नई दिल्ली 5G Spectrum: सरकार को दूरसंचार कंपनियों से 5जी स्पेक्ट्रम के लिए अग्रिम भुगतान के रूप में मिले 17,876 करोड़ रुपये

5G Spectrum: सरकार को दूरसंचार कंपनियों से 5जी स्पेक्ट्रम के लिए अग्रिम भुगतान के रूप में मिले 17,876 करोड़ रुपये

5G Spectrum: सरकार को दूरसंचार कंपनियों से 5जी स्पेक्ट्रम के लिए अग्रिम भुगतान के रूप में मिले 17,876 करोड़ रुपये

नई दिल्ली: दूरसंचार विभाग (डीओटी) को 5जी स्पेक्ट्रम के अग्रिम भुगतान के रूप में नीलामी में सफल दूरसंचार कंपनियों से 17,876 करोड़ रुपये का अग्रिम भुगतान मिला है.

सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यह राशि भारती एयरटेल, रिलायंस जियो, अडाणी डेटा नेटवर्क्स और वोडाफोन-आइडिया से प्राप्त हुई है. सभी दूरसंचार कंपनियों ने 20 वर्ष की किस्तों में भुगतान करने का विकल्प चुना है. वहीं भारती एयरटेल ने चार वार्षिक किस्तों के बराबर 8,312.4 करोड़ रुपये की राशि का भुगतान किया है. रिलायंस जियो ने 7,864.78 करोड़ रुपये, वोडाफोन आइडिया ने 1,679.98 करोड़ रुपये और अडाणी डेटा नेटवर्क्स ने 18.94 करोड़ रुपये का भुगतान किया है.

सभी स्पेक्ट्रम का लगभग आधा हिस्सा हासिल किया:
आधिकारिक सूत्र ने कहा कि विभाग को कुल 17,876 करोड़ रुपये का भुगतान मिला है. केवल भारती एयरटेल ने एक बार में चार वार्षिक किस्तों के बराबर का भुगतान किया है. देश की अबतक की सबसे बड़ी दूरसंचार स्पेक्ट्रम की नीलामी में रिकॉर्ड 1.5 लाख करोड़ रुपये की बोलियां प्राप्त हुई थीं. इसमें उद्योगपति मुकेश अंबानी की जियो ने 87,946.93 करोड़ रुपये की बोली के साथ बेचे गयी सभी स्पेक्ट्रम का लगभग आधा हिस्सा हासिल किया है.

सार्वजनिक टेलीफोन सेवाओं के लिए नहीं किया जाता:
भारत के सबसे धनी व्यक्ति गौतम अडाणी के समूह ने 400 मेगाहर्ट्ज के लिए 211.86 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी. इसका इस्तेमाल हालांकि, सार्वजनिक टेलीफोन सेवाओं के लिए नहीं किया जाता है. वहीं, दूरसंचार क्षेत्र के दिग्गज सुनील भारती मित्तल की भारती एयरटेल ने 43,039.63 करोड़ रुपये की सफल बोली लगाई है, जबकि वोडाफोन-आइडिया ने 18,786.25 करोड़ रुपये में स्पेक्ट्रम खरीदा है. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें