जयपुर कोरोना से घबराए नहीं, सावधानी बरतें, राज्यपाल कलराज मिश्र ने की कोरोना की स्थिति की समीक्षा

कोरोना से घबराए नहीं, सावधानी बरतें, राज्यपाल कलराज मिश्र ने की कोरोना की स्थिति की समीक्षा

कोरोना से घबराए नहीं, सावधानी बरतें, राज्यपाल कलराज मिश्र ने की कोरोना की स्थिति की समीक्षा

जयपुर: दुनिया की मौजूदा महामारी कोरोना को लेकर सीएम गहलोत के साथ ही पूरी सरकारी मशीनरी अलर्ट मोड पर है. राजस्थान में तीन पॉजिटिव केस सामने आने के बाद आज राज्यपाल कलराज मिश्र ने भी पूरे मामले की समीक्षा की. राजभवन में आयोजित बैठक में मिश्र ने आमजन से भी अपील की कि वे कोरोना से घबराए नहीं, सावधानी बरतें. बैठक में मिश्र ने अधिकारियों से अब तक की तैयारियों का फीडबैक लिया, साथ ही कहा कि लोगों को जागरूक किया जाए. 

हाथ ना मिलायें, नमस्ते करें:
कोरोना से घबरायें नहीं, सावधानी बरतें, हाथ ना मिलायें, नमस्ते करें. इसके साथ ही जुकाम, खांसी की स्थिति में तत्काल राजकीय चिकित्सालय को सूचित करें. मिश्र ने ये भी कहा कि ऐसे प्रयास हो कि एक स्थान पर अधिक भीड़ न हो. बैठक में राज्यपाल मिश्र ने कहा कि जिस तरीके से राज्य सरकार व मेडिकल टीम द्वारा कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए प्रभावी व्यवस्था की जा रही है, उसी प्रकार इस कार्य की नियमित रूप से मॉनिटरिंग की जाने की जरूरत है.

कोरोना पर राजस्थान के काम की देशभर में वाहवाही, चिकित्सकों की मॉनिटरिंग-दवा कॉम्बिनेशन से भी ये संभव

राज्यपाल ने कहा कि इस कार्य में प्रदेश के प्रत्येक व्यक्ति की सक्रिय भागीदारी की आवश्यकता है. उन्होंने विश्वास जताया कि यदि सावधानी बरती गई तो निश्चित रूप से राजस्थान कोरोना वायरस को मात दे देगा. राज्यपाल ने निरोग राजस्थान के संकल्प के साथ राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए किए जा रहे प्रयासों को प्रभावी रूप से लगातार जारी रखने के लिए कहा है.

जागरूकता लाने के लिए किए जाएंगे प्रयास:
राज्यपाल ने कहा कि विश्वविद्यालयों में भी कोरोना वायरस से बचाव के उपायों के कार्यक्रम चलाये जायें. आसपास के क्षेत्र के लोगों में जागरूकता लाने के लिए विश्वविद्यालयों द्वारा प्रयास किये जाये. राज्यपाल मिश्र ने कहा कि प्रत्येक जिले में आइसोलेशन वार्ड की पर्याप्त व्यवस्था को सुनिश्चित किया जाये और मेडिकल स्टाफ को किट उपलब्ध कराया जाना आवश्यक है. राज्यपाल ने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर संक्रमण न फैले, इसके लिए सेनेटाइजेशन कराया जावे. राज्यपाल मिश्र को मुख्य सचिव डी.बी.गुप्ता ने बताया कि राजस्थान में अब तक तीन व्यक्तियों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है जिनमें दो नागरिक विदेशी है. गुप्ता ने बताया कि प्रदेश में डिजास्टर मैनजमेन्ट एक्ट को प्रभावी रूप से लागू कराया जा रहा है. 

कोरोना वायरस के बचाव एवं रोकथाम का प्रशिक्षण:
बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव मेडिकल रोहित कुमार सिंह ने बताया कि राजस्थान में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने हेतु समस्त जिलो में कार्यरत आशा सहयोगिनी, एएनएम, जिला ब्लाॅक एवं सेक्टर स्तर के समस्त सुपरवाईजरी स्टाफ को कोरोना वायरस के बचाव एवं रोकथाम का प्रशिक्षण दिया जा रहा है. राज्य के समस्त राजकीय एवं निजी मेडिकल काॅलेज के तत्वाधान में रेपिड रेसपोन्स टीम का भी गठन कर दिया गया है.

बजट की अनुदान मांगों पर सीएम गहलोत ने दिया जवाब, नवीन कृषि उपज मंडियों समेत दी कई सौगात

यह टीम राज्य सरकार के साथ समन्वय करते हुए कोरोना वायरस के रोकथाम में सहयोग करेंगी. इसी क्रम में साउथ वेस्टर्न कमांड के मेजर जनरल को भी आर्मी एरिया में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु यथोचित व्यवस्था के निर्देश दे दिए गए है. बैठक में बैठक में सीएस डी.बी. गुप्ता, एसीएस(मेडिकल) रोहित कुमार सिंह, मेडिकल शिक्षा सचिव वैभव गैलारिया, राज्यपाल के सचिव सुबीर कुमार, प्रधान विशेषाधिकारी गोविन्दराम जायसवाल, RUHSवीसी डॉ.राजा बाबू पंवार, सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ.सुधीर भण्डारी मौजूद रहे.

और पढ़ें