Live News »

VIDEO: भारतीय पर्यटकों पर सरकार का फोकस, नई सोच के साथ बनाई जा रही पर्यटन नीति

जयपुर: कोविड-19 के दौर में प्रदेश में पर्यटन ढांचे को दोबारा से मजबूत करने और पर्यटन गतिविधियों में तेजी लाने के लिए राज्य सरकार गंभीरता से प्रयास कर रही है. शुक्रवार को मुख्यमंत्री के निर्देश पर पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव आलोक गुप्ता ने नई पर्यटन नीति को लेकर बैठक ली और 'ईज ऑफ ट्रैवलिंग इन राजस्थान' थीम पर नई पर्यटन नीति के ड्राफ्ट पर चर्चा की. जल्द ही प्रदेश की नई पर्यटन नीति जारी की जाएगी. 

केरल विमान हादसा: रनवे पर फिसलने से दो हिस्सों में टूटा प्लेन, 17 लोगों की मौत  

पर्यटन के इन प्रारूप और क्षेत्रों पर रहेगा फोकस: 
- आईकॉनिक मॉन्यूमेंट्स एंड हेरिटेज एरिया 
- स्पेशल हेरिटेज विलेज, क्राफ्ट विलेज एक्सपीरियंशियल टूरिज्म 
- डेजर्ट टूरिज्म 
- एडवेंचर टूरिज्म 
- वाइल्डलाइफ एंड इको टूरिज्म 
- ट्रैवल टूरिज्म 
- कल्चरल टूरिज्म 
- क्राफ्ट एंड कुजीन टूरिज्म 
- माइस टूरिज्म 
- वीकेंड गेटवे टूरिज्म 
- रिलिजियस टूरिज्म 
- वेडिंग टूरिज्म टूरिज्म 
- रूट्स टूरिज्म 
- रूरल टूरिज्म 
- फिल्म टूरिज्म 

कोविड-19 के चलते देश और प्रदेश का पर्यटन ढांचा पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है. हालांकि अनलॉक वन के साथ ही देश और प्रदेश में पर्यटन गतिविधियां दोबारा शुरू की गई हैं. केंद्र ने भी पर्यटन ढांचे में सुधार के लिए पैकेज जारी किए हैं तो राज्य सरकार ने भी बेलआउट पैकेज के जरिए पर्यटन सेक्टर से जुड़े विभिन्न स्टेकहोल्डर्स को रियायतें दी हैं. नया पर्यटन सत्र सितंबर से शुरू होना है यानी अब नए पर्यटन सत्र की शुरुआत में 1 महीने से भी कम का समय बचा है. ऐसे में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 4 अगस्त को पर्यटन विभाग की समीक्षा बैठक ली और नई पर्यटन नीति जारी करने के निर्देश दिए. 

पर्यटन ढांचे का विकास सुनिश्चित किया जाए: 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पर्यटन ढांचे का विकास सुनिश्चित किया जाए और कोविड-19 के दौर में इस तरह से इमर्जिंग ट्रेंड्स को ध्यान में रखकर काम किया जाए ताकि विदेशी पर्यटकों के नहीं आने के बावजूद भी प्रदेश में पर्यटन उद्योग को मजबूती से खड़ा किया जा सके. गहलोत ने कहा था कि मेले एवं उत्सव हमारी सांस्कृतिक धरोहर हैं. ज्यादा से ज्यादा देशी एवं विदेशी पर्यटक इनसे जुड़ सकें इसके लिए इन्हें नया रूप दिया जाए. पुष्कर मेला, डेजर्ट फेस्टिवल, कुंभलगढ़, बूंदी उत्सव सहित अन्य मेलों एवं उत्सवों की नए सिरे से ब्रांडिंग की जाए. इनमें नई सोच के साथ ऐसी गतिविधियां को शामिल करें जिनसे पर्यटक आकर्षित हों.

