नई दिल्ली गणतंत्र दिवस समारोह को लेकर सरकार की चेतावनी, वरिष्ठ अधिकारियों का परेड में शामिल होना अनिवार्य, नहीं आए तो होगी कार्रवाई

गणतंत्र दिवस समारोह को लेकर सरकार की चेतावनी, वरिष्ठ अधिकारियों का परेड में शामिल होना अनिवार्य, नहीं आए तो होगी कार्रवाई

गणतंत्र दिवस समारोह को लेकर सरकार की चेतावनी, वरिष्ठ अधिकारियों का परेड में शामिल होना अनिवार्य, नहीं आए तो होगी कार्रवाई

नई दिल्ली: सरकार ने राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह में आमंत्रित किए गए अपने सभी अधिकारियों से कहा है कि उन्हें कार्यक्रम में अनिवार्य रूप से शामिल होना होगा और अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

नहीं पहुंचे तो होगी कार्रवाईः
केंद्र सरकार के सचिव स्तर के सभी अधिकारियों को भेजे गए संदेश में मंत्रिमंडल सचिव राजीव गौबा ने कहा है कि कोविड-19 महामारी की वजह से राजपथ पर आधिकारिक समारोह में सीटों की क्षमता घटाकर कुल सीटों की 25 प्रतिशत कर दी गई है. गौबा ने अपने पत्र में कहा है कि राजपथ पर होने वाला गणतंत्र दिवस समारोह 26 जनवरी को हर साल होनेवाला एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय समारोह है और इसके महत्व को देखते हुए उम्मीद की जाती है कि आमंत्रित किए गए सभी अधिकारी कार्यक्रम में शामिल हों.

कोविड-19 के कारण सीटों की क्षमता घटाकर की 25 प्रतिशतः
पत्र में कहा गया है कि कोविड-19 की वजह से सामाजिक दूरी संबंधी जरूरतों के मद्देनजर इस साल सीटों की क्षमता घटाकर कुल सीटों की 25 प्रतिशत कर दी गई है, इसलिए यह और भी महत्वपूर्ण हो जाता है कि आमंत्रित किए गए सभी अधिकारी अपने दायित्व के तहत समारोह में शामिल हों. इसमें कहा गया है कि आप राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह में आमंत्रित अपने मंत्रालय/विभाग के सभी अधिकारियों को कार्यक्रम में शामिल होने की उपयुक्त सलाह दे सकते हैं. आप उन्हें आगाह भी कर सकते हैं कि इस अवसर पर अनुपस्थित रहने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

इस बार गणतंत्र दिवस समारोह में नहीं होगा कोई विदेशी मुख्य अतिथिः
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद गणतंत्र दिवस पर सशस्त्र बलों, पुलिस, अर्धसैनिक बलों और अन्य से सलामी लेंगे. सशस्त्र बल परेड में विभिन्न टैंकों, मिसाइलों और अन्य उपकरणों का प्रदर्शन करेंगे. इस दौरान विभिन्न राज्यों की झांकियों और नृत्य से वहां की सांस्कृतिक छटा बिखरेगी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, उनके मंत्रिमंडल सहयोगी, सांसद और अन्य हस्तियां इस अवसर पर मौजूद होंगी. इस बार के गणतंत्र दिवस समारोह में कोई मुख्य अतिथि नहीं होगा क्योंकि मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किए गए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपने देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर अपनी यात्रा रद्द कर दी है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें