्मचारियों तथा आवेदकों के खिलाफ गूगल के दोहरे मानदंडों में सुधार का आह्वान किया, जिसके बाद 2020 में उन्हें गैरकानूनी रूप से नौकरी से निकाल दिया गया.

गूगल के प्रतिनिधि से सोमवार को इस संबंध में सम्पर्क किया:

शिकायत में कहा गया कि अपने नस्लीय रूप से भेदभावपूर्ण ‘कॉरपोरेट कल्चर’ का अनुसरण करते हुए गूगल अपने अफ्रीकी अमेरिकी तथा अश्वेत कर्मचारियों के खिलाफ नस्लीय भेदभाव करता है. गूगल के प्रतिनिधि से सोमवार को इस संबंध में सम्पर्क किया गया, लेकिन उन्होंने इन आरोपों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. सोर्स-भाषा  

और पढ़ें