धार्मिक स्थलों के विकास की रूपरेखा तैयार करें:
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान में बड़ी संख्या में प्राचीन एवं पुरामहत्व के धार्मिक स्थल हैं. अधिकारी धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से इन धार्मिक स्थलों के विकास की रूपरेखा तैयार करें. उन्होंने कहा कि भरतपुर के केवलादेव नेशनल पार्क में पानी की समस्या दूर करने के लिए स्थायी हल निकाला जाएं.  गहलोत ने यह भी कहा कि पर्यटन स्थलों पर लपकों की समस्या के कारण सैलानियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है और ठगी की शिकायतें भी सामने आती हैं. इस समस्या के समाधान के लिए प्रभावी कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा कि पर्यटन स्थलों पर साफ-सफाई का भी विशेष ध्यान रखा जाए. मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद आज पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव आलोक गुप्ता, अतिरिक्त निदेशक मनीष अरोड़ा, संजय पांडे, संयुक्त निदेशक आनंद त्रिपाठी, राजेश शर्मा व अन्य अधिकारियों ने पर्यटन नीति के प्रारूप पर चर्चा की. नई पर्यटन नीति में पर्यटन इकाइयों के भू रूपांतरण के मामलों में सिंगल विंडो सिस्टम शुरू करने, हेरिटेज इकाइयों को विभिन्न रियायत देने और पर्यटन के विभिन्न उत्पादों को एक बार फिर मुख्यधारा में लाने के लिए चर्चा की गई. 

Horoscope Today, 8 August 2020: शनिवार को आज इन राशि वालों के भाग्य में होगी वृद्धि 

पैलेस ऑन व्हील्स को छोटे मार्ग पर चलाने पर भी चर्चा की गई: 
पैलेस ऑन व्हील्स को छोटे मार्ग पर चलाने पर भी चर्चा की गई ताकि विदेशी पर्यटकों की अनुपस्थिति के बावजूद घरेलू पर्यटकों को कोविड-19 की गाइडलाइन के अनुरूप शाही ट्रेन में यात्रा करवाई जा सके. धार्मिक पर्यटन, ग्रामीण पर्यटन, वीकेंड पर्यटन, मेडिकल पर्यटन, एडवेंचर पर्यटन, डेजर्ट पर्यटन सहित पर्यटन की विभिन्न विधाओं की ओर घरेलू पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए भी समुचित प्रावधान पर्यटन नीति में किए जा रहे हैं. कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद पर्यटन ढांचे के विकास और नए पर्यटन सत्र में पर्यटन उद्योग को विभिन्न रियायतें और नई नीति के प्रावधानों के अनुरूप संबल देने के प्रयास किए जा रहे हैं. इससे उम्मीद जगी है कि नए पर्यटन सत्र में कोविड-19 से जूझ रहे पर्यटन उद्योग को ज्यादा नहीं तो कुछ संभल तो जरूर मिलेगा. 
 

और पढ़ें

Most Related Stories

अलवर में विवाहिता के साथ किया दुष्कर्म, पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार 

अलवर: प्रदेश के अलवर जिले से एक बार फिर शर्मसार करने वाली खबर सामने आई है. अलवर में विवाहिता के साथ बलात्कार किया गया है. ​महिला भांजे के साथ रिश्तेदारी से लौट रही थी. तभी आरोपियों ने महिला के साथ बलात्कार किया है. महिला ने तिजारा थाने में मुकदमा दर्ज करवाया है. 

{related}

5-6 युवकों ने भांजे को बनाया था बंधक:
इस मामले में पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 5-6 युवकों ने भांजे को बंधक बनाया था.आरोपियों ने महिला का अश्लील वीडियो भी बनाया है. दुष्कर्म का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. हालांकि फर्स्ट इंडिया वायरल वीडियो की पुष्टि  नहीं करता है. 
 

कोविड 19 संक्रमित मरीजों को लेकर राज्य सरकार का बड़ा फैसला, अब अस्पताल में भर्ती मरीज से मिल सकेंगे परिजन

कोविड 19 संक्रमित मरीजों को लेकर राज्य सरकार का बड़ा फैसला, अब अस्पताल में भर्ती मरीज से मिल सकेंगे परिजन

जयपुर: चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कोविड संक्रमित मरीजों को राहत देते हुए कोरोना से संक्रमित मरीजों के परिजनों को पीपीई किट व अन्य सुरक्षित साधनों के साथ मरीजों से मिलने व उन्हें भोजन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं. चिकित्सा विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोरा ने कोरोना से संक्रमित मरीजों के एकाकीपन व उसके कारण उत्पन्न तनाव को दृष्टिगत रखते हुए यह निर्देश जारी किए हैं.

तय प्रोटोकॉल के साथ मुलाकात का वक़्त रहेगा तय:
निर्देशों के अनुसार किया कोविड-19 से संक्रमित मरीज जो राजकीय/निजी चिकित्सालयों में उपचाररत हैं, उनसे उनके परिजनों/रिश्तेदारों को समस्त सुरक्षात्मक उपाय (यथा पीपीई किट, मास्क, दस्ताने, नियत दूरी आदि) अपनाते हुए अस्पताल द्वारा तय समय अवधि में मिलने दिया जाए. साथ ही यह भी निर्देशित किया जाता है कि मरीज के परिजन/रिश्तेदार यदि मरीज को घर का खाना देना चाहते हैं तो निर्धारित प्रॉटोकॉल के अनुसार दिया जा सकता है.

{related}

सुरक्षात्मक उपाय को करना होगा फॉलो:
साथ ही निर्देशित किया जाता है कि कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों में बैड क्षमता को देखते हुए, उपचार हेतु आने वाले मरीजों की सुविधा व आपात स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए पर्याप्त संख्या में व्हील चेयर/स्ट्रेचर एवं छोटे ऑक्सीजन सिलेण्डर हैल्प डेस्क पर उपलब्ध रखा जाना सुनिश्चित करें, जिससे आपात स्थिति में आवश्यकता होने पर मरीज़ को व्हील चेयर/स्ट्रेचर पर ही लो फ्लो ऑक्सीजन, सिलेण्डर के माध्यम से उपलब्ध करावें ताकि मरीज को आपातकालीन स्थिति में तत्काल राहत देते हुए मरीज की स्थिति को स्थिर किया जा सके. 

सोशल मीडिया पर पेपर आउट ऑडियो वायरल मामला: राज.अधीनस्थ बोर्ड अध्यक्ष ने कहा-हमारे पास अभी तक नहीं है इस तरह की कोई सूचना

 सोशल मीडिया पर पेपर आउट ऑडियो वायरल मामला: राज.अधीनस्थ बोर्ड अध्यक्ष ने कहा-हमारे पास अभी तक नहीं है इस तरह की कोई सूचना

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर पुस्तकालय अध्यक्ष ग्रेड थर्ड सीधी भर्ती-2018 परीक्षा पेपर आउट ऑडियो वायरल मामले पर राजस्थान अधीनस्थ बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कि हमारे पास अभी तक इस तरह की कोई सूचना नहीं है. अगर इस तरह का कोई मामला आया है, तो इस मामले की जांच करना पुलिस का काम है. हम कल भर्ती परीक्षा की तैयारियां पूरी कर चुके है. कल पूरी सावधानी के साथ परीक्षा करवाई जाएगी. 

पेपर आउट गिरोह सक्रिय होने की खबर आई थी सामने:
इससे पहले खबर सामने आई थी कि परीक्षा के एक दिन पहले पेपर आउट गिरोह सक्रिय हो गए है. जानकारी के मुताबिक सोशल मीडिया पर पेपर आउट करने का ऑडियो वायरल हो रहा है. जानकारी के मुताबिक परीक्षा से 5 घंटे पहले 13 लाख रुपए में पेपर देने की बात कही जा रही है. जयपुर और जोधपुर में पेपर आउट गिरोह सक्रिय हो रहे हेै. परीक्षा से पहले 3 लाख रुपए देने की बात हो रही है. तो वहीं अंतिम सिलेक्शन के बाद 10 लाख रुपए देने की बात हो रही है. दिसंबर 2019 में पहले भी पेपर आउट होने के चलते यह परीक्षा रद्द हुई थी. 

{related}

शनिवार को आयोजित होगी परीक्षा:
आपको बता दें कि पुस्तकालय अध्यक्ष ग्रेड थर्ड सीधी भर्ती परीक्षा-2018 शनिवार को आयोजित की जाएगी. यह परीक्षा प्रदेश के 23 जिलों में आयोजित होगी. सुबह 11 बजे से 2 बजे तक परीक्षा आयोजित होगी. 700 पदों पर करीब 90 हजार परीक्षार्थी परीक्षा में बैठेंगे. परीक्षा को लेकर कोरोना गाइड लाइन अनुसरण के निर्देश दिए गए है.बिना मास्क के किसी परीक्षार्थी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. परीक्षार्थियों की तापमान जांच और हाथ सैनिटाइज की व्यवस्था होगी.

जयपुर में 18047 परीक्षार्थी हैं पंजीकृत:
पुस्तकालय अध्यक्ष ग्रेड थर्ड सीधी भर्ती परीक्षा-2018 के लिए जयपुर में 18047 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं. जयपुर में 69 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा आयोजित होगी. परीक्षा के लिए 15 सतर्कता दल और 15 उप समन्वयकों की नियुक्ति की गई है.

नेहरू-गांधी को लेकर अनुराग ठाकुर ने की टिप्पणी, लोकसभा में कांग्रेस सांसदों ने किया जमकर हंगामा 

नेहरू-गांधी को लेकर अनुराग ठाकुर ने की टिप्पणी, लोकसभा में कांग्रेस सांसदों ने किया जमकर हंगामा 

नई दिल्‍ली: कोरोना संकट के बीच संसद के मॉनसून सत्र का आज पांचवां दिन है. आज लोकसभा में कांग्रेस सांसदों ने जमकर हंगामा किया. संसद में फाइनेशियल बिल पर चर्चा के दौरान सोनिया गांधी और गांधी परिवार का नाम लेने पर यह हंगामा हुआ. हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही आधे घंटे के लिए स्थगित कर दी गई. आपको बता दें कि भाजपा सांसद और वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा सोनिया गांधी और नेहरू-गांधी का नाम लिया गया तो कांग्रेस सांसदों ने लोकसभा में जमकर हंगामा किया.

अनुराग ठाकुर के इस बयान पर हुआ हंमामा:
अनुराग सिंह ठाकुर ने पीएम केयर्स फंड का बचाव करते हुए जवाहर लाल नेहरू और सोनिया गांधी पर टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि नेहरूजी ने फंड बनाया आज तक उसका रजिस्ट्रेशन नहीं कराया. आपने केवल एक परिवार गांधी परिवार के लिए ट्रस्ट बनाया. सोनिया गांधी को अध्यक्ष बनाया, इसकी जांच होनी चाहिए तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा.

{related}

तृणमूल सांसद ने लगाया स्‍पीकर पर आरोप: 
अनुराग ठाकुर की इस टिप्‍पणी का कांग्रेस सांसदों ने जमकर विरोध करते हुए हंगामा किया. हंगामे के बीच लोकसभा स्‍पीकर ओम बिरला को सदन की कार्यवाही चलाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. यह गरमाहट तब और बढ़ गई जब तृणमूल सांसद ने स्‍पीकर पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे भाजपा सांसदों का बचाव करते हैं. उन्‍होंने कहा-आप चाहे तो हमें निकाल दीजिए. यह नहीं चलेगा. हम नहीं चलने देंगे. आपको बता दें कि स्‍पीकर ने कहा था कि कोई अगर सुरक्षा से खिलवाड़ करने की कोशिश करेगा तो नाम लेकर सदन से बाहर जाने को भी कह सकता हूँ. मास्क लगा कर बोलिए.

PLAY STORE से हटाया गया PAYTM, गूगल ने लगाया आरोप, कहा-नियमों का किया उल्लंघन

 PLAY STORE से हटाया गया PAYTM, गूगल ने लगाया आरोप, कहा-नियमों का किया उल्लंघन

नई दिल्ली: भारत की डिजिटल पेमेंट ऐप पेटीएम (Paytm) को गूगल ने अपने प्ले स्टोर (Play Store) से हटा दिया है. कंपनी पर नियमों के उल्लंघन के आरोप लगे हैं. पेटीएम (Paytm) की तरफ से एक ट्वीट कर बताया गया है कि प्लेस्टोर (Play Store) पर फिलहाल यह एप कुछ समय के लिए उपलब्ध नहीं रहेगा. पेटीएम (Paytm) का Paytm First Games एप भी प्लेस्टोर से हटा दिया गया है.

पेटीएम ने किया ट्वीट:
पेटीएम (Paytm) ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर लिखा, 'डियर पेटीएमर्स, पेटीएम (Paytm) एंड्रॉयड एप नए डाउनलोड और अपडेट्स के लिए उपलब्ध नहीं है. हम जल्द ही वापस आएंगे. आपका पूरा पैसा सुरक्षित है और आप पेटीएम (Paytm) सामान्य तरीके से यूज कर पाएंगे.

एंड्रॉयड के लिए प्ले स्टोर से हटाया:
आपको बता दें कि पेटीएम (Paytm) की ओर से हाल ही में फैंटेसी क्रिकेट टूर्नामेंट शुरू किया था, जिसके बाद यह दोनों ही एप हटा दिए गए हैं. पेटीएम (Paytm) को एंड्रॉयड के लिए प्ले स्टोर (Play Store) से हटाया गया है, लेकिन यह iOS यूज़र्स के लिए Apple के App Store पर उपलब्ध रहेगा. वहीं, जिनके फोन में पहले से पेटीएम (Paytm) है, वो अपना एप और मोबाइल वॉलेट पहले की तरह यूज कर पाएंगे.

{related}

गूगल ने किया बयान जारी:
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक गूगल (Google) ने अपनी गैंबलिंग पॉलिसी को लेकर एक बयान जारी किया है. कंपनी ने अपने बयान में कहा है कि हम ऑनलाइन कसीनो या फिर किसी भी तरह के अनियमित गैंबलिंग एप जो स्पोर्ट्स में सट्टा लगाने की सुविधा देते हैं, को प्लेटफॉर्म पर रहने की अनुमति नहीं देते हैं. इसमें ऐसे ऐप्स भी शामिल हैं, जो यूजर्स को ऐसी बाहरी वेबसाइटों पर ले जाते हैं, जो उन्हें किसी पेड टूर्नामेंट में नकद पैसे या फिर कैश प्राइज़ जीतने के लिए भाग लेने को कहती हैं. यह हमारी पॉलिसीज का उल्लंघन है.साथ ही गूगल (Google) ने यह भी कहा है कि जब कोई एप इन नीतियों का उल्लंघन करता है, तो उसके डेवलपर को इस बारे में सूचित किया जाता है, और जब तक डेवलपर ऐप को नियमों के अनुरूप नहीं बनाता है, उसे तब तक गूगल प्ले स्टोर (Play Store) से हटा दिया जाता है.

VIDEO: RHUS में बैड क्षमता होगी दोगुनी! SMS मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ सुधीर भण्डारी से खास बातचीत

जयपुर: प्रदेश के सबसे बड़े कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल आरयूएचएस में जल्द ही बैड की क्षमता दोगुना तक बढ़ाई जाएगी.मरीजों की बढ़ती तादाता को देखते हुए गहलोत सरकार ने इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है.एक तरफ जहां आरयूएचएस में बैड क्षमता 800 से 900 करने के लिए प्रयास जारी है, वहीं दूसरी ओर कोरोना डेडिकेटेड जयपुरिया और ESI हॉस्पिटल  में भी सुविधाओं में विस्तार किया जा रहा है.एसएमएस मेडिकल कॉलेज को RUHS-जयपुरिया-ESI की सभी प्रशासनिक जिम्मेदारी मिलने के बाद प्राचार्य डॉ सुधीर भण्डारी से खास बातचीत की फर्स्ट इंडिया संवाददाता विकास शर्मा ने...

RHUS में हर मरीज को मिले ऑक्सीजन बैड और बेहतर इलाज
-SMS मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ सुधीर भण्डारी से खास बातचीत
-भण्डारी ने कहा, SMS ने टेकओवर किए है तीनों कोविड अस्पताल
-अनुभवी फैकल्टी मैम्बर्स की टीम को दी गई है वहां की जिम्मेदारी
-हमारी कोशिश रहेगी कि सभी मरीजों को अच्छे वातावरण में ट्रीटमेंट दें
-रिसेप्शन पर हर समस्या का समाधान हो, ये रहेगा हमारा फोकस
-यदि अस्पताल में नहीं होगा बैड तो दूसरी जगह करेंगे शिफ्ट
-लेकिन किसी भी मरीजों को उपचार के लिए नहीं किया जाएगा इनकार

{related}

पैटर्न ऑफ कोविड में आया बड़ा बदलाव
-SMS मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ सुधीर भण्डारी से खास बातचीत
-मार्च अप्रेल मई में कोरोना मरीजों में जो लक्षण आ रहे थे
-उनमें अब काफी बदलाव सामने आ रहा है
-कई मरीजों में क्लासिकल कोविड निमोनिया की स्थित बन रही है
-एक्सरे-सीटी में तो पेंच दिखते है,लेकिन कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आती है
-ऐसे मरीजों में शॉट ड्यूरेशन में भी लंग इफेक्ट हो रहे है
-भण्डारी ने आमजन से की अपील, लोग कोविड को गंभीरता से लें
जरा भी लक्षण दिखे तो जांच कराए, आईसोलेशन की पालना करें

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, स्मार्ट वर्कर होता है उद्यमी, युवाओं को स्वरोजगार के लिए करें प्रेरित

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, स्मार्ट वर्कर होता है उद्यमी, युवाओं को स्वरोजगार के लिए करें प्रेरित

जयपुर: राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय कोटा और शंकरा इंस्टीट्यूट के संयुक्त तत्वाधान में उद्यमिता विकास विषय पर दो दिवसीय फैकल्टी डवलपमेंट कार्यक्रम शुरू हुआ. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राज्यपाल कलराज मिश्र रहे. राज्यपाल ने कार्यक्रम को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए संबोधित किया. राज्यपाल ने कहा कि एक सफल उद्यमी हार्ड वर्क के साथ स्मार्ट वर्क करता है. वह नई सोच पर काम कर उसे सफल व्यवसाय में बदल देता है.

युवाओं को स्वरोजगार के लिए करें प्रेरित:
राज्यपाल ने विश्वविद्यालयों से आह्वान किया कि वे युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करें. युवाओं को आत्मनिर्भर भारत में भागीदार बनने के लिए उनमें आत्मविश्वास पैदा करें. आत्मनिर्भर भारत के लिए राज्य के तकनीकी विश्वविद्यालयों को बदली हुई परिस्थितियों में भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए उद्योग धंधों के विकास की रूपरेखा तैयार करनी होगी. राज्यपाल ने इस मौके पर संविधान की प्रस्तावना और कर्तव्यों का वाचन भी कराया. राज्यपाल ने कहा कि सफल उद्यमी में रिस्क लेने की क्षमता और दूर की सोच जैसे कई गुण होते हैं.

कोरोना महामारी के इस दौर में हमें देनी होगी लोकल को प्राथमिकता:
विश्वविद्यालय युवाओं के स्वरोजगार शुरू करने में उनके संशयों को दूर करें. बैंकों से लोन दिलाने और स्टार्टअप शुरू करने में विश्वविद्यालय सहयोग करें. कोरोना महामारी के इस दौर में हमें लोकल को प्राथमिकता देनी होगी. विश्वविद्यालयों द्वारा गोद लिए गए गांवों में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों की शुरुआत कराने के लिए विश्वविद्यालयों को प्रयास करने होंगे. 

{related}

इससे मिल सकेगा गांवों में ही युवाओं को रोजगार:
इससे गांवों में ही युवाओं को रोजगार मिल सकेगा. युवाओं को नौकरी के लिए भटकना नहीं पड़ेगा. हमें युवाओं को नौकरी देने वाला बनाना होगा. इस तरह की चर्चा आज पूरे विश्व में हो रही है. भारत में भी ऐसे वातावरण का निर्माण करने की रणनीति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बना दी है. हम सभी को इस रणनीति में भागीदार बनना होगा. समारोह को विश्वविद्यालय के कुलपति आरए गुप्ता ने भी संबोधित किया.

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

बीकानेर ACB टीम की नोहर में कार्रवाई, सहायक लेखाधिकारी सुरेन्द्र दायमा 5 हजार रुपए की रिश्वत लेते ट्रैप

बीकानेर ACB टीम की नोहर में कार्रवाई, सहायक लेखाधिकारी सुरेन्द्र दायमा 5 हजार रुपए की रिश्वत लेते ट्रैप

नोहर: गलत कटे चालान की राशि रिफंड करने की एवज में 5 हजार रुपए मांगने वाले नोहर जिला परिवहन अधिकारी कार्यालय के रिश्वतखोर बाबू को आज एसीबी ने धर दबोचा. इस रिश्वतखोर बाबू के दलाल को भी एसीबी की टीम ने पकड़ा है. तलाशी के दौरान रिश्वत की राशि 5 हजार रुपए दलाल की जेब से बरामद कर ली गई है.

कार्रवाई के बाद डीटीओ दफ्तर में मचा हड़कंप: 
आपको बता दें कि नोहर डीटीओ कार्यालय में लंबे समय से भ्रष्टाचार होने की शिकायत मिल रही थी. एसीबी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रजनीश पूनिया व निरीक्षक आनंद प्रकाश के नेतृत्व में हुई इस कार्रवाई के बाद डीटीओ दफ्तर में हड़कंप मच गया. एसीबी के एएसपी रजनीश पूनिया ने फर्स्ट इंडिया को बताया कि नोहर डीटीओ दफ्तर के बाहर ईमित्र संचालन करने वाले परिवादी से ट्रेक्टर के ऑन लाइन चालान की राशि 19 हजार 850 दो बार भर दी गई.

{related}

आरोपी ने की थी 5 हजार रुपए की मांग:
उक्त राशि को रिफंड करने की एवज में सहायक लेखाधिकारी सुरेंद्र दायमा 5 हजार की रिश्वत मांग रहा था. इस संबंध में परिवादी ने एसीबी को शिकायत की. इस पर एसीबी ने जाल बिछाते हुए बाबू सुरेन्द्र दायमा और दलाल रामकुमार को रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया. करवाई के दौरान आरोपी बाबू के नोहर स्थित घर की तलाशी भी ली गई. 

Open Covid-